Sonali Phogat: मौत से पहले रात में सोनाली के साथ क्या-क्या हुआ, PA सुधीर ने कर दिया पूरा खुलासा

Sonali Phogat death mystery : सोनाली फोगाट की मौत को लेकर पीए सुधीर सांगवान ने पुलिस को एक बयान दिया है. उस बयान में मौत वाली रात का पूरा सच है. एक-एक लाइन पढ़िए.
Sonali Phogat Murder
Sonali Phogat Murder

दिल्ली से सुप्रतिम बनर्जी के साथ अरविंद ओझा की रिपोर्ट

Sonali Phogat latest News : सोनाली फोगाट की मौत को करीब-करीब महीना पूरा हो चुका है। लेकिन मौत की पहेली अब भी पहेली ही बनी हुई है। इस पहेली को सुलझाने के लिए मामले की जांच गोवा पुलिस से लेकर सीबीआई को सौंपी जा चुकी है। सीबीआई अपनी जांच शुरू भी कर चुकी है। लेकिन जो सच सभी जानना चाहते हैं, वो सच अब भी पर्दे में है। सच ये कि सोनाली की मौत एक हादसा थी या साजिश? तो सोनाली की मौत के एक महीना पूरा होने पर इस केस से जुडे दो सबसे अहम किरदारों के जरिए इस सच की तह तक पहुंचने की कोशिश करते हैं।

इनमें से पहला किरदार वो है, जो ना सिर्फ़ सोनाली के आखिरी पलों का गवाह है बल्कि शक के घेरे में सबसे ऊपर भी। दूसरा किरदार गोवा पुलिस का वो अफसर है, जिसने इस मामले की शुरुआती जांच की थी और फिर अपनी रिपोर्ट तैयार की थी। यानी इन दो किरदारों में से एक सोनाली का दोस्त सुधीर सांगवान है और दूसरा अंजुना पुलिस स्टेशन का के इंस्पेक्टर और तब इस केस के जांच अधिकारी रहे।

Sonali Phogat death mystery
Sonali Phogat death mystery

तो सबसे पहले सुधीर सांगवान की जुबानी उस रात से सुबह तक की पूरी कहानी सुनते हैं, जिस रात और सुबह के दरम्यान ही सोनाली की तबीयत बिगडी और फिर उनकी मौत हो गई। बयान की शक्ल में उस रात की पूरी कहानी सुधीर सांगवान ने बाकायदा अपने हाथों से स्टेटमेंट के तौर पर गोवा पुलिस को दी थी। तो ये रहा गोवा पुलिस को दिया गया सुधीर सांगवान का पूरा बयान...

मैं सुधीर पाल, मेरी दोस्त सोनाली फोगाट, उम्र 43 साल, रहने वाली संत नगर हरियाणा और हमारा दोस्त सुखविंदर सिंह, 22 अगस्त 2022 को गोवा में अंजुना, नॉर्थ गोवा के गैंड लियोनी रिसोर्ट में रहने के लिए आए। दोपहर के करीब 2:30 बजे हमने होटल के रूम में चेकइन किया। शाम के 4:30 बजे सोनाली फोगाट जी ने सुखविंदर सिंह को MDMA ड्रग खरीद कर लाने को बोला। हम तीनों को MDMA ड्रग्स का नशा करने की इच्छा थी। करीब 8:30 बजे सुखविंदर सिंह हमारे कमरे में आकर बोला कि 4 ग्राम MDMA ड्रग्स के लिए 12 हज़ार की जरूरत है और वह होटल गैंड लियोनी के रूम ब्वॉय से MDMA ड्रग मंगवाएगा। मैंने उसको 5 हज़ार नकद दिए और उसको बोला कि अपनी तरफ से वह 7 हज़ार देगा।
उसके बाद करीब 9 बजे सुखविंदर सिंह हमारे कमरे में आया और उसके हाथ में एक छोटा सा पैकेट था, जिसमें बिना रंग वाला केमिकल था। सुखविंदर बोला कि वह MDMA है। सोनाली जी ने सुखविंदर से पैकेट लिया और थोड़ा पोर्शन लिया और वह बारीक करके 2 लाइनें बनाई। हम तीनों ने नाक से MDMA नाक में खींचने का तय किया था। हम तीनों ने दो-दो लाइनें नाक से खींची।
हम तीनों ने कर्लीज बीच क्लब जाने का प्लान किया था। रात करीब 11:30 बजे मैं, सोनाली और सुखविंदर दो स्कूटर लेकर कर्लीज के लिए निकले। उसी दौरान एक लड़की वानया और उसकी दोस्त जो सुखविंदर को पहले से जानती थी, वह भी अपनी सहेली को लेकर स्कूटर पर कर्लीज के लिए निकल गई, जो रूम पर से बची हुई MDMA उसमें से थोड़ी सी मैंने प्लास्टिक की खाली बोतल में डाल कर मेरे साथ ले ली और बाकी का बचा हुआ MDMA मैंने उसी प्लास्टिक में रखा और मैंने वह प्लास्टिक मेरी जेब में डाल दिया।

