'यूपी के सीएम योगी को बम से उड़ा दिया जाएगा', मचा हड़कंप, पुलिस ने शुरू की जांच

ADVERTISEMENT

CM Yogi
CM Yogi
social share
google news

आशीष श्रीवास्तव के साथ चिराग गोठी की रिपोर्ट

CM Yogi Threat: यूपी के CM Yogi को बम से उड़ा दिया जाएगा, जैसे ही फोन पर किसी अनजान शख्स ने ये सब बात पुलिस को कही, तुरंत हड़कंप मच गया। अब पुलिस मामले की तफ्तीश में जुट गई है। जांच जारी है। ये कॉल सुरक्षा मुख्यालय में तैनात पुलिसकर्मी के CUG नंबर पर आई। यह कॉल लखनऊ के पुलिस कंट्रोल रूम के सीयूजी नंबर पर आया था। यह कॉल शनिवार रात 10 बजकर 08 मिनट पर आया था।

इस मामले में रविवार को सेंट्रल जोन के महानगर कोतवाली में सुरक्षा मुख्यालय में तैनात हेड कॉन्स्टेबल उधम सिंह की शिकायत पर मुकदमा दर्ज किया गया है। इस कॉल को मुख्य आरक्षी ने उठाया था। कॉल करने वाले ने आरक्षी से कहा कि यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ को बम से उड़ा दिया जाएगा। जब मुख्य आरक्षी द्वारा पूछा गया कहां से बोल रहे हो? तो तत्काल फोन काट दिया गया।

ADVERTISEMENT

अधिकारी ने इसकी सूचना फौरन सीनियर अधिकारियों को दी, जिसके बाद हड़कंप मच गया। पुलिस और एजेंसियां पूरे मामले की छानबीन में जुट गई है। कई टीमें बनाई गई है। सर्विलांस सेल की मदद से धमकी देने वाले का मोबाइल ट्रेस किया जा रहा है।

ये कोई मर्तबा नहीं है, जब सीएम योगी को धमकी मिली हो। सीएम योगी को इससे पहले भी कई बार धमकियां मिल चुकी है।

ADVERTISEMENT

कई बार मिल चुकी है सीएम को धमकियां

ADVERTISEMENT

इसी साल 4 जनवरी को सोशल मीडिया पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के खिलाफ कथित तौर पर अभद्र भाषा का इस्तेमाल करने और उन्हें जान से मारने की धमकी देने का मामला सामने आया था। पुलिस ने FIR दर्ज की थी। अजीत यादव नामक युवक ने सोशल मीडिया मंच ‘एक्स’ पर जारी एक पोस्ट में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को जान से मारने की धमकी दी थी। पुलिस ने वायरल पोस्ट के खिलाफ संबंधित धाराओं के तहत रुद्रपुर पुलिस थाना में अजीत यादव के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की थी। युवक ने अपने पोस्ट में जमीन विवाद को लेकर जिले (देवरिया जिला)में दो अक्टूबर को हुई हिंसा का भी जिक्र किया था, जिसमें छह लोगों की जान चली गई थी।

पिछले साल अप्रैल महीने में भी उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को जान से मारने की धमकी मिली थी। अपराधी ने डायल 112 पर मैसेज कर सीएम योगी को जान से मारने की धमकी भेजी थी। इस मामले में पुलिस ने केस दर्ज कर लिया था। यूपी एटीएस समेत सभी एजेंसियों को इसकी सूचना दी गई थी।

एफआईआर के मुताबिक, सीएम योगी को 23 अप्रैल की रात 8:22 बजे यूपी-112 मुख्यालय में सोशल मीडिया की वाट्सएप डेस्क पर धमकी भरा मैसेज मिला था। ये मैसेज XXXXXX0148 नंबर से आया था। इस मैसेज में लिखा था, "Yogi cm ko mar duga jald hi." सीएम योगी को जान से मारने की धमकी मिलने के बाद जांच एजेंसियां अलर्ट हो गई थी।

योगी आदित्यनाथ को पहले भी जान से मारने की धमकी मिली थी, जिसके बाद लखनऊ की साइबर सेल ने राजस्थान के मेवात से सरफराज नाम के शख्स को किया गिरफ्तार किया था। इसने भी डायर 112 के व्हाट्सऐप पर धमकी भरा मैसेज भेजा था। इस मामले में लखनऊ के सुशांत गोल्फ सिटी थाने में 2 अगस्त को केस दर्ज किया गया था।

लखनऊ के आलमबाग इलाके में रहने वाले देवेंद्र तिवारी के घर पर एक बैग में धमकी भरी चिठी मिली थी, जिसमें मुख्यमंत्री योगी और देवेंद्र तिवारी को बम से उड़ाने की धमकी दी गई थी। देवेंद्र ने अवैध बूचड़खानों के खिलाफ कोर्ट में PIL दाखिल की हुई है, जिसको लेकर ये धमकी दी गई थी। देवेंद्र के घर पर मिली चिट्ठी में कहा गया है कि बाकी लोगों की गर्दन काटी है, तुम दोनों (सीएम योगी और देवेंद्र) को बम से उड़ाएंगे। 

    यह भी पढ़ें...

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT