बीवी के सामने पोल खुल जाती, इसलिए साले की फ्लाइट को कैंसल कराने के लिए दी फर्जी बम धमाके की सूचना

ADVERTISEMENT

Delhi : दिल्ली पुलिस ने आरोपी को किया अरेस्ट
Delhi : दिल्ली पुलिस ने आरोपी को किया अरेस्ट
social share
google news

दिल्ली से हिमांशु मिश्रा की रिपोर्ट

दिल्ली पुलिस ने एक ऐसे बांग्लादेशी नागरिक को गिरफ्तार किया है जिसने सिर्फ इसलिए फ्लाइट में बम की झूठी ई मेल की थी ताकि फ्लाइट रद्द हो जाए और उसका साला कोलकाता न पहुंच सके। आरोपी मोहम्मद नजरूल इस्लाम ने अपने साले से सिर्फ इसलिए नहीं मिलना चाहता था ताकि उसने जो झूठ बोलकर शादी की थी वो झूठ सामने न आ जाए। 

असल में 27 फरवरी को एयरपोर्ट सिक्योरिटी को एक ई मेल मिला था। ई मेल में लिखा था कि दिल्ली से कोलकाता आने वाली फ्लाइट में एक यात्री एक्सप्लोसिव के साथ चढ़ चुका है। ये ई मेल मिलते ही सिक्योरिटी सतर्क हो गई। इस तरह के ईमेल या कॉल के बाद एक स्टैंडर्ड प्रोसीजर होता है जिसे अपनाने के बाद ही फ्लाइट भेजी जाती है। इसलिए फ्लाइट के यात्रियों और उनके पूरे बैग की जांच की गई। पुलिस को भी जानकारी दी गई थी। पूरी जांच के बाद जब कॉल हॉक्स घोषित की गई तो फ्लाइट को जाने दिया गया और आईजीआई थाना पुलिस ने शिकायत पर एफआईआर दर्ज की और जांच शुरू की।

ADVERTISEMENT

 

जिनकी छूटी फ्लाइट, पहले उनकी हुई जांच

सबसे पहले पुलिस ने उन यात्रियों की सूची बनाई जिनकी फ्लाइट छूट गई थी। लेकिन पुलिस को यहां से कोई लीड नहीं मिली। इसके बाद पुलिस ने ईमेल को ट्रैक किया तो पता लगा की ये ई मेल कोलकाता के एक होटल के वाईफाई (wi fi) से भेजा गया है। जिसके बाद पुलिस की टीम तुरंत कोलकाता पहुंची। वहां जाकर पता लगा की वहां 40 कस्टमर रुके थे और सभी बांग्लादेशी नागरिक थे। इसके आगे पुलिस की जांच तब रुक गई जब इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर ने होटल मेहमानों द्वारा उनके इंटरनेट इस्तेमाल के डाटा को अलग कर पाने में असमर्थता जता दी।

ADVERTISEMENT

इसके बाद दिल्ली पुलिस ने तमाम 40 बांग्लादेशी नागरिकों की लिस्ट बनाई और सबको वेरीफाई करना शुरू किया, इसी दौरान दिल्ली पुलिस के हाथ सबसे बड़ी लीड तब लगी जब पुलिस को पता लगा कि इस दिल्ली कोलकाता फ्लाइट से अमरदीप नाम का एक शख्स कोलकाता पहुंच और फिर इस होटल में आकर उसने नजरुलइस्लाम नाम के एक बांग्लादेशी नागरिक से मुलाकात की थी। पुलिस के मुताबिक, नज़रुल इस्लाम उसे होटल में एक महीने से रुका हुआ था। इसके बाद पुलिस ने नज़रुल इस्लाम से पूछताछ की और उसके मोबाइल की जांच की तब पुलिस ने देखा कि उसके मोबाइल से सारा डाटा डिलीट किया जा चुका है।

ADVERTISEMENT

इसके बाद दिल्ली पुलिस ने कोलकाता साइबर टीम से मदद ली और नज़रुल इस्लाम के मोबाइल से डिलीटेड डाटा को रिट्रीव करवाया। फिर यह पता चला कि वह धमकी भरा झूठा मेल इसी मोबाइल फोन से किया गया था। यह साफ हो जाने के बाद पुलिस ने 29 साल के मोहम्मद नजरुल इस्लाम को जो बांग्लादेश का रहने वाला है उसको गिरफ्तार कर लिया।


पूछताछ में ये हुआ खुलासा

पूछताछ में नज़रुल इस्लाम ने कई चौंकाने वाले खुलासे किए। नज़रुल इस्लाम ने पुलिस को बताया कि फ्लाइट से उसका साला अमरदीप कुमार उससे मिलने आ रहा था और वह अमरदीप से नहीं मिलना चाहता था। उसे इस बात का अंदेशा था कि अमरदीप अगर उसे मिलेगा तो जो कुछ भी झूठ बोलकर उसने शादी की है वह सारा झूठ सामने आ जाएगा। इसलिए उसने बम का झूठा मेल किया ताकि फ्लाइट कैंसिल हो जाए और अमरदीप कोलकाता ना पहुंच सके।

नज़रुल इस्लाम ने बताया कि वह बांग्लादेश का रहने वाला है और उसने पंजाब की लवली यूनिवर्सिटी से 2017 में एयरलाइन टूरिज्म और हॉस्पिटैलिटी का कोर्स किया था। वहीं पर उसकी मुलाकात सोनिया नाम की एक क्रिश्चियन लड़की से हुई थी। कोर्स पूरा हो जाने के बाद नज़रुल इस्लाम बांग्लादेश वापस चला गया था। 2020 में सोशल मीडिया के जरिए नजरुल दोबारा सोनिया के संपर्क में आ गया। इस बार नजरुल ने सोनिया से झूठ बोलना शुरू किया उसने कहा कि वह अमेरिका से पीएचडी कर रहा है और उसे अमेरिका का वीजा भी मिल गया है। सोनिया नजरुल के फेक प्रोफाइल से प्रभावित हो गई, और दोनो ने 2023 में शादी कर ली।

शादी के बाद नजरुल की पत्नी उसे पर अमेरिका ले जाने के लिए दबाव बनाने लगी। लेकिन नजरुल हर वक्त कोई न कोई बहाना बनाकर बचता रहा। इसके बाद सोनिया को नजरुल पर शक हुआ और उसने अपने भाई अमरदीप को कोलकाता नजरुल का सच जानने के लिए ही भेजा था और जब नजरुल को लगा कि अमरदीप आ रहा है उसकी पोल खुल जाएगी तो उसने फ्लाइट में बम होने का झूठा मेल कर दिया। आगे पूछताछ में नजरुल ने बताया कि बांग्लादेश में उसे पर 50 लाख का कर्ज है और वह कर्जदारों से बचने के लिए भारत में छिप कर रहा था।

    यह भी पढ़ें...

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT