पहले नमस्ते फिर लूटपाट, 13 भाई-बहनों का भाई JD गिरफ्तार

ADVERTISEMENT

CrimeTak
social share
google news

Delhi: पहले नमस्ते करते, फिर लूटपाट। जी हां, दिल्ली पुलिस ने ऐसे ही एक गिरोह के मुखिया को पकड़ा है। गिरोह के सरगना का नाम जावेद उर्फ JD है। वो पिछले पांच सालों से लूटपाट की घटनाओं को अंजाम दे रहा था। ये गिरोह सुबह के वक्त सैर करने वालों को निशाना बनाता था। आरोपी जावेद पर पहले से ही जगतपुरी थाने में मकोका के तहत केस दर्ज है। वो पिछले पांच सालों से गिरफ्तारी से बच रहा था।

मॉर्निंग वॉक पर निकले लोगों को बनाता था निशाना

शाहदरा जिले के स्पेशल स्टाफ की पुलिस टीम पिछले कई दिनों से जावेद की लोकेशन ट्रेस करने की कोशिश कर रही थी। इसी बीच स्पेशल स्टाफ के अधिकारियों को उसके बारे में अहम जानकारी मिली। पुलिस को सूचना मिली कि कुख्यात नमस्ते गैंग का सरगना जावेद दिल्ली के मुस्तफाबाद में अपने घर आएगा। इस सूचना पर जावेद के घर के पास जाल बिछाया गया, जिस के बाद आरोपी जावेद को गिरफ्तार कर लिया गया। डीसीपी सुरेंद्र चौधरी के मुताबिक, पूछताछ के दौरान जावेद ने खुलासा किया कि उसने और उसके साथी लूटपाट की इस तरह की वारदात सुबह-सुबह ही अंजाम देते थे। 

आरोपी पर दर्ज है मकोका के तहत मामला

अपने शिकार को लूटने से पहले उनका अभिवादन करने के उनके अनूठे तरीके की वजह से गिरोह का नाम "नमस्ते गैंग" पड़ गया। जावेद ने 5वीं क्लास तक पढ़ाई की थी। वह दस भाइयों और चार बहनों वाले एक बड़े परिवार से आता है। डीसीपी के मुताबिक गिरोह की ये खासियत है कि वो लूट के लिये सुबह-सुबह का समय ही चुनता है क्योंकि इस वक्त आमतौर पर लूटपाट की घटनाएं कम होती हैं लिहाजा 'सरप्राइज एलिमेंट' के तहत लोगों को लूटना आसान हो जाता। साथ ही सुबह के वक्त ट्रैफिक कम होने की वजह से गिरोह के सदस्यों के लिये लूट के बाद निकल भागना आसान रहता था। जावेद पर 2018 में मकोका अधिनियम की धारा 3/4 के तहत मुकदमा दर्ज किया गया था। वो इस तरह से लूट के 14 मामलों में शामिल बताया जा रहा है।
 

    यह भी पढ़ें...

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT