SIT स्कैन कर रही है अतीक के तीनों हत्यारो के फोन कॉल

ADVERTISEMENT

Social Media
Social Media
social share
google news

Atiq Ahmed Shooters: अतीक और अशरफ (Atiq Murder) के हत्यारों के लिंक को मैप करने के लिए कॉल और यात्रा को स्कैन करने में लगी एस आई टी (SIT). जांच में खुलासा 13 अप्रैल को प्रयागराज आकर स्टेशन के पास लॉज में रुके थे हत्यारे. यूपी पुलिस हिरासत में गैंगस्टर से नेता बने अतीक अहमद और भाई अशरफ की हत्याओं की जांच कर रही एसआईटी 12 अप्रैल से 15 अप्रैल के बीच प्रयागराज (Prayagraj) में फ्लाइट और अन्य यात्रा के तरीकों से आने और जाने वालों की जांच कर रही है, जब दोनों को मार गिराया गया था. इसके दौरान प्रयागराज में किए गए सभी कॉल को भी स्कैन किया जा रहा है, विशेष रूप से शाहगंज (Shahganj) में जहां एक अस्पताल के बाहर हत्याएं हुईं थी. पिछले महीने हत्यारा लवलेश तिवारी, मोहित सिंह और अरुण मौर्य द्वारा किए गए कॉल पहले से ही जांच के दायरे में हैं. 

ATIQ MURDER | SOCIAL MEDIA

Atiq Ahmed Murder:पुलिस ने कहा कि इसका उद्देश्य ये पता लगाना है कि तीनों का शहर या देश के अन्य हिस्सों से कोई संबंध था या नहीं. ये पता लगाने का प्रयास किया जा रहा है कि तीनों ने 12 अप्रैल को राज्य-रोडवेज बस से प्रयागराज पहुंचने के बाद मोबाइल फोन का इस्तेमाल किया था या नहीं. सूत्रों ने कहा कि हमलावरों ने शुरू में दावा किया था कि वो अतीक के गिरोह को खत्म कर अपना नाम बनाना चाहते थे, अस्पताल परिसर का मुआयना किया और हत्याओं को अंजाम देने के लिए इसे "सबसे सुरक्षित" साइट पाया गया. आरोपियों ने जांच में बताया की उनका प्लान अतीक को तब मारने का था जब उसे कोर्ट में पेशे किया जाना था. लेकिन भारी पुलिस बल होने के कारण उन्होंने अगले दिन का प्लान बनाया. जब 14 को भी भारी फोर्स अतीक के साथ दिखी तो वो हत्या नहीं कर पाए और 15 को लौटे और हत्या को अंजाम दिया.

    यह भी पढ़ें...

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT