'G20 प्रगति मैदान की तरफ गन व विस्फोटक से भरा ऑटो जा रहा' सूचना से हड़कंप, जांच में फर्जी, ऑटो ड्राइवर को आतंकी बना अरेस्ट कराना चाहता था आरोपी

ADVERTISEMENT

G20 delhi crime arrested
G20 delhi crime arrested
social share
google news

G20  Bomb Threat Post :  दिल्ली में आयोजित G20 समिट में बम की सूचना से हड़कंप मच गया. असल में सोशल मीडिया पर ये दावा किया गया कि एक ऑटो रिक्शा में बंदूक और विस्फोटक सामान को लादकर प्रगति मैदान की तरफ ले जाया जा रहा है. प्रगति मैदान वही जगह जहां पर G20 का शिखर सम्मेलन आयोजित किया गया है. इस सूचना का पता चलते ही दिल्ली पुलिस अलर्ट हो गई. पुलिस ने तुरंत जांच शुरू की तो ये बम की सूचना पूरी तरह से अफवाह निकली. इसके बाद पुलिस ने कार्रवाई करते हुए दिल्ली के भलस्वा डेयरी से आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया. 

"दिल्ली पुलिस"@CellDelhi @dcp_outernorth @DelhiPolice @dtptraffic yah auto driver #PragatiMaidan ki taraf Guns aur explosive Lekar ja raha hai
Vehicle no (DL1NCR0609) #G20Summit2023 #G20India2023 #G20India pic.twitter.com/DSocBiuSnq

— KULDEEP SAH (@Kuldeep__Sah) September 7, 2023 " target="_blank" rel="noopener noreferrer">

असल में एक शख्स ने ऑटो ड्राइवर से बदला लेने के लिए पिछले कई महीने से दिल्ली पुलिस को ट्वीट करके उसे अरेस्ट कराने के लिए पोस्ट करता था. लेकिन उसके पोस्ट पर कोई एक्शन नहीं हुआ तो उसी ने अपने ट्विटर हैंडल (अब एक्स हैंडल) से पोस्ट किया कि.. (ये ऑटो ड्राइवर प्रगति मैदान की तरफ गन और विस्फोटक लेकर जा रहा है, वाहन नंबर…) "दिल्ली पुलिस" @CellDelhi @dcp_outernorth @DelhiPolice @dtptraffic yah auto driver #PragatiMaidan ki taraf Guns aur explosive Lekar ja raha hai Vehicle no (DL1NCR0609) #G20Summit2023 #G20India2023 #G20India

ADVERTISEMENT

 

ऑटो की फोटो के आधार पर पुलिस ने ड्राइवर को घेरा

Delhi Police G20 Hoax call : डीसीपी आउटर नॉर्थ के आधिकारिक 'एक्स' हैंडल को शुक्रवार को किसी कुलदीप साह के हैंडल से एक पोस्ट पर टैग किया गया था. जिसमें कहा गया था कि "एक ऑटो-रिक्शा चालक बंदूकें और विस्फोटक के साथ प्रगति मैदान की ओर जा रहा था". इसके साथ एक फोटो भी अटैच की गई थी. इस पर एक पुलिस अधिकारी ने कहा, पोस्ट के साथ ऑटो भी अपलोड किया गया था. इस पोस्ट की संवेदनशीलता को देखते हुए पुलिस ने जांच की तो ऑटो एसएसएन पार्क निवासी गुरमीत सिंह (50) के नाम पर रजिस्टर्ड पाया गया. उस एड्रेस पर पुलिस पहुंची तो ऑटो चालक हरचरण सिंह (48) पाया गया. जिसने कहा कि वाहन उसके भाई के नाम पर रजिस्टर्ड है. वह इसका इस्तेमाल चांदनी चौक इलाके में कपड़े ले जाने के लिए कर रहा था. 

ऑटो पार्किंग विवाद में पड़ोसी ने दी थी बम की सूचना

Auto Bomb fake call G20 : लेकिन जब पुलिस ने बताया कि उसके ऑटो में बम और हथियार रखकर जी-20 में ले जाने की सूचना दी गई है. तब हरचरण समझ गया कि आखिर माजरा क्या है. तब उसने बताया कि जिस गली में वो रहता है उसी में कुलदीप साह नाम का शख्स रहता है. अक्सर वो उसके घर के पास में ही ऑटो खड़ा करता है. जिसे लेकर दोनों में कई बार विवाद हो चुका है. ऐसे में उसने आशंका जताई कि कहीं उसी ने तो ऐसी सूचना नहीं दी. इसके बाद पुलिस ने तुरंत पहले ऑटो की जांच की जिसमें हथियार रखे जाने की सूचना दी गई थी. पूरी तलाशी के बाद उसमें कोई संदिग्ध वस्तु नहीं मिली. इसके बाद पुलिस ने कुलदीप साह की जांच की. उस समय वो घर पर ही मौजूद था. 

ADVERTISEMENT

बम की सूचना देने वाले ने पुलिस को क्या बताया

Delhi G20 Threat : बम की सूचना देने वाले आरोपी कुलदीप साह से पूछताछ की गई तब उसने पूरी जानकारी दी. उसने कहा कि जब ऑटो चालक ने उसके घर के बाहर वाहन पार्क किया तो उसने अपने हैंडल @कुलदीप साह से 'एक्स' (पुराना ट्विटर) पर पोस्ट किया। पुलिस ने बताया कि उसने ऑटो चालक को कई बार अपना वाहन वहां खड़ा न करने की चेतावनी दी थी। पुलिस ने कहा कि जी20 शिखर सम्मेलन की सुरक्षा को लेकर झूठी अफवाह फैलाने वाले साह के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जा रही है। दिल्ली पुलिस ने एक्स पर लिखा, “#जी20समिट क्षेत्र में बम की धमकी की अफवाह पर त्वरित कार्रवाई करते हुए, #दिल्लीपुलिस की पी.एस. भलस्वा डेयरी टीम ने आरोपी का पता लगाया और उसे सार्वजनिक रूप से झूठी सूचना फैलाने के आरोप में गिरफ्तार कर लिया। कानूनी कार्रवाई की जा रही है।”

ADVERTISEMENT

पहले भी कुलदीप उसे आतंकी होने का कर चुका है दावा

Who is Kuldeep Sah G20 Bomb Threat : पुलिस की गिरफ्त में आया कुलदीप पहले भी ट्विटर पर कई बार ऐसा पोस्ट कर चुका है. उसने ऑटो ड्राइवर को सबक सिखाने के लिए कभी टेररिस्ट तो कभी बदमाश बताकर उसकी फोटो के साथ पोस्ट किया है. ये भी कहा है कि दिल्ली पुलिस इस आरोपी को गिरफ्तार नहीं करती है. इसलिए जब G20 पर दिल्ली पुलिस की सक्रियता को देखा तो उसने ये धमकी भरा और फर्जी सूचना फिर से ट्विटर पर पोस्ट कर दिया. जिसके बाद पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया.

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT

    यह भी पढ़ें...