Grishma Murder : सिरफिरे आशिक़ ने इस लड़की का ऐसे किया LIVE मर्डर, जिसे देख रूह कांप उठेगी

Grishma Vekariya Murder Case

Grishma Murder : सिरफिरे आशिक़ ने इस लड़की का ऐसे किया LIVE मर्डर, जिसे देख रूह कांप उठेगी

Grishma Vekariya Murder Case : लड़की का गला काटने के बाद भी सिरफिरा आशिक वहीं खड़ा रहा. फिर वो जेब से गुटखा निकालता है और पाऊच को फाड़कर खा लेता है. करीब 2 से 3 मिनट तक लड़की को तड़पते हुए देखता है.

Gujarat surat Grishma Vekariya Murder Case : एकतरफा आशिकी की जानलेवा दीवानगी की ऐसी ख़ौफ़नाक घटना शायद ही पहले कभी देखी होगी. ये सिरफिरा आशिक पिछले एक साल से एक लड़की के पीछे पड़ा था. वो उससे बार-बार प्यार का इजहार कर रहा था. लड़की ने हर बार मना किया. फिर उस सिरफिरे ने जिस तरीके से उस लड़की की हत्या की उसे देखकर आपके रौंगटे खड़े हो जाएंगे.

Grishma Vekariya Surat Video यहां देखें :

महज 23 सेकेंड का ये वीडियो शायद आप पूरा देख भी ना सकें. क्योंकि इस वीडियो में आप देख सकते हैं कि एक लड़का किस तरह से चाकू दिखाकर लड़की को कब्जे में लिया है. आसपास खड़े लोग देख रहे हैं.

लड़की को बचाने की कोशिश कर रहे हैं तो आरोपी मारने की धमकी दे रहा है. इसके बाद वो लड़की के गले पर चाकू लगाता है और फिर मार देता है. दूसरे वीडियो में देख सकते हैं कि लड़की को बचाने में उसका छोटा भाई भी घायल हो जाता है.

लड़की का गला काटने के बाद भी सिरफिरा आशिक वहीं खड़ा रहा. फिर वो जेब से गुटखा निकालता है और पाऊच को फाड़कर खा लेता है. करीब 2 से 3 मिनट तक लड़की को तड़पते हुए देखता है. वो इसलिए भी उसी जगह खड़ा रहता है ताकी कोई उस लड़की को मदद ना कर सके और ना ही उसे अस्पताल ले जा सके. इसके बाद आरोपी को पुलिस गिरफ्तार कर लेती है.

ALSO READ : लव मैरिज को ठुकरा ये महिला सिपाही चली थी फेसबुक फ्रेंड से शादी करने, फिर ऐसे हुई सनसनीखेज हत्या

<div class="paragraphs"><p>Grishma Vekariya Photos</p></div>

Grishma Vekariya Photos

बीकॉम की पढ़ाई करती थी ग्रीष्मा वेकारिया

grishma vekariya surat video : दरअसल, ये सनसनीखेज मामला गुजरात के सूरत शहर का है. जिस लड़की की हत्या हुई वो ग्रीष्मा थी. करीब 21 साल की ग्रीष्मा वेकारिया (Grishma Vekariya) एक कॉलेज से बीकॉम की पढ़ाई कर रही थी. पढ़ाई के दौरान से ही पिछले एक साल से फेनिल नामक युवक उसका पीछा करता रहता था. लड़की से वो बार-बार एकतरफा प्यार का इजहार करना चाहता था. लेकिन वो हर बार इनकार कर देती थी.

लेकिन इसके बाद भी फेलिन अपनी हरकतों से बाज नहीं आया था. इसलिए लड़की के घरवालों ने फेलिन के परिवार से शिकायत की थी. उस समय फेलिन के पिता ने सबके सामने काफी फटकार लगाई थी और फिर कभी ऐसी हरकत नहीं करने की बात कही थी. इसके बाद कुछ महीने तक सबकुछ शांत रहा लेकिन पिछले कुछ समय से फिर से फेलिन पीछा करने लगा था.

