आफताब ने दे दिये हैवानियत के पक्के सबूत, कोर्ट में हुआ सनसनीखेज़ खुलासा, पुलिस के ये हैं 11 अहम गवाह

ADVERTISEMENT

CrimeTak
social share
google news

Shraddha Murder Case: दिल्ली पुलिस ने साकेत कोर्ट (Saket Court) में श्रद्धा मर्डर केस के लेकर जो सनसनीखेज खुलासा किया है, वे न सिर्फ हैरत में डालता है बल्कि इस केस को सस्पेंस (Suspense) के भंवर से निकालकर मिस्ट्री सॉल्व (Mystery Solve) करने के मुहाने तक पहुँचा देता है।

असल में दिल्ली पुलिस ने आफताब की चार दिनों की रिमांड लेने के लिए जब कोर्ट में एक चिट्ठी दाखिल की तो अदालत ने पुलिस की दलील को मंजूर कर लिया। असल में ये दलील ऐसी थी जिसका खुलासा वाकई आरोपी आफताब की हैवानियत की हद का अंदाज़ा भी दे देता है। क्योंकि दिल्ली पुलिस के मुताबिक आफताब ने एक नोट बुक तैयार कर ली थी।

Shraddha Murder Update Case: और उस नोट बुक में श्रद्धा की लाश के टुकड़ों का सारा हिसाब किताब दर्ज करता था। इसी नोट में पुलिस ने पढ़ा है कि उसने लाश के टुकड़े किन किन जगहों पर ठिकाने लगे...शरीर के किस हिस्से को कहां ठिकाने लगाया, इसका सारा कच्चा चिट्ठा आफताब ने अपनी उसी कॉपी के पन्नों में दर्ज कर रखा था।

ADVERTISEMENT

पुलिस ने अदालत के सामने ये भी दावा किया है कि उसने उसी नोट बुक में दर्ज हिसाब किताब के मुताबिक कुछ और हड्डियां और जबड़े का हिस्सा उसी जगह से बरामद किया है जहां जहां का जिक्र उसने अपनी नोट बुक में कर रखा था। पुलिस ने लाश के जो भी टुकड़े अब तक बरामद किए उन्हें तो सीएफएसएल भेज दिए...जिसकी रिपोर्ट आने में वक्त लगेगा।

सबूतों को इकट्ठा करने के साथ साथ पुलिस अब आफताब के दिमाग में झांकने की तैयारी में है। इसके लिए पुलिस ने अब उन गवाहों की लिस्ट तैयार की है जिनकी गवाही इस केस को अदालत में मजबूत ज़मीन मुहैया करवा सकती है।

ADVERTISEMENT

श्रद्धा मर्डर केस और लिव इन पार्टनर

Shraddha Murder Case: पुलिस ने इस सिलसिले में अब तक 11 लोगों के नाम गवाहों के तौर पर दर्ज करे हैं। ये ज़्यादातर वो लोग हैं जो आफताब और श्रद्धा दोनों को अच्छी तरह से जानते हैं। हालांकि पुलिस के पास कुछ ऐसे गवाह भी हैं कि जो श्रद्धा और आफताब को नहीं जानते मगर इस केस से उनका गहरा ताल्लुक है।

ADVERTISEMENT

इसके अलावा पुलिस ने वो सीसीटीवी फुटेज भी हासिल करके इलेक्ट्रॉनिक सबूत के तौर पर इकट्ठा कर लिया है जिसमें आफताब नज़र आ रहा है। इके अलावा श्रद्धा और आफताब के मोबाइल का कॉर रेकर्ड भी पुलिस ने अपने सबूतों की सूची में रखा है। क्योंकि इस केस में फोन की लोकेशन एक अहम सबूत है।

    यह भी पढ़ें...

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT