चिता पर लाश देख बेटा बोला- ‘ये मेरी मां नहीं है’, एक क़त्ल और दो लाशों की अजीब कहानी

Shams ki jubani : कानपुर की ये घटना दिल दहलाने वाली है. पूरी कहानी देखिए.

Shams ki zubani story : एक सनसनीखेज हत्या. शुरुआत में ना कोई सबूत और ना ही लाश का पता. फिर अचानक एक लाश मिलती है. और फिर इसी लाश ने उस पूरे केस का सुराग दे दिया. दावा किया जाता है कि ये उसी महिला का शव है जो कुछ दिन पहले अचानक गायब हो गई थी. पुलिस तफ्तीश शुरू करती है. फॉरेंसिक सबूत जुटाती है. फिर केस का खुलासा हो जाता है.

इस खुलासे में ये सामने आता है कि वाकई जो महिला लापता हुई थी उसकी हत्या कर दी गई. ना सिर्फ उसकी हत्या हुई थी बल्कि चेहरे और शरीर को जलाने का भी प्रयास हुआ. ताकि उसकी पहचान को छुपाया जा सके. लेकिन घटना का पूरा खुलासा होने के बाद एक बार फिर से ये केस अधूरा रह जाता है.

दरअसल, जिस महिला के शव पर इस पूरी वारदात की गुत्थी सुलझाई जाती है हकीकत में वो शव उस महिला का था ही नहीं. वो किसी और महिला का शव था. अब सवाल फिर से कि आखिर वो लाश किसकी थी? अब पुलिस की जांच फिर से दो सवालों में उलझ गई है. पहला कि जिस महिला की लाश मिली थी वो किसकी है? और दूसरा ये कि उस लाश पर जिस केस का खुलासा हुआ उसमें लापता हुई महिला का शव अब कहां हैं?

<div class="paragraphs"><p>Crime News अंजना (फाइल फोटो)</p></div>

Crime News अंजना (फाइल फोटो)

कानपुर की घटना, 2008 में हुई थी लव मैरिज

UP Kanpur Crime News in hindi : ये घटना है उत्तर प्रदेश के कानपुर की. यहां के कौशलपुरी गुमटी इलाके में क्रॉकरी काराबोरी सुलभ उर्फ मोंटू का परिवार रहता है. इस परिवार में मोंटू की पत्नी 36 वर्षीय अंजना और दो बच्चे भी हैं. बड़ा बेटा अयान (11 साल) और छोटा बेटा नभ (5 साल) है. अंजना फेथफुलगंज की रहने वाली थी. साल 2008 में इनकी लव मैरिज हुई थी.

इसी बीच, अंजना अचानक 22 दिसंबर को लापता हो गई. इस बारे में जब उसके मायके वालों को पता चला तो अंजना की बहन बबली ने 23 दिसंबर को ही पुलिस थाने नजीरबाद में शिकायत की. उसी दौरान अंजना के पति सुलभ ने भी पत्नी की गुमशुदगी की कंप्लेंट की. चूंकि पति ने भी गुमशुदगी की रिपोर्ट की तो पुलिस ने मामले को नाराज होकर कहीं जाने की सोचकर हल्के में ले लिया.

हालांकि, अंजना की बहन बबली ने हत्या की आशंका जताई. पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की तो बबली ने एसीपी तक से शिकायत की. लेकिन पुलिस ने मामले को गंभीरता से नहीं लिया. अंजना के मायकेवालों का दावा है कि पुलिस ने उन्हें थाने से भगा दिया. इसके बाद काफी संख्या में लोग थाने पहुंचे और घेराव किया. जिसके बाद पुलिस ने शिकायत ली थी.

7 जनवरी को पनकी नहर में मिला एक महिला का शव

Murder Mystery Case : इसी बीच, 7 जनवरी को कानपुर के पनकी नहर में एक महिला का शव मिला. शव कई दिन पुराना था. जिससे उस लाश को पहचान पाना मुश्किल हो रहा था. इस शव को लापता अंजना की बहन और उसके परिवार को दिखाया गया. बबली ने उस शव को देखते ही पहचान लिया कि ये उसकी बहन अंजना का शव है. इसके बाद पुलिस ने इस केस में हत्या का मामला दर्ज कर शक के दायरे में आए पति से पूछताछ शुरू की.

पुलिस ने 22 और 23 दिसंबर के आसपास के सीसीटीवी फुटेज को चेक किया. इस दौरान जो कुछ फुटेज में दिखा उससे सुलभ पर शक की सुई बढ़ती चली गई. क्योंकि सीसीटीवी फुटेज में दिखा कि सुलभ बोरे में कुछ भरकर उसे कार में डालकर ले जा रहा है. इसके बाद पुलिस ने उस कार की तलाशी ली. उसकी फॉरेंसिक जांच कराई.

तब पता चला कि उसकी सफाई करा दी गई है. लेकिन फिर भी उसमें खून के कुछ निशान थे. इस तरह पुलिस का शक पूरी तरह से गहरा गया और शक के दायरे में आए पति से कड़ाई से पूछताछ की गई. पूछताछ के बाद जो पूरा सच आया वो बेहद ही चौंकाने वाला था.

