रूस ने अमेरिका से क्यों कह दिया अब रॉकेट इंजन की जगह तुम 'झाड़ू' से उड़ लो!

रॉकेट इंजन को लेकर रूस ने कह डाली अजीबोग़रीब बात, झाड़ू से उड़ने की बात ने दिलाई हैरी पॉटर की याद
रूस ने अमेरिका से क्यों कह दिया अब रॉकेट इंजन की जगह तुम 'झाड़ू' से उड़ लो!

प्रतीकात्मक तस्वीर- रॉकेट इंजन

Ukraine Russia war : रूस और यूक्रेन के बीच जारी जंग में सिर्फ़ मिसाइल और गोले नहीं चल रहे. ज़ुबानी तीर भी जम कर चल रहे हैं. रूस पर जारी अमेरिकी प्रतिबंधों का प्रतिकार करते हुए रूस ने अमेरिका को रॉकेट इंजन की सप्लाई पर रोक लगा दी है और एक ऐसी बात कही है, जो बेहद चुभने वाली है. वैसे लोग इस बात पर ठहाके भी लगा सकते हैं. ये बयान आपको अक्सर गली-मोहल्ले में होनेवाले झगड़ों की याद दिला सकता है.

<div class="paragraphs"><p>अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन और रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन</p></div>

अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन और रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन

स्पेस एजेंसी हेड का ये कैसा बयान?

Ukraine Russia war : खबरों की मानें तो रूस की स्पेस एजेंसी रॉसकॉसमॉस के प्रमुख दिमित्रि रोगोज़िन ने कहा है कि मौजूदा हालात में वो अमेरिका को दुनिया के सबसे अच्छे रॉकेट इंजन की सप्लाई जारी नहीं कर सकते. अब वो किसी और चीज़ की मदद से अपनी उड़ान भर सकते हैं. चाहें तो इसके लिए अपनी झाड़ू का इस्तेमाल कर सकते हैं.

<div class="paragraphs"><p>प्रतीकात्मक तस्वीर -- हैरी पॉटर</p></div>

प्रतीकात्मक तस्वीर -- हैरी पॉटर

हैरी पॉटर भी झाड़ू से उड़ता है

हैरी पॉटर से लेकर तमाम तिलस्मी किरदार झाड़ू के सहारे उड़ान भरते रहे हैं. हालांकि रूस का ये बयान उसकी खुन्नस को दिखा रहा है, लेकिन बयान हास्यास्पद भी है. रोगोज़िन ने बताया है कि रूस ने 1990 से लेकर अब तक अमेरिका को कुल 122 आरडी-180 इंजन की सप्लाई की है. इनमें से 98 इंजन का इस्तेमाल लॉन्चिंग व्हीकल में किया जा चुका है. फिलहाल हालत ये है कि अमेरिका के पास ऐसे ही कुछ इंजन मरम्मत के लिए भी पड़े हैं, लेकिन अब रूस ने उससे भी हाथ खड़े कर लिए हैं.

अमेरिका और यूरोपियन यूनियन ने रूस पर लगाए हैं कई प्रतिबंध

यूक्रेन पर हमले के विरोध में अमेरिका के अलावा पश्चिमी देशों ने रूस पर कई तरह की पाबंदियां लगाई हैं. इनमें नागरिकों के इस्तेमाल में आनेवाली चीज़ों के साथ-साथ मिलिट्री साजो-सामान भी शामिल हैं.

Related Stories

No stories found.
Crime News in Hindi: Read Latest Crime news (क्राइम न्यूज़) in India and Abroad on Crime Tak
www.crimetak.in