आगे इस बयान में पीए सुधीर सांगवान ने कहा है कि...

हमने कर्लीज बीच क्लब में डांस फ्लोर के नजदीक पहले से टेबल लिया और हमने बीयर, ऑरेंज जूस, कॉकटेल और केक मंगवाई और पानी की बोतल भी मंगवाई। उस दौरान हम पांच लोग थे। कर्लीज रेस्टोरेंट्स पर मैंने जिस बोतल में MDMA लाया था उसमें पानी डाला और वह बोतल सोनाली जी ने अपने पास ली और मिक्स किया। एक पानी में घुली हुई MDMA मैंने सोनाली और सुखविंदर ने बारी-बारी से पी ली.

रात के करीब 12:45 बजे हम तीनों डांस फ्लोर पर डांस करने के लिए गए। हम तीनों रात के 2:00 से 2:30 तक डांस कर रहे थे। उसके बाद सोनाली जी ने मुझे बोला कि उनको वॉशरूम जाना है और मैंने उनको बाएं बाजू की टॉयलेट में लेकर गया। उन्होंने वहां लेडीज टॉयलेट में पेशाब और उल्टी की। उसी वक्त मुझे महसूस हुआ कि सोनाली जी को MDMA ड्रग्स का ओवरडोज हो गया है।

उसी दौरान मैंने खाली बोतल जिसमें MDMA मिक्स की थी, उसे मैंने MDMA ड्रग्स का पैकेट डाल दिया और वह बोतल का ढक्कन लगाया और वह बोतल मैंने लेडीज टॉयलेट के फ्लश टैंक में डाल दिया और फ्लश टंकी का ढक्कन बंद कर दिया। फिर उसके बाद हम दोनों वापस डांस फ्लोर पर चले गए। उसी बीच सोनाली बीच-बीच में पानी मांगती रही और मैं पिलाता रहा।

सुबह तकरीबन 4:30 बजे सोनाली जी वापस मुझे लेडीज टॉयलेट लेकर जाने के लिए बोली और मैं उनको लेकर गया। तब नशे की हालत में उनके पांव लड़खड़ा रहे थे और वह वहीं टॉयलेट के पास बैठ गई। फिर मैंने उनको सहारा देकर टॉयलेट में ले गया। लेडीज टॉयलेट के अंदर सोनाली जी ने कपड़ों में पेशाब और संडास किया। सोनाली ने उस दिन गुलाबी रंग की और नीले रंग की छोटी जींस पहनी थी। बाद में मैंने सोनाली जी को साफ किया। तभी उन्होंने बोला कि उनको ड्रग्स का नशा ज्यादा हो गया है और वह चल नहीं पाएंगी और वह वहीं टॉयलेट सीट पर बैठ गई। मैंने उनको पानी पिलाया और उनको टॉयलेट में नीचे जमीन पर बैठाया और मैं उनको पानी पिलाता रहा।

इस तरह कुल मिलाकर सुधीर सांगवान अपने बयान में यही कह रहा है कि ड्रग्स खुद सोनाली ने मंगवाई थी। सोनाली ने अपनी मर्जी से डग्स ली। डग्स लेने की वजह से उसकी तबीयत बिगडी। और शायद डग्स के इसी ओवरडोज से सोनाली की जान चली गई। अब ये तो रहा सुधीर सांगवान का दावा। ये दावा कितना सच है, कितना झूठ, बस इसी की जांच सीबीआई को करनी है।

Related Stories

No stories found.
Crime News in Hindi: Read Latest Crime news (क्राइम न्यूज़) in India and Abroad on Crime Tak
www.crimetak.in