अपने ही देश में विलेन बन गए पुतिन! सड़कों पर उतर आए रूसी लोग

जो पुतिन यूक्रेन पर हमला कर वर्ल्ड लीडर बनने की कोशिश कर रहे थे, उन्हें उनके अपने ही देश के लोगों ने विलेन बना दिया है। पूरे रूस में शर्म करो पुतिन के नारे बुलंद हैं, और ये नारे कोई और नहीं बल्कि रूसी लोग ही लगा रहे हैं, यूक्रेन युद्ध के खिलाफ सड़कों पर है 56 शहरों में रहने वाले रूसी लोग।
अपने ही देश में विलेन बन गए पुतिन! सड़कों पर उतर आए रूसी लोग

यूक्रेन पर हमला कर जो पुतिन खुद को हीरो समझ रहे थे, उन्हें उनकी ही जनता ने बता दिया कि वो दरअसल हीरो नहीं बल्कि विलेन हैं। रूस में 56 शहरों के हजारों लोग अपनी ही सरकार के खिलाफ प्रदर्शन करते हुए सड़कों पर उतर रहे हैं, पुलिस ने हज़ारों प्रदर्शनकारियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। लोग ‘लड़ाई को ना कहें’ और ‘शर्म करो पुतिन’ के नारे लगा रहे थे, ओवीडी-इन्फो प्रोटेस्ट मॉनिटरिंग ग्रुप का कहना है कि उसके मुताबिक 56 अलग-अलग शहरों में कम से कम 4366 लोगों को हिरासत में लिया गया है।

यूक्रेन पर आक्रमण के खिलाफ अपना गुस्सा दिखाने के लिए रूस के लोग कई तरीके अपना रहे हैं, कुछ लोगों ने अपना पासपोर्ट जला दिया है, और कुछ लोगों ने यूक्रेन के झंडे लहराते हुए युद्ध और रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के खिलाफ नारे लगाए हैं। सर्बिया में रहने वाले रूसी नागरिकों का एक ग्रुप कड़ाके की ठंड के मौसम के बावजूद यूक्रेन के समर्थन में और युद्ध के खिलाफ मध्य बेलग्राद में इकट्ठा हुए थे। इस युद्ध में पिछले 12 दिनों के दौरान कई लोगों की मौत हो गई है और 15 लाख लोगों को अपना घर छोड़ना पड़ा है।

हालांकि रूस में कई ऐसे लोग भी हैं जो पुतिन और उनके आक्रमण का समर्थन करते हैं, जो नाटो और पश्चिम की रूस विरोधी नीतियों को संघर्ष के लिए जिम्मेदार मानते हैं। सैकड़ों दक्षिण पंथियों ने पिछले हफ्ते यूरोप में पुतिन के समर्थन के एक प्रदर्शन में बेलग्राद में मार्च किया, जबकि कई युवकों ने भी रविवार को शांति रैली के दौरान रूस समर्थक नारे लगाए।

Related Stories

No stories found.
Crime News in Hindi: Read Latest Crime news (क्राइम न्यूज़) in India and Abroad on Crime Tak
www.crimetak.in