Atiq Case: गुड्डू मुस्लिम की उड़ीसा में मिली लास्ट लोकेशन, मौके पर SIT पहुंची

ADVERTISEMENT

 Atiq Case: Guddu Muslim's last location found in Odisha, SIT reached the spot
Atiq Case: Guddu Muslim's last location found in Odisha, SIT reached the spot
social share
google news

Atiq Case: गुड्डू मुस्लिम की उड़ीसा में लास्ट लोकेशन ट्रेस हुई है। इसी दौरान असद और गुलाम का एनकाउंटर हुआ और गुड्डू पूरी तरह अंडरग्राउंड हो गया। असद के एनकाउंटर के बाद गुड्डू मुस्लिम और ज्यादा एहतियात बरत रहा है। अब STF को गुड्डू का कोई फूट प्रिंट नहीं मिल रहा है। STF की कई टीम गुड्डू की तलाश में रेड कर रही है। उधर, पुलिस ने आरोपी लवलेश के तीन साथियों को पकड़ा है।

उधर, अतीक हत्याकांड की जांच तेज हो गई है।  SIT टीम ने आज मौके पर पहुंची। SIT टीम के साथ फोरेंसिक टीम भी मौजूद थी । SIT टीम पोस्टमार्टम रिपोर्ट और क्राइम सीन चार्ट को लेकर वारदात की समीक्षा कर रही है।

अतीक के शूटर्स से पूछताछ में कई खुलासे हुए हैं। आरोपी लवलेश ने खुद को कट्टर हिंदूवादी बताया है। लवलेश तिवारी ने खुद को कट्टर हिंदूवादी और परशुराम का वंशज बताया। शूटर सनी ने कहा - मेरा कोई आका नहीं है। तीनों आरोपियों से पूछताछ चल रही है। आरोपी सनी ने गैंगस्टर सुंदर भाटी से संपर्क की बात मानी है। साथ में कहा, 'मैं खुद ही डान हूं।' तीनों आरोपियों ने कहा - हत्या कर पैसा, नाम कमाना चाहते थे। तीनों से अलग-अलग और जरूरत के हिसाब से साथ बैठा कर पूछताछ चल रही है।

ADVERTISEMENT

अभी आरोपी चार दिनों के लिए रिमांड पर है। पुलिस ये जानना चाह रही है कि किसके इशारे में वो लोग काम कर रहे थे?

पहले था मारने का प्लान, लेकिन ऐसा बदला प्लान!

ADVERTISEMENT

पूछताछ में तीनों शूटरों ने बताया कि उन्होंने 14 अप्रैल को अतीक को मारने की कोशिश की थी, लेकिन सुरक्षा घेरा देखकर उन लोगों ने प्लान बदल लिया था।

ADVERTISEMENT

एक गैंगस्टर ने दिया था हथियार - सनी

सूत्रों ने कहा कि सनी ने पुलिस को यह भी बताया कि अगली शाम शहर के एक अस्पताल के बाहर हथकड़ी लगे भाइयों को मारने वाला हथियार उसे एक गैंगस्टर ने दिया था, जिसकी दिसंबर 2021 में दिल्ली में हत्या हो गई थी। सनी उस गैंगस्टर से उसी साल मई में मिला था। सूत्रों की माने तो यह हो सकता है कि सनी उसके के लिए काम कर रहा होगा और उस गैंगस्टर की मौत के बाद किसी और के लिए काम करने लगा होगा। पुलिस का मानना है कि सनी ने अतीक की हत्या के लिए लवलेश तिवारी, जिनसे वह पहली बार जेल में मिला था, और अरुण मौर्य को शामिल किया था।  

शूटर सनी ने कहा - मेरा कोई आका नहीं है। आरोपी सनी ने गैंगस्टर सुंदर भाटी से संपर्क की बात मानी है। साथ में कहा, 'मैं खुद ही डान हूं।' तीनों आरोपियों ने कहा - हत्या कर पैसा, नाम कमाना चाहते थे। हमीरपुर जेल में बंद रहने के दौरान सनी सुंदर भाटी के संपर्क में आया था लेकिन जेल बदलने के बाद फिर कभी संपर्क नहीं हुआ।

होगा नारर्को टेस्ट?

पुलिस सूत्रों का कहना है कि एक बार जब उनका पुलिस रिमांड खत्म हो जाएगा तो अब तक के बयानों की सत्यता की पुष्टि करने के लिए तीनों का नार्को विश्लेषण भी हो सकता है। तीनों से अलग-अलग उनकी जिंदगी, परिवार, आदत, शौक के बारे में पूछताछ की गई। लवलेश सोशल मीडिया के जरिए खुद को फेमस करने की कोशिश में भी लगा था। तीनों में से सनी सिंह ज्यादा अपराधिक प्रवृत्ति और महत्वकांक्षी नजर आ रहा है।

अरुण ने कहा - जीगाना हथियार दोस्त ने दी थी

पुलिस ने अरुण मौर्य से पूछा कि जीगाना जैसे खतरनाक और कीमती पिस्टल किस दोस्त ने दी थी तो जवाब था कि वह नहीं जानता था कि यह इतनी कीमती पिस्टल है। वह तो इसे अच्छा असलहा भर समझ रहा था जिससे कोई बचेगा नहीं। अरुण का कहना है कि उसने पानीपत में एक दोस्त से हथियार लिया था। 

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT

    यह भी पढ़ें...