अहमदाबाद में एक ही परिवार को चार लोगों की हत्या का खुला राज़, पुलिस ने आरोपी को यहां से दबोचा

अहमदाबाद की पुलिस ने सिर्फ 48 घंटे के भीतर चार हत्याओं की गुत्थी को सुलझाने का दावा करने के साथ साथ परिवार के मुखिया को गिरफ़्तार किया है। पुलिस का दावा है कि हत्या का आरोपी तो पकड़ लिया गया है लेकिन अभी तक हत्या की असली वजह का पता नहीं चल सका है।
अहमदाबाद में एक ही परिवार को चार लोगों की हत्या का खुला राज़, पुलिस ने आरोपी को यहां से दबोचा
अहमदाबाद में एक ही परिवार के चार लोगों की हत्या

48 घंटे में खुल गई क़त्ल की गुत्थी

Gujrat Crime News: अहमदाबाद (Ahmedabad) पुलिस ने रहस्यमयी तरीक़े से किए गए चार क़त्ल का क़िस्सा महज 48 घंटे में सुलझाने का दावा किया है साथ ही पुलिस ने चार लोगों की सनसनीखेज़ हत्या की इस वारदात के सिलसिले में उसी परिवार के मुखिया को गिरफ़्तार भी किया है। लेकिन चार लोगों की हत्या की जो वजह अभी तक पुलिस के ज़रिए सामने आई है वो बेहद चौंकाने वाली है।

पुलिस के मुताबिक अहमदाबाद के विराटनगर में दिव्यप्रभा सोसाइटी के मकान नंबर 30 से बदबू निकलने