नौकर को पीटा तो नौकर ने लिया खूनी बदला, सोते वक़्त मालिक और पाँच साल के बेटे का गला काट दिया

ADVERTISEMENT

Photo
Photo
social share
google news

DELHI DOUBLE MURDER: 21 अक्टूबर को दिल्ली के नबी करीम इलाके में डबल मर्डर से सनसनी फैल गई। जानकारी के मुताबिक ये डबल मर्डर की वारदात वुडलैंड होटल के नजदीक गली नंबर 6 में हुई। मृतक ढाबा मालिक का नाम अनुज और उनके बेटे का नाम रौनक था। दोनो के शव आज नबी करीम इलाके में उनके घर से मिले। घर के बाकी सदस्य कल रात द्वारका गए हुए थे। घर से एक नौकर गायब था। घर से कुछ कीमती सामान भी गायब था। 

ढाबा मालिक अनुज और बेटे रौनक की हत्या

जांच के दौरान पता चला कि नौकर सोनू और मृतक रेस्टोरेंट मालिक अनुज कुमार सिंह का मोबाइल फोन घटनास्थल से गायब है। सोनू के बारे में पूछताछ की गई लेकिन कोई फोटो नहीं मिल सका। शिकायतकर्ता ने बताया कि नौकर सोनू मोबाइल फोन का इस्तेमाल नहीं करता था।

रेस्टोरेंट के अंदर लगा सीसीटीवी भी गायब मिला। खुलासा हुआ है कि नौकर सोनू को सब्जी विक्रेता नरेश के माध्यम से नौकरी पर रखा गया था। नरेश का पता लगाया गया तो उसने बताया कि सोनू तीस हजारी कोर्ट परिसर में गगनदीप की चाय की दुकान पर काम करता था। गगनदीप की जांच की गई तो उसने नौकर सोनू की फोटो और पता उपलब्ध कराया। लेकिन आरोपी सोनू ने बिहार स्थित अपने पैतृक गांव का अधूरा पता दिया था।

ADVERTISEMENT

उन्होंने एक मोबाइल नंबर भी दिया. पंजाब में उसके रिश्तेदार का. स्पेशल विंग की टीम को आरोपी के चोरी हुए फोन की आखिरी लोकेशन मिल गई है. मृतक के फोन की आखिरी लोकेशन पंजाब में पाई गई जहां वह बंद था। फरार नौकर सोनू का पता लगाने के लिए स्पेशल विंग की एक टीम पंजाब भेजी गई। मृतक की पत्नी ने यह भी खुलासा किया कि कुछ दिन पहले उसके पति ने अपने नौकर सोनू को काउंटर से नकदी चोरी करते हुए पकड़ लिया था, इसलिए उसने सोनू की पिटाई की थी। 

पंजाब से गिरफ़्तार गुआ नौकर

स्पेशल विंग की टीम ने आरोपी सोनू की फोटो की मदद से लोकेशन बस स्टैंड, दुकानों और रेलवे स्टेशन के आसपास आरोपी व्यक्ति का पता लगाने का प्रयास किया। अंतत: टीम फिरोजपुर पंजाब में एक नाई की दुकान से आरोपी को पकड़ने में सफल रही। आरोपी को दिल्ली लाया गया और गहन पूछताछ की गई तो चौंकाने वाला खुलासा हुआ।

ADVERTISEMENT

आरोपी सोनू ने बताया कि 17 अक्तूबर को रेस्तरां के मालिक (मृतक) ने उसके पर्स से नकदी चोरी के प्रयास के संदेह में उसकी पिटाई की। 20/21 की दरम्यानी रात जब मृतक का परिवार घर से दूर था। मृतक ने आरोपी सोनू को बुलाया और दोबारा चोरी की बात पर उसकी पिटाई कर दी। जिसके बाद फिर अपने मालिक से बदला लेने के लिए आरोपी ने कहानी को हमेशा के लिए खत्म करने का फैसला किया और वह मृतक के बेडरूम में आया जहां मृतक और उसका बेटा सो रहे थे।

ADVERTISEMENT

पहले उसने मृतक के सिर पर दो बार डंडा से वार किया और फिर उसका गला रेत दिया। इतने में मृतक का बेटा उठ गया और जोर-जोर से चिल्लाने लगा और आरोपी को बालों से पकड़ लिया। लोगों द्वारा पकड़े जाने से घबराए आरोपी ने मृतक के बेटे का भी गला काट दिया और शव को दीवार और बिस्तर के बीच की जगह पर फेंक दिया। उसने टूटे हुए सीसीटीवी को कूड़ेदान में छिपा दिया। हत्या के बाद कपड़े बदले और घर की पहली मंजिल से नीचे कूदकर मौके से फरार हो गया।


पहली मंजिल पर पिता पुत्र की लाश

दरअसल पुलिस को दोपहर 2 बजकर 45 मिनट पर कॉल मिली थी कि गली नंबर 6 के पास दो लोगों की हत्या कर दी गई है। पुलिस टीम मौके पर पहुंची तो ये ढाबा दर से बंद था। ढाबे की पहली मंजिल पर जहां मालिक अनुज रहता था। कमरे में अनुज व उसका बेटा रौनक खून से लथपथ पड़े हुए थे और उनकी गर्दन पर काटे जाने के निशान थे। पुलिस के मुताबिक अनुज -35 वर्ष और रौनक की उम्र 08 वर्ष थी। 

घर से कुछ कीमती सामान भी गायब

इस परिवार में कुल 05 सदस्य थे यानी अनुज, उसकी पत्नी, दो नाबालिग बच्चे और अनुज की माँ साथ रहती थीं। अनुज की पत्नी अपनी सास और बेटी के साथ कल रात द्वारका गई थी और आज लौटने पर उन्हें ढाबा अंदर से बंद मिला। घटना के बाद पुलिस टीम ने क्राइम सीन पर फोरेंसिक व क्राइम टीम को बुलाया। डीसीपी ने डबल मर्डर के खुलासे के लिए पुलिस की कई टीमों बनाई थी। 



 

    यह भी पढ़ें...

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT