हैदराबाद का वो कॉलेज, जहां भूत पढ़ते हैं साइंस!

हैदराबाद के खैरताबाद का साइंस कॉलेज. बना भूतहा, अंदर जाने की कोई हिम्मत नहीं कर पाता है. जो जाता है वो कभी वापस नहीं आता. आख़िर क्या है पूरी कहानी, जानिए
हैदराबाद का वो कॉलेज, जहां भूत पढ़ते हैं साइंस!
खैरताबाद का साइंस कॉलेज (फाइल फोटो)

ऐसी बहुत सी जगह है जहां इंसान नहीं बल्कि भूत-प्रेत और आत्माए रहती हैं, आपने भी कई बार ऐसी बहुत सी जगह के बारे में सुना या देखा होगा जहां दूर-दूर तक कोई इंसान नहीं भटकता है क्योकि वहां रहने वाली प्रेत आत्माए किसी को भी आने नहीं देती है। आज हम आपको भारत की एक ऐसी ही भूतहा जगह के बारे में बता रहे है जो सालो से खंडर पड़ी है। ये जगह है हैदराबाद का खैरताबाद साइंस कॉलेज।

खैरताबाद का साइंस कॉलेज सालों से बंद है और अब तो इसकी इमारत किसी भूतही फिल्म के डाक बंगले से कम नज़र नहीं आता, खंडर बन चुका हैदराबाद का खैरताबाद साइंस कॉलेज पहले यहां के शानदार साइंस कॉलेजों में शुमार होता था, काफी तादाद में दूर दराज के इलाकों से बच्चे यहां पढ़ने आते थे, मगर अब ये बंद है, भूतों के खौफ में। लोगों का ऐसा कहना है कि अब यहां सिर्फ भूत प्रेत ही रहते हैं।

कॉलेज में भूत हैं या नहीं इसका खुलासा ना कोई इंसान कर पाया है ना विज्ञान। हां ये सच है कि पहले यहां इंसान पढ़ा करते थे मगर अब यहां भूतों को विज्ञान पढ़ाया जाता है। ये साइंस कॉलेज ऐसी जगह है, जहां आकर हमारी सोचने और समझने की शक्तियां खत्म हो जाती है, क्योंकि यहां हम पर डर और खौफ हावी होने लगता है। आपके मन में ये सवाल उठ सकता है कि आख़िरकार ये साइंस कॉलेज भूतो का घर कैसे बन गया, तो चलिए आपको बताते हैं कि आखिर इस इमारत का रहस्य क्या है?

इतिहास बताता है कि पहले इस कॉलेज में हजारो बच्चे पढ़ने आते थे, पुरे वक्त यहां चहल-पहल रहा करती थी, कहते हैं कि जब किसी वजह से ये साइंस कॉलेज बंद हुआ, तब उस वक्त जांच के लिए लैब में रखी गई डेड बॉडीज़ को डिस्पोस नही किया गया था, उन्हें वहीं छोड़ दिया गया था, उस दौरान अचानक आसपास के लोगों को यहां से अजीबोगरीब आवाज़ें सुनाईं दी, किसी ने भूत देखने का दावा किया, तो किसी ने चुड़ैल, हालांकि ऐसा कोई भी दावा साबित नहीं हो सका।

इस इमारत को खंडहर में तब्दील करने के लिए ये अफवाहें काफीं थी, खुद ब खुद यहां डर पैदा हो गया, लोगों ने आना जाना छोड़ दिया। यहां तक की कॉलेज को बंद कर दिया गया, हां मगर सरकार ने इस कॉलेज की चौकीदारी के लिए एक बंदा रखा और यहां से लिखी गई और खौफ की एक और इबारत।

कहते हैं अगले ही दिन उस चौकीदार की अजीबोगरीब तरीके से मौत हो गई और उसकी लाश कॉलेज में ही पड़ी मिली, चौकीदार की लाश मिलनी थी कि लोगों का खौफ और शक़ दोनों और पक्का हो गया, सब ने ये कहना शुरु कर दिया कि उस चौकीदार की हत्या भी यहां के भूतो की वजह से ही हुई, हादसे के बाद से आज तक इस कॉलेज में किसी ने भी जाने की कोशिश नहीं की, अब यहां सन्नाटा पसरा रहता है।

इस तरह देखते ही देखते ये कॉलेज खंडर में तब्दील होना शुरु हो गया। अब तो यहां के लोगो का कहना है कि अब जो भी इस कॉलेज में जाता है वो फिर वापिस नहीं आता है। सब जानते हैं, विज्ञान भी मानता है कि ये दिमागी वहम के अलावा कुछ नहीं मगर फिर भी लोग खौफ में रहते हैं, सिर्फ खौफ नहीं बल्कि ऐसी जगहों को टूरिस्ट स्पॉट बना दिया जाता है और ये बहुत साधारण चीज़ है, क्योंकि हमारे देश में डर बिकता है।

Related Stories

No stories found.