क्या अब तिहाड़ जेल के पूर्व DGP संदीप गोयल और पूर्व मंत्री सत्येंद्र जैन के खिलाफ होगा मुकदमा दर्ज? सीबीआई ने मांगी परमिशन

ADVERTISEMENT

CBI Latest
CBI Latest
social share
google news

मुनीष पांडे के साथ चिराग गोठी की रिपोर्ट

CBI Satyendar Jain :  सीबीआई ने तिहाड़ जेल के पूर्व डीजीपी निलंबित आईपीएस अधिकारी संदीप गोयल और पूर्व मंत्री सत्येंद्र जैन के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने की तैयारी कर रही है। इसको लेकर सीबीआई ने सबूत इकट्ठे कर लिए हैं। ऐसे में आरोपियों को गिरफ्तार भी किया जाएगा। आरोप है कि ये सभी लोग सुकेश चंद्रशेखर से उगाही कर रहे थे। अब आरोपियों ने कानूनी सलाह लेना भी शुरू कर दिया है। साथ-साथ अगर वो जेल जाते हैं तो उस स्थिति का आकलन करना भी शुरू कर दिया है।

 पूर्व डीजीपी निलंबित आईपीएस अधिकारी संदीप गोयल और आरोपी सुकेश चंद्रशेखर


इस बाबत सीबीआई ने दिल्ली के पूर्व मंत्री सत्येंद्र जैन, पूर्व डीजीपी संदीप गोयल और तिहाड़ अधिकारी रहे राज कुमार के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने का आग्रह दिल्ली के उपराज्यपाल से किया है। 

ADVERTISEMENT

 

दिल्ली के उपराज्यपाल से मांगी अनुमति, सीबीआई का आरोप - चलाया जा रहा था वसूली रैकेट

ADVERTISEMENT

जैन के खिलाफ आगे बढ़ने के लिए उपराज्यपाल वी.के. सक्सेना से अनिवार्य मंजूरी मांगते हुए केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) ने आरोप लगाया है कि तत्कालीन पुलिस महानिदेशक (जेल) संदीप गोयल और संबद्ध अधिकारियों, निजी व्यक्तियों और सहयोगियों की मिलीभगत से दिल्ली की जेलों में 'उच्चस्तरीय भ्रष्टाचार और वसूली रैकेट' चलाया जा रहा था।

ADVERTISEMENT

पूर्व मंत्री सत्येद्र जैन

सिंडिकेट के रूप में कर रहे थे काम

सीबीआई ने सक्सेना को लिखे अपने पत्र में कहा, ‘इन लोगों ने इसके लिए एक ‘सिंडिकेट’ के रूप में काम किया।’ इसमें कहा गया है कि उसके पास 'सूत्र से मिली जानकारी' है कि जैन ने 'जेल में बंद सुकेश चंद्रशेखर से 2018-21 के दौरान विभिन्न किश्तों में खुद या अपने साथियों के माध्यम से संरक्षण राशि के रूप में 10 करोड़ रुपये की कथित तौर पर उगाही की ', ताकि कथित ठग को जेल में आरामदायक जीवन उपलब्ध कराया जा सके।

तिहाड़ जेल अधिकारी रहे राज कुमार 

अधिकारियों ने लिए करीब 12 करोड़ रुपए?

सीबीआई के अनुसार, ‘गोयल और संबद्ध अधिकारियों ने जेल में बंद सुकेश चंद्रशेखर से 12.50 करोड़ रुपये की उगाही की। यह रकम उन्होंने 2019-22 के दौरान विभिन्न किश्तों में खुद या अपने सहयोगियों के माध्यम से संरक्षण राशि के रूप में प्राप्त की।’

एजेंसी ने आरोप लगाया कि गोयल और संबद्ध अधिकारियों ने 'जेल में बंद अन्य ‘हाई प्रोफाइल’ कैदियों से भी संरक्षण राशि के रूप में' वसूली की।

सीबीआई ने आरोप लगाया कि जैन, गोयल और कुमार ने लोकसेवकों के रूप में 'अपने आधिकारिक पदों का दुरुपयोग किया' तथा 'रकम के बदले' दिल्ली की जेलों में चंद्रशेखर और अन्य ‘हाई प्रोफाइल’ कैदियों को 'अनुचित लाभ पहुंचाया'।

क्या था पूरा मामला?

संदीप गोयल पर कई आरोप लगाए थे। संदीप गोयल के रहते ही तिहाड़ जेल में दिल्ली सरकार के मंत्री सतेंद्र जैन जेल में मसाज करवाते थे।

दरअसल, सुकेश के आरोपों की जांच के लिए LG ने एक जांच कमेटी बनाई थी। इस सिलसिले में जांच रिपोर्ट कुछ दिनों पहले LG को दी गई थी। करप्शन के आरोपों के बाद संदीप गोयल को सस्पेंड किया गया है। सुकेश ने संदीप गोयल को करोड़ों रुपए देने की बात भी कही थी।

उनकी जगह संजय बेनीवाल को नया डीजी बनाया गया था।

क्या आरोप थे संदीप गोयल पर?

संदीप गोयल पर आरोपी सुकेश चंद्रशेखर ने तमाम आरोप लगाए थे। उसने कहा था कि संदीप गोयल ने उससे करीब 12 करोड़ रुपए लिए थे। संदीप गोयल 1989 बैच के अफसर हैं।

सुकेश की मदद करने के सिलसिले में तिहाड़ के 80 से ज्यादा अफसर जांच के घेरे में आए थे। संदीप गोयल पर जेल में सुकेश की मदद करने का आरोप लगा था।

संदीप गोयल के रहते ही सुकेश कांड, तिहाड़ में अपराधी अंकित गुर्जर की हत्या और मंत्री सत्येंद्र जैन मसाज कांड हुआ था।

क्या था गृह मंत्रालय का आदेश?

इस बाबत गृह मंत्रालय की तरफ से आदेश जारी हुआ था। जो आदेश इस बाबत जारी हुआ था, उसमें साफ लिखा है कि संदीप गोयल के खिलाफ विभागीय जांच चल रही है। लिहाजा उन्हें तत्काल प्रभाव से सस्पेंड किया जाता है। वो AGMUT कैडर (1989) बैच के आईपीएस अफसर थे।

INPUT - PTI

    यह भी पढ़ें...

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT