UP Crime: आठ महीने, 170 संदिग्ध और एक कत्ल का सनसनीखेज खुलासा

ADVERTISEMENT

CrimeTak
social share
google news

Kanpur Murder Case: यह सच है कि पुलिस अगर चाह जाए तो मुर्दा भी कब्र के अंदर से बोलने लगता है। ये कहावत कानपुर (Kanpur) पुलिस ने सच कर दिखाई है। जब आठ महीने बाद पुलिस ने वरिष्ठ वकील विश्वनाथ कपूर की पत्नी मधु कपूर की हत्या (Murder) और लूट (Robbery) के तीन आरोपियों (Accused) को आखिरकार गिरफ्तार (Arrest) कर लिया। इस दौरान पुलिस ने लगभग 170 लोगो से पूछताछ की जिनमे बड़े बड़े व्यापारियों से लेकर नौकर और ड्राइवर सब शामिल थे।

पुलिस ने मधु कपूर की हत्या करने वाले तीन लुटेरों को लूटे गए माल के साथ गिरफ्तार किया है। शहर के आलीशान कांकॉर्ड अपार्टमेंट में रहने वाली मधु कपूर की 14 फरवरी को उनके ही फ्लैट में बेरहमी से ह्त्या कर दी गई थी। इस दौरान हमलावरों ने उनकी नौकरानी सावित्री को बांधकर बाथरूम में बंद कर दिया था हत्यारे उनके घर से लाखो के जेवर लूट कर ले गए थे।

मधु कपूर कानपूर के बार एसोशिएशन के पूर्व अध्यक्ष रहे मशहूर अधिवक्ता विश्वनाथ कपूर की पत्नी थी इसलिए उनकी ह्त्या से शहर में चर्चा का विषय बना हुआ था। इसके बाद पुलिस ने जांच शुरू की लेकिन खुलासा न होने पर स्वरूप नगर थानेदार अजय कुमार सिंह को सस्पेंड भी कर दिया था। आखिर नए पुलिस कमिश्नर बीपी जोगदंड ने चार्ज सँभालते ही उसी इस्पेक्टर अजय सिंह और सर्विलांस प्रभारी सुखराम को नए सिरे से इसकी जांच का जिम्मा सौंपा था।

ADVERTISEMENT

इन दोनों जांच अधिकारियों ने उन लोगो की जानकारी ली जो उनके यहाँ से काम छोड़ चुके थे। पुलिस को जानकारी मिली की मधु की सहेली रोटरी क्लब की सदस्य रोली मेहरोत्रा का ड्राइवर विपिन घटना से कुछ दिन पहले ही नौकरी छोड़ कर गया था। पुलिस ने अब इसकी निगरानी के साथ साथ कॉल डिटेल निकाली तो अहम सुराग मिला।

पता चला कि घटना से दो दिन पहले तक विपिन अपने दो दोस्तों गौतम कुमार और संदीप से लगातार बात कर रहा था। वारदात के दिन उनकी लोकेशन भी घटना स्थल के पास पाई गई। बस इसके बाद पुलिस को इन आरोपियों तक पहुंचने में कोई ज्यादा परेशानी नहीं उठानी पड़ी। तीनो आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया गया। आरोपियों ने जहां लूट का माल भी बरामद कर लिया गया।

ADVERTISEMENT

    यह भी पढ़ें...

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT