Shams Ki Zubani: Beach से ग़ायब हुई बीवी, 72 घंटे बाद मिले वॉयस मैसेज ने पति के उड़ाए होश

Shams Ki Zubani: विशाखापट्टनम (Vizag) के बीच से एक महिला अचानक लापता हो जाती है, नेवी (Navy) और कोस्टगार्ड (Coast Guard) तलाश करते हैं, लेकिन नहीं मिलती पर फिर जो सच सामने आता है तो सब चौंक जाते हैं।
Shams Ki Zubani: Beach से ग़ायब हुई बीवी, 72 घंटे बाद मिले वॉयस मैसेज ने पति के उड़ाए होश

Shams Ki Zubani: पति पत्नी का जो क़िस्सा आंध्र प्रदेश (Andhra Pradesh) के विशाखापट्टनम (Vishakhapattanam) से सामने आया उसे जिसने भी सुना चौंका भी और हंसा भी। मगर इस क़िस्से की सबसे ख़ास बात ये है कि इस पूरे क़िस्से में नौसेना (Navy), पुलिस (Police), मरीन पुलिस (Marine Police) गोताखोर (Divers) और मछुआरों (Fisherman) की एक पूरी टीम पर क़रीब पूरे एक करोड़ रुपये से ज़्यादा खर्च हो गए मगर जब सच्चाई खुली तो हर कोई हैरान रह गया।

असल में एक महिला अपने पति के साथ शादी की दूसरी सालगिरह मनाने विशाखापट्टनम गई थी। 25 जुलाई को वो पति के साथ ही रामकृष्ण बीच पर यानी समंदर के किनारे गई थी। बीच पर घूमते घूमते वो महिला अचानक लापता हो गई...।

महिला का नाम प्रिया है और उसकी उम्र 21 साल की है। जबकि उसके पति का नाम श्रीनिवास है।श्रीनिवास हैदराबाद की एक फॉर्मेंसी कंपनी में काम करता था जबकि प्रिया घर पर रहती थी। 25 जुलाई यानी जिस रोज प्रिया लापता हुई थी समंदर के किनारे जाने से पहले दोनों पति पत्नी पहले सिंहचलम मंदिर गए थे...इसके बाद समुद्र तट पर घूमने आ गए थे

समंदर के किनारे प्रिया के गायब होते ही उसकी तलाश का एक लंबा सिलसिला शुरू हुआ। प्रिया चूंकि बीच में सेल्फी लेते हुए अचानक गायब हुई थी... हुआ यूं कि जिस वक्त दोनों बीच पर पहुँचे वहां अंधेरा हो चुका था...तभी श्रीनिवास के पास एक फोन आया...और वो बात करते हुए पत्नी से थोड़ा दूर निकल गया। इस बीच पत्नी समुद्र की लहरों के साथ सेल्फी ले रही थी. पति श्रीनिवास की जब कॉल खत्म हुई तब वो पत्नी को खोजने लगे. लेकिन वो नहीं दिखीं। इसके बाद फोन किया. तो फोन भी बंद मिला. काफी देर तक तलाश की. लेकिन कुछ पता नहीं चला। इस बात की आशंका हो गई कि हो न हो समंदर की लहरों में फंसकर वो गहरे पानी में डूब न गई हो..।

महिला की तलाश में खर्च हो गए एक करोड़

Rescue Operation: लिहाजा उस महिला की तलाश के लिए शुरू हुआ रेस्क्यू ऑपरेशन। मौके पर पुलिस भी पहुँच गई। और फिर एक एक करके इस रेस्क्यू ऑपरेशन में नौसेना को लगाया गया। कोस्टगार्ड के हेलिकॉप्टर समंदर के ऊपर चक्कर काटकर समंदर के भीतर महिला का सुराग तलाशने के लिए आसमान पर चक्कर काटने लगे।

जब हेलिकॉप्टर से कुछ पता नहीं चला तो फिर मरीन पुलिस को बुलवाया गया। मरीन पुलिस के साथ साथ गोताखोरों की भी टीम समंदर के पानी में गोता लगाने लगी। लेकिन महिला ऐसी गुमशुदा हुई कि उसकी परछाई तक किसी को नहीं मिल पा रही थी। उसकी तलाश के लिए नौसेना की एक स्पीड बोट, कोस्ट गार्ड के दो जहाज और एक हेलिकॉप्टर लगे। लेकिन प्रिया नहीं मिली।

अब नौसेना, मरीन पुलिस और कोस्टगार्ड के साथ साथ गोताखोरों की कोशिश भी जब नाकामयाब रही तो आस पास के मछुआरों की मदद ली गई। गरज ये कि जैसे भी हो पता लगाया जाए कि वो महिला आखिर कहां पानी में गुम हो गई। 72 घंटे तक सर्च ऑपरेशन चलाया गया। तीन दिन बीत गए लेकिन प्रिया का कहीं कुछ पता नहीं चल सका। लिहाजा सबने मान लिया कि प्रिया समंदर के गहरे पानी में डूब गई। और इस आशंका के साथ उसके पति के साथ साथ रेस्क्यू ऑपरेशन में लगे तमाम लोग भी उदासी और मायूसी के गहरे समंदर में डूब गए।

समाचार एजेंसी की खबरों पर यकीन किया जाए तो इस पूरे रेस्क्यू ऑपरेशन में एक करोड़ रुपये से ज़्यादा का खर्च हो गया, लेकिन हाथ मायूसी ही लगी।

सलामती का वॉयस मैसेज और गहरा सस्पेंस

Rescue Operation: पति श्रीनिवास को दिलासा देकर सभी अपने अपने ठिकाने और काम पर वापस लौट गए। लेकिन दो दिन के बाद श्रीनिवास के पास एक मैसेज आया जिससे वो बुरी तरह चौंक गया। ये मैसेज प्रिया का था।

द हिन्दू के मुताबिक प्रिया ने खुद मैसेज देकर अपने घरवालों को अपने सही सलामत होने की जानकारी दी और उसके बाद जो कुछ मैसेज में लिखा था वो बेहद चौंकाने वाला भी था। दरअसल प्रिया विशाखापट्टनम से सैकड़ों मील दूर बैंगलूरू पहुँच गई थी और वो भी किसी और के साथ नहीं बल्कि अपने पुराने प्रेमी रवि के पास।

द हिन्दू के मुताबिक प्रिया के घरवालों को उसका वॉयस मैसेज मिला था जिसमें उसने साफ साफ कहा था कि अगर कोई उसके पास पहुंचने की कोशिश करेगा तो वो जान दे देगी, वो यहां सुरक्षित है। लेकिन द हिन्दू के मुताबिक पुलिस अब उस वॉयस मैसेज की फॉरेंसिक जांच करवा रही है। ये पता लगाने के लिए कि वॉयस मैसेज में जो आवाज़ है वो प्रिया की ही है या नहीं।

पुलिस का कहना है कि इस मामले में पुलिस को प्रिया के सही सलामत होने का उसकी पूरी गवाही जब तक नहीं मिल जाती और पुलिस ये नहीं मान लेती कि वो सही सलामत है, तब तक ये कार्रवाई चलती रहेगी।

रेस्क्यू ऑपरेशन के 72 घंटे के बाद प्रिया के सही सलामत होने की इत्तेला ने एक तरफ उसके घरवालों को खुशी दी तो उसके पति श्रीनिवास के सामने कई सवाल खड़े कर दिए। आखिर प्रिया उस रोज ग़ायब कैसे हुई? क्योंकि श्रीनिवास ने उसे आखिरी बार बीच पर खड़े होकर सेल्फी लेते देखा था। तो वो अचानक वहां से ग़ायब कैसे हो गई। विशाखापट्टनम के बीच से वो बैंगलुरू कैसे पहुँची..और सबसे बड़ा सवाल क्या वहां से वो अकेले गई या फिर उसे उसका प्रेमी रवि लेने आया था?

Related Stories

No stories found.
Crime News in Hindi: Read Latest Crime news (क्राइम न्यूज़) in India and Abroad on Crime Tak
www.crimetak.in