'अरविंद जी घर पर थे, मैं चीख रही थी, लेकिन कोई बाहर नहीं आया', स्वाति मालिवाल की जुबानी मारपीट की पूरी कहानी

ADVERTISEMENT

CrimeTak
social share
google news

श्रेया भूषण के साथ चिराग गोठी की रिपोर्ट

Swati Maliwal ANI Interview: राज्यसभा सांसद स्वाति मालीवाल ने न्यूज एजेंसी ANI को दिये इंटरव्यू में अपने साथ हुई कथित मारपीट के मामले में सीधे दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल को ही कटघरे में खड़ा कर दिया। उन्होंने कहा कि वो इस मामले को लेकर किसी को भी क्लीन चिट नहीं दे सकतीं। स्वाति ने एक ओर अपने साथ हुई मारपीट के लिए बिभव को जिम्मेदार ठहराया तो दूसरी ओर सीएम केजरीवाल पर ही सवाल खडे़ कर दिए। इतना ही नहीं स्वाति ने सीसीटीवी फुटेज को लेकर खड़े हो रहे सवालों से लेकर राज्यसभा सीट के मुद्दे पर भी अपना पक्ष रखा।

'मेरे साथ मारपीट हो रही थी, कोई बाहर नहीं आया'

स्वाति ने कहा- 'बिभव ने उनके साथ मारपीट की, सीएम घर पर थे लेकिन उन्हें बचाने कोई बाहर नहीं आया। ये मारपीट बिभव ने खुद की या किसी के निर्देश पर, इसकी जांच होनी चाहिए। मैं किसी को क्लीन चिट नहीं दे रही हूं।' स्वाति ने कहा, 'मेरे दोस्तों को कहा जा रहा है कि मेरे पर्नसल वीडियोज लीक करें ताकि मेरा चरित्रहनन हो सके। ' बीजेपी में जाने के सवाल पर स्वाति मालीवाल ने कहा, 'जिस पार्टी में मैं इतने सालों से जुड़ी थी। उसने मेरे साथ धोखा किया तो मैं कैसे किसी दूसरी पार्टी पर इस समय विश्वास कर लूं।'

ADVERTISEMENT

सीसीटीवी फुटेज को लेकर क्या बोलीं स्वाति?

सीसीटीवी फुटेज में साफ नजर आ रहा था कि स्वाति को सुरक्षा कर्मी सीएम हाउस से बाहर ले कर जा रहे हैं। इस पर स्वाति ने कहा- 'जब मुझे चोट लगी तो मुझे एहसास नहीं हुआ। मैं जल्दबाजी और गुस्से में वहां से चली गई। लेकिन कुछ घंटों के बाद चोटों का एहसास हुआ। इसके बाद मैंने पुलिस को बयान दिया और तब कोर्ट गई। उस वक्त मैं तकलीफ में थी इसलिए लंगड़ा कर चल रही थी।'

'मैं इस्तीफा नहीं दूंगी'

उन्होंने कहा, 'अगर मुझसे प्यार से कहते तो मैं इस्तीफा दे देती लेकिन इन्होंने मुझे जिस तरह पीटा उसके बाद अब मैं इस्तीफा नहीं दूंगी।' स्वाति मालीवाल ने ये भी कहा- 'मुझे बताया गया कि इसी वजह से मेरा चरित्र हनन किया जा रहा है। विक्टिम शेमिंग की जा रही है। लेकिन मैं किसी भी सूरत में इस्तीफा नहीं दूंगी। मैं बहुत शिद्दत से काम करूंगी और एक आदर्श सांसद बनकर दिखाऊंगी।'

ADVERTISEMENT

'मुझे सीट छोड़ने के लिए नहीं कहा गया'

स्वाति ने कहा, 'पार्टी में मुझसे सिर्फ संजय सिंह ने बात की है क्योंकि मुझे ऐसा लगता है कि उनसे कहा गया था। बाकी पार्टी में सभी ने एक-दूसरे से बात की। बहुत लोगों ने मेरे करीबी दोस्तों को भी फोन किया लेकिन मुझसे सिर्फ संजय सिंह ने ही बात की।' स्वाति से पूछा गया कि पार्टी सूत्रों के मुताबिक आम आुदमी पार्टी से तीन लोगों को अपनी राज्यसभा सीट खाली करने को कहा गया। एक खुद स्वाति मालिवाल, दूसरे राघव चड्ढा और तीसरे हरभजन सिंह। ये बात कितनी सच है? इस पर स्वाति मालिवाल ने जवाब दिया- 'मैं अपना बता सकती हूं, मुझसे इस तरह की कोई बात नहीं हुई।'

ADVERTISEMENT

'बिभव ने पीटा'

स्वाति ने 13 मई को हुई घटना के बारे में विस्तार से बताया। उन्होंने कहा- 'मैं 13 मई की सुबह 9 बजे के आसपास अरविंद केजरीवाल से मिलने उनके आवास पर गई थी। मुझे वहां स्टाफ ने ड्रॉइंग रूम में बिठाया और बताया कि अरविंद जी घर पर हैं और वह मुझसे मिलने आ रहे हैं। इतने में उनके पीएस बिभव कुमार वहां पहुंच गये। मैंने उनसे पूछा कि क्या अरविंद जी आ रहे हैं? बस इतने में ही उन्होंने मुझ पर हाथ छोड़ दिया। बिभव ने मुझे जोर से 7-8 थप्पड़ मारे। जब मैंने उन्हें धक्का देने की कोशिश की तो उन्होंने मेरा पैर पकड़ लिया और मुझे घसीट कर गिरा दिया। इससे मेरा सिर सेंटर टेबल से टकरा गया। मैं नीचे गिर गई और इसके बाद उन्होंने मुझे लातों से मारना शुरू कर दिया। मैं जोर-जोर से चीखकर मदद मांग रही थी लेकिन कोई भी मेरी मदद के लिए आगे नहीं आया।'

    यह भी पढ़ें...

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT