Atiq Guddu Muslim Update: अतीक की हत्या के बाद गुड्डू मुस्लिम ने अपना फोन क्यों On किया!

ADVERTISEMENT

Atiq Guddu Muslim Update: Why did Guddu Muslim turn on his phone after Atiq's murder!
Atiq Guddu Muslim Update: Why did Guddu Muslim turn on his phone after Atiq's murder!
social share
google news

Atiq Guddu Muslim Update: क्या अतीक के खास गुड्डू मुस्लिम ने धोखा दिया? 24 फरवरी को उमेश पाल की हत्या के बाद से ही गुड्डू मुस्लिम फरार था। उसका फोन बंद था, लेकिन अब बड़ा खुलासा हुआ है कि 15 अप्रैल को अतीक की हत्या के बाद गुड्डू मुस्लिम ने अपना फोन On किया था। गुड्डू मुस्लिम ने किसी को फोन कर हत्या की जानकारी ली। ये कॉल उनसे WhatsApp से की। इस बात की तस्दीक की कि अतीक की मौत हो गई है और जब उसे पक्की खबर मिल गई की अतीक और अशरफ की मौत हो गई तो फिर से गुड्डू मुस्लिम ने अपना फोन बंद कर लिया।

गुड्डू मुस्लिम को अभी तक पुलिस तलाश रही है। अतीक अहमद का खास शूटर गुड्डू मुस्लिम ही उसका सारा नेटवर्क संभालता था, लेकिन अभी तक उसकी कुछ भी अता-पता नहीं है। वो आईएसआई से मंगवाए गए हथियार पंजाब के रास्ते लाने में गुड्डू मुस्लिम ही मैनेज करता था।

गुड्डू मुस्लिम उमेश पाल हत्‍याकांड में पांच लाख का इनामी है। शूटआउट के बाद आखिरी बार वो मेरठ में अतीक की बहन आयशा नूरी के घर नजर आया था जहां आयशा के पति अखलाक ने गले लगाकर उसका स्वागत किया था। उमेश पाल मर्डर केस के वायरल सीसीटीवी फुटेज में गुड्डू मुस्लिम झोले से बम निकालकर फेंकता नजर आ रहा है।

ADVERTISEMENT

पुलिस सूत्रों की मानें तो गुड्डू बमबाज यूपी से सैकड़ों किलोमीटर दूर कर्नाटक पहुंच गया है। दरअसल जिस दिन अतीक और अशरफ का मर्डर हुआ उसी दिन से गुड्डू पर कयासबाजी तेज है क्योंकि हत्या से पहले अशरफ गुड्डू मुस्लिम के बारे में कुछ बताना चाह रहा था लेकिन उससे पहले ही उसका मर्डर हो गया।

अटकलें हैं कि अतीक और अशरफ को ये शक हो गया था कि गुड्डू मुस्लिम उनके खिलाफ मुखबिरी कर रहा था। उन्हें लगता था कि इसी वजह से असद और गुलाम का एनकाउंटर हुआ।

ADVERTISEMENT

अतीक और अशरफ को ये डर लगातार सता रहा था कि गुड्डू मुस्लिम कहीं पकड़ ना लिया जाए। एसटीएफ को ये बात अतीक और अशरफ के रिमांड के दौरान पता चली। गुड्डू मुस्लिम प्रयागराज शूटआउट के अगले ही दिन अपने पांच साथियों को लेकर झांसी में सतीश पांडेय के घर पांच दिन रुका था। कुछ दिनों बाद वो दोबारा झांसी पहुंचा था। दो-दो बार झांसी जाने के बावजूद गुड्डू मुस्लिम बच गया, लेकिन झांसी में ही अतीक के बेटे असद और शूटर गुलाम का एनकाउंटर हो गया। 

ADVERTISEMENT

    यह भी पढ़ें...

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT