Asad Encounter: एनकाउंटर की FIR से उठे यूपीएसटीएफ पर सवाल?

ADVERTISEMENT

 Asad Encounter: एनकाउंटर की FIR से उठे यूपीएसटीएफ पर सवाल?
Asad Encounter: एनकाउंटर की FIR से उठे यूपीएसटीएफ पर सवाल?
social share
google news

Asad Encounter: असद और गुलाम के एनकाउंटर को लेकर पुलिस ने जो FIR दर्ज की है। उसमें कई चौंकाने वाले खुलासे सामने आए है, जिससे एनकाउंटर पर सवाल उठना लाजिमी है।

इस मामले की एफआईआर में साफ लिखा है कि सतीश पांडेय नाम के शख्स से यहां गुलाम झांसी में शुरुआत में रुका था। जब एसटीएफ को इसकी जानकारी मिली थी, उस वक्त वो फरार हो गया था। गुरुवार को मुखबिर ने जानकारी दी थी कि असद को यहां देखा गया है। तभी पुलिस टीम उसके पीछे लग गई थी। जैसे ही पुलिस टीम ने उनको लोकेट किया, तभी उन्होंने पुलिस पर फायरिंग कर दी। जवाबी कार्रवाई में असद और गुलाम ढेर हो गए। दोनों बाइक पर थे। पुलिस की दो गाड़ियों ने आमने-सामने इस बाइक को घेर लिया था। बाइक दोनों वाहनों के बीच में फंस गई थी, लेकिन यहां सवाल ये है कि जहां असद और गुलाम को ढेर किया गया, वो रोड एक तरफ से बंद है। ऐसे में सामने से कोई वाहन आने का कोई रास्ता ही नहीं है।

 

ADVERTISEMENT

उधर, असद और गुलाम का पोस्टमार्टम भी हो चुका है। अब देखना होगा कि शवों को अतीक और गुलाम के परिवार में से कौन-कौन लेने आता है। इस बीच अतीक पांच दिनों के लिए पुलिस रिमांड पर है। उमेश पाल हत्याकांड मामले में उससे लगातार पूछताछ हो रही है। उसके साथ साथ अशरफ भी पुलिस रिमांड पर है। इस मामले में अब तक पुलिस ने चार आरोपियों का एनकाउंटर कर दिया है, जब कि 5 अरेस्ट हो चुके है। ऐसे में अभी भी कुछ आरोपी फरार है, जिनमें अतीक की पत्नी शाइस्तां भी शामिल है।

 

ADVERTISEMENT

असद की बात करे तो उसकी कोई ऐसी लंबी-चौड़ी आपराधिक हिस्ट्री तो नहीं है, लेकिन वो पुलिस ने लिए सिरदर्द जरूर बन गया था। इसकी दो वजहें थी। एक तो उसकी हरकतें और दूसरा उसका रुतबा। पुलिस कर्मी भी उस पर हाथ डालने से पहले कई बार सोचते थे। असद ने लखनऊ के टॉप स्कूल से इसी साल 12वीं पास की थी। असद ने स्कूल से ही गुंडागर्दी की शुरुआत कर दी थी। एक प्रतियोगिता हारने पर उसने दूसरे पक्ष के लोगों को पीट दिया था। साथ साथ टीचरों के साथ भी बदसलूकी की थी। इसके साथ साथ 2017 में एक शादी समारोह में खुलेआम फायरिंग की थी। इसका वीडियो भी वायरल हुआ था। 
अब वो इस बार क्यों उमेश पाल की हत्या करने के लिए तैयार हो गया था? इसके बारे में पुलिस अधिकारी बताते हैं कि चूंकि उसके दो भाई जेल में थे, दो नाबालिग थे। इसी वजह से उसने उमेश पाल की हत्या का जिम्मा लिया था। हालांकि उसकी मां इसके लिए तैयार नहीं थी, लेकिन सूत्रों के मुताबिक अतीक ने उसे ऐसा करने के लिए कहा था। साथ साथ अतीक के कुछ रिश्तेदारों ने भी उसे ऐसा करने के लिए तैयार किया था। 

ADVERTISEMENT

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT

    यह भी पढ़ें...