<div class="paragraphs"><p>Grishma Vekariya Murder Case</p></div>

Grishma Vekariya Murder Case

वेलंटाइन डे से दो दिन पहले हुई थी खौफनाक घटना

पुलिस को दी गई शिकायत में ग्रीष्मा के परिवार ने आरोप लगाया था कि पिछले एक साल से वो परेशान कर रहा था. फेनिल पहले से आपराधिक मानसिकता का रहा है फेनिल पर कार चोरी का भी मामला दर्ज था. उसमें भी पुलिस जांच कर रही थी.

रिपोर्ट के अनुसार, "वैलेंटाइन डे से ठीक दो दिन पहले यानी 12 फरवरी की शाम को फेनिल अचानक ग्रीष्मा की सोसायटी में पहुंचा था. यहां आकर उसने मौका मिलते ही सबके सामने ही ग्रीष्मा के गले पर चाकू लगाकर उसे काबू में ले लिया.

<div class="paragraphs"><p>Grishma Vekariya </p></div>

Grishma Vekariya

लड़की के बड़े पापा और भाई को भी सिरफिरे ने चाकू मारा

सिरफिरे फेनिल को रोकने के लिए ग्रीष्मा के पापा के बड़े भाई सुभाष ने पहले रोकने की कोशिश की तो फेनिल ने उनके पेट में चाकू मार दिया. कुछ देर बाद ग्रीष्मा के 17 साल के भाई ध्रुव ने भी फ़ेनिल को पकड़ना चाहा तो फेलिन ने उसके हाथ पर चाकू मार दिया. दो लोगों पर चाकू से हमला होते देख वहां खड़े लोग डर गए.

वहीं, बेखौफ फेलिन ने सबके सामने ही ग्रीष्मा के गले को काट दिया. यही नही, ग्रीष्मा जब तड़प रही थी तब भी फेलिन वहीं खड़ा रहा. वो खड़े होकर वहीं पर गुटखा खाया और चाकू लेकर लोगों को डराता रहा कि कोई लड़की को उठाकर अस्पताल न ले जाए. ग्रीष्मा की मौत होने तक फेलिन वही खड़ा रहा और फिर जब उसकी मौत हो गई तब वो शांत हुआ.

<div class="paragraphs"><p>आरोपी फेलिन</p></div>

आरोपी फेलिन

मेरे बेटे को फांसी दो : आरोपी के पिता

वहीं, इस दरिंदगी को लेकर आरोपी फेनिल के पिता पंकज गोयानी का बयान आया है. उन्होंने मीडिया को बताया, "फेनिल हमारे परिवार के लिए मुसीबत बन चुका था. वो परिवार में किसी की भी नहीं सुनता था. कॉलेज से भी उसे निकाल दिया गया था. फिर भी वो सुधरने को तैयार नहीं हुआ. अगर कोर्ट उसे फांसी की सज़ा भी देती है तो हमें अफ़सोस नहीं होगा.

अफ्रीका से लौटकर पिता ने किया था अंतिम संस्कार

इस घटना को लेकर कहा है कि हमारी बेटियां सुरक्षित नहीं है. ऐसे लोगों से उन्हें बचाने की जरूरत है. ग्रीष्मा के पिता नंदलाल घटना के समय अफ्रीका में थे. वो जब वहां से लौटे तब ग्रीष्मा का अंतिम संस्कार किया जा सका था.

इसी बीच, सोशल मीडिया पर कुछ लोगों ने इसे हिंदू मुस्लिम का मामला बताकर फेक न्यूज फैलाने की भी कोशिश की. इसे 'लव जिहाद' और धर्मांतरण से भी जोड़ा गया. लेकिन ये साफ किया गया कि ऐसा कुछ नहीं है.

Related Stories

No stories found.