<div class="paragraphs"><p>हत्या का आरोपी पति सुलभ अपनी पत्नी अंजना के साथ&nbsp; (फाइल फोटो)</p></div>

हत्या का आरोपी पति सुलभ अपनी पत्नी अंजना के साथ  (फाइल फोटो)

प्रेम संबंधों में पत्नी की ऐसे हुई ख़ौफ़नाक हत्या

Crime Murder News : पुलिस की पूछताछ में आरोपी पति ने बताया कि उसका किरण नाम की एक लड़की से काफी समय से प्रेम प्रसंग चल रहा था. वे दोनों इतने करीब आ गए थे कि लड़की के पिता को भी दोनों के प्यार पर ऐतराज नहीं था. लड़की के पिता ड्राइवर हैं. इसलिए उनके घर का काफी खर्चा सुलभ ही उठाता था. अब इस प्रेम प्रसंग के बारे में सुलभ की पत्नी अंजना और उसकी बहन बबली को भी शक हो गया था. इसी बात को लेकर पति-पत्नी में विवाद होता था.

पिछले काफी दिनों से अंजना नाराज रहती थी. घटना वाले दिन 22 दिसंबर को घर पर इनके बेटे अयान ने कोल्ड ड्रिंक मांगी थी. ठंड की वजह से मां ने कोल्डड्रिंक खरीदने से मना कर दिया.

उसी दौरान सुलभ का चचेरा भाई रिषभ अयान को लेकर कोल्डड्रिंक खरीदने घर से बाहर चला गया. इसी बात से अंजना नाराज हो गई. फिर उसकी पति से कहासुनी और लड़ाई हो गई. गुस्से में पति ने अंजना को थप्पड़ मार दिया. इसी बात पर नाराज अंजना ने भी पति का कॉलर पकड़ लिया था.

इसके बाद पति का गुस्सा सांतवें आसमां पर पहुंच गया और उसने अंजना की दुपट्टे से गला घोंटकर हत्या कर दी. हत्या के बाद शव को एक बोरी में डाला और फिर कार में रखकर भन्नानापुरवा थाना क्षेत्र के रायपुरवा इलाके में स्थित अपनी प्रेमिका के फ्लैट पर ले आया. यहां आने के बाद उसने इस बारे में अपने चचेरे भाई को भी जानकारी दे दी.

<div class="paragraphs"><p>अंजना की हत्या के चारों आरोपी&nbsp;</p></div>

अंजना की हत्या के चारों आरोपी 

पिता ने बेटी के हाथ पीले करने से पहले खून से रंगवा दिए

Kanpur Crime News : कानपुर पुलिस का दावा है कि जांच में ये भी सामने आया कि जब सुलभ अपनी पत्नी का शव लेकर रायपुरवा के फ्लैट पर आया तो उसके बाद लाश को ठिकाने लगाने में उसके चचेरे भाई, प्रेमिका किरण और प्रेमिका के पिता राम दयाल भी शामिल हुए.

क्योंकि इस फ्लैट में अंजना की पहचान मिटाने के लिए उसके शव को क्षत-विक्षत भी किया और फिर पेट्रोल से जलाने का प्रयास किया. इस दौरान फ्लैट में काफी धुआं हो गया और चारों तरफ खून भी रिसकर फैल गया. इसके बाद इन लोगों ने किसी तरह आग को बुझाया. इस दौरान आरोपियों के नाखून में अंजना के मांस के टुकड़े और खून भी फंस गए थे.

आरोपियों ने पूछताछ में बताया कि वहां से किसी तरह अधजले शव को लेकर दूसरी कार में रखा और फिर औंग इलाके की पांडु नदी में फेंक दिया था. इसके बाद कार में भी काफी खून फैल गया था इसलिए उसकी सफाई कराई थी. यही नहीं, जिस फ्लैट में शव को जलाने की कोशिश की गई उसकी भी पुताई करा दी ताकि कोई सुराग ना मिले.

इस मामले की जांच कर रहे पुलिस अधिकारी एसीपी संतोष सिंह ने बताया कि प्रेमिका किरण के फ्लैट में बेंजाडीन टेस्ट किया गया. जिसके जरिए फ्लैट में कई जगह खून के निशान मिले थे. इस टेस्ट के जरिए ये भी पता चला है कि सुलभ, रिषभ और उसकी प्रेमिका के नाखूनों में खून मिले हैं.

इसके अलावा जांच में आरोपियों के जैकेट, चप्पल समेत कई ऐसे सबूत मिले हैं जिसमें खून के निशान मिले हैं. पुलिस ने इस केस में मुख्य आरोपी पति सुलभ, उसकी प्रेमिका किरण, प्रेमिका के पिता राम दयाल और चचेरे भाई रिषभ को गिरफ्तार किया है.

इस घटना में शामिल राम दयाल ने बताया कि उसे लगा था कि बेटी और परिवार की सुलभ काफी मदद करता है. ऐसे में उसी से बेटी की शादी हो जाएगी तो दोनों खुश रहेंगे. लेकिन क्या पता था कि बेटी के हाथ पीले करने से पहले ही खून से रंग जाएंगे.

अंतिम संस्कार से पहले बेटे ने कहा था : ये मां का शव नहीं

पुलिस ने बताया कि पनकी नहर में जिस महिला के शव को अंजना के घरवालों ने उसी का शव बताया था. उसी आधार पर केस में खुलासा हुआ. लेकिन जब शब का अंतिम संस्कार किया जा रहा था और बेटे से शव की पहचान कराई गई तभी उसने उसे मां का होने से इनकार कर दिया था.

उसने कहा था कि ये मेरी मम्मी नहीं है. इसलिए शव का डीएनए सैंपल लेकर उसका अंतिम संस्कार करा दिया गया था. अभी उसकी रिपोर्ट आनी बाकी है. अब जबकि जांच में ये पता चला कि अंजना के शव को पांडु नदी में फेंका गया था तो वहां भी तलाशी कराई गई लेकिन कोई शव नहीं मिला. ऐसे में पनकी नहर में किसका शव था उसकी भी जांच कराई जा रही है.

Related Stories

No stories found.