Bangladesh MP Murder: 'हनी ट्रैप' के जरिए सांसद को कोलकाता बुलवाया, मुंबई के पेशेवर कसाई से कटवा दिया!

ADVERTISEMENT

CrimeTak
social share
google news

Kolkata, West Bengal: बांग्लादेश की सत्ताधारी पार्टी आवामी लीग के सांसद अनवारुल अजीम की हत्या के सिलसिले में एक जबरदस्त और सनसनीखेज खुलासा आया। हत्या के इस केस में हनी ट्रैप का एंगल भी निकल कर सामने आ रहा है। ताजा अपडेट ये है कि इस मामले में कातिलों ने लाश के टुकड़े करने के लिए बाकायदा एक पेशेवर कसाई को हायर किया था जिसे पश्चिम बंगाल की पुलिस ने गिरफ्तार भी कर लिया। ये अब तक इस केस में पहली गिरफ्तारी है। 

मुंबई का कसाई गिरफ्तार

खुलासा है कि जिस कसाई को गिरफ्तार किया गया उसका नाम जिहाद हवलदार है और उसे इसी काम से खासतौर पर मुंबई से बुलवाया गया था। ये भी बात निकलकर सामने आ रही है कि इस हत्याकांड का मास्टरमाइंड अकतारुज्जमान है। पश्चिम बंगाल सीआईडी ने बांग्लादेश के सांसद की हत्या मामले में पहली गिरफ्तारी की है. सीआईडी सूत्रों का कहना है कि जिहाद हवलदार नाम के एक शख्स को पश्चिम बंगाल सीआईडी ने गिरफ्तार किया है. जिहाद पेशेवर कसाई है. उसे हत्या के मास्टरमांइड अकतारुज्जमान ने इस काम को अंजाम देने के लिए विशेष रूप से मुंबई से बुलाया था.

बचपन का दोस्त और हनी ट्रैप

बांग्लादेश के सांसद अनवारुल अजीम की कोलकाता में हत्या से हड़कंप मच गया था। भारत और बांग्लादेश दोनों देशों की पुलिस इस हत्या की गुत्थी सुलझाने में जुटी हुई हैं। लेकिन पुलिस का ये खुलासा चौंकाने वाला है कि सांसद की हत्या में उनके बचपन के दोस्त शामिल है। मगर हत्याकांड का सबसे चौंकानेवाला पहलू हनी ट्रैप का है। बांग्लादेश के सांसद अनवारुल अजीम रविवार यानी 12 मई को कोलकाता पहुंचे। यहां वो अपनी किसी बीमारी के इलाज के सिलसिले में आए थे।

ADVERTISEMENT

प्राइवेट टूर पर सांसद

मतलब साफ था कि भारत में ये उनका एक प्राइवेट टूर था। वो कोलकाता के बड़ानगर इलाके में रुके। अगले दिन यानी 13 मई की दोपहर को वो डॉक्टर से अप्वाइंटमेंट लेने की बात कह कर अपने एक जानकार के मकान से बाहर निकले। वो भारत में अपने जाननेवालों को ये बता गए कि रात तक घर वापस लौट आएंगे। लेकिन इसके बाद ना तो अनवारुल अजीम वापस लौटे न ही उनकी कोई खबर।  मगर उसी रोज उनके मोबाइल से उनके जानकार गोपाल बिश्वास को एक वॉट्सऐप मैसेज आया। जिसमें ये बताया जाता है कि वो किसी जरूरी काम से अचानक दिल्ली जा रहे हैं, लिहाज़ा उन्हें फोन ना किया जाए। अब गोपाल चाह कर भी अनवारुल से संपर्क नहीं कर पाते है।

वॉट्सऐप मैसेज की गुत्थी

इसके दो दिन बाद यानी 15 मई की सुबह उनके मोबाइल से एक और मैसेज आया जिसमें लिखा था कि वो कोलकाता से दिल्ली पहुंच गए हैं और कुछ वीआईपी लोगों के साथ हैं इसलिए उनसे बात करने की कोशिश न की जाए। यानी इस रोज भी बिश्वास की अनवारुल अज़ीम से बात नहीं हो पाई। अनवारुल अजीम का यही मैसेज बांग्लादेश में उनके घरवालों को और पीए को भी मिलता है। इसके बाद 17 मई का दिन भी निकल जाता है लेकिन गोपाल बिश्वास से सांसद की बातचीत नहीं हो पाती। 

ADVERTISEMENT

रहस्यमयी गुमशुदगी

इसी रोज बांग्लादेश से उनकी बेटी कोलकाता में गोपाल बिश्वास को फोन पर बताती है कि उनकी अपने पिता से बात नहीं हो पा रही। तब बिश्वास 18 मई को सांसद की गुमशुदगी के सिलसिले में कोलकाता के ही न्यू टाउन पुलिस स्टेशन में एक रिपोर्ट दर्ज करवाते हैं।  जाहिर ये मामला जितना रहस्यमयी है उनता ही गंभीर भी, क्योंकि मामला एक सांसद की गुमशुदगी का है।  लेकिन इसके दो दिन बाद अनवारुल अजीम को लेकर एक ऐसी खबर आती है कि खुद पुलिस भी भौंचक्की रह गई। अनवारुल अज़ीम का क़त्ल कोलकाता के एक मकान में कर दिया गया है।

ADVERTISEMENT

कोलकाता पुलिस एक्शन में

इसके बाद कोलकाता पुलिस एक्शन में आ गई और उस किराए के फ्लैट की पहचान करने में कामयाब हो जाती है। कोलकाता के आलीशान संजीव गार्डन अपार्टमेंट में  ही सांसद को लाया जाता है और वहीं कत्ल करने की बात कही जा रही है। पुलिस को संजीव गार्डन के इस फ्लैट से खून के धब्बे धोये जाने के सबूत भी मिले हैं, साथ ही ब्लीचिंग पाउडर और दूसरे केमिकल भी पाए गए हैं, जिनका इस्तेमाल सबूत मिटाने के लिए किया गया था। लेकिन सांसद अनवारुल की हत्या मामले की जांच कर रही बंगाल पुलिस को शक है कि सांसद को हनीट्रैप का झांसा देकर कोलकाता बुलाया गया था।

महिला मित्र के जरिए डाला चारा

पुलिस ने बताया कि जांच से ऐसे संकेत मिले हैं कि बांग्लादेशी सांसद को हनीट्रैप के झांसे में फंसाया गया था। यह महिला मरने वाले सांसद के दोस्त की करीबी मित्र बताई जा रही है। सांसद अनवारुल को कोलकाता के फ्लैट में उसी महिला ने बुलाया था। पुलिस को शक है कि फ्लैट में जाने के बाद ही उनकी हत्या कर दी गई।  सीसीटीवी फुटेज में अनवारुल को एक पुरुष और महिला के साथ फ्लैट में जाते देखा जा सकता है। 

पांच करोड़ की सुपारी

इन दोनों शख्स को बाद में फ्लैट से बाहर आते और अगले दिन दोबारा फ्लैट में जाते देखा जा सकता है लेकिन सांसद को फ्लैट से कभी बाहर आते नहीं देखा गया। लेकिन ये दोनों आरोपी बड़े ट्रॉली सूटकेस लिए फ्लैट में दाखिल होते देखे जा सकते हैं पुलिस का कहना है कि ये एक सुनियोजित हत्या है। सांसद के एक पुराने दोस्त ने इस हत्या को अंजाम देने के लिए बहुत बड़ी रकम लगभग पांच करोड़ रुपये की सुपारी दी थी।

    यह भी पढ़ें...

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT