दिल्ली में TOY GUN से लूट, हाथ में त्रिशूल के टैटू ने दिया सुराग, फिल्मी अंदाज में पकड़े गए लुटेरे

ADVERTISEMENT

जांच में जुटी पुलिस
जांच में जुटी पुलिस
social share
google news

Delhi Robbery Case: दक्षिणी दिल्ली के गोविंदपुरी इलाके में पुलिस ने मुख्य आरोपी समेत 4 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है. अपराधी जब भी अपराध करता है तो सोचता है कि शायद पुलिस उसे कभी पकड़ ही नहीं सकती. लेकिन कोई ना कोई सुराग ऐसे मिल ही जाते है. जिससे पुलिस उन तक पहुंच ही जाती है. आखिर इस गैंग तक दिल्ली पुलिस सिर्फ एक टैटू से पहुंच ही गई.

आरोपी के बाएं हाथ में था त्रिशुल का टैटू

दरअसल, दिल्ली में एक व्यक्ति ने एक दूसरे व्यक्ति की गर्लफ्रेंड की फोटो सोशल मीडिया पर अपलोड कर दी. जिसके बाद बदले की आग में नाराज प्रेमी ने दक्षिण-पूर्वी दिल्ली में एक इवेंट मैनेजमेंट फर्म के कार्यालय में डकैती की. घटना के दौरान उसने 'टॉय गन' का इस्तेमाल किया. पूरा मामला तब सामने आया जब पुलिस ने मुख्य आरोपी विपुल (36) का पता लगाया और उसके बाएं हाथ पर बने त्रिशूल टैटू के आधार पर उसे गिरफ्तार कर लिया. आरोपी उत्तर प्रदेश के मोदीनगर का निवासी है. अधिकारी ने कहा, 'बाद में गिरफ्तार किए गए विपुल के तीन सहयोगियों की पहचान जयवर्धन (36), विजय (34) और सुमित (30) के रूप में हुई है.' दरअसल, 26 अक्टूबर को गोविंदपुरी में एक इवेंट मैनेजमेंट फर्म के ऑफिस में घुसे और बता दे कि लूटपाट से पहले ऑफिस मालिक अपनी टीम के सदस्यों के साथ एक कार्यक्रम में शामिल होने के लिए उत्तराखंड जाने की तैयारी कर रहे थे.

नकली नंबर प्लेट, 70 हजार रुपये वसूल

अपनी शिकायत में, फर्म के मालिक ने कहा कि चार लोगों ने ऑफिस में एंट्री की और उनकी टीम की एक महिला सदस्य से एक मोबाइल फोन, 14,000 रुपये नकद और दो सोने  की अंगूठियां लूट लीं और उनकी पिटाई भी की. पुलिस ने कहा कि आरोपी ने पीड़ितों से और नकदी मांगी जिसके बाद शिकायतकर्ता ने अपनी पत्नी को फोन किया. इसके बाद दो आरोपी फरीदाबाद में शिकायतकर्ता के आवास पर गए और उसकी पत्नी से 70 हजार रुपये वसूल लिए. इसके बाद आरोपी मौके से फरार हो गए. इसके साथ ही पुलिस को पता चला कि आरोपियों ने वारदात को अंजाम देने के लिए नकली नंबर प्लेट वाली एक कार का इस्तेमाल किया था.

ADVERTISEMENT

टैटू के जरिए पकड़ा लुटेरा

इसके बाद पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज खंगालनी शुरू की. इसके जरिए वारदात में इस्तेमाल की गई कार की पहचान हो गई. डीसीपी देव ने कहा कि 'त्रिशूल' टैटू के जरिए बाद में विपुल की पहचान भी हो गई. वह महिपालपुर इलाके के एक होटल में रुका हुआ था. पुलिस ने दबिश देकर वहां से विपुल को पकड़ लिया. इसके बाद विपुल के अन्य सहयोगियों को भी गिरफ्तार कर लिया गया. पूछताछ के बाद अपराध में इस्तेमाल टॉय पिस्टल को भी पुलिस ने बरामद कर लिया.

Note : ये खबर क्राइम तक में internship कर रही निधी शर्मा ने लिखी हैं.

ADVERTISEMENT

    यह भी पढ़ें...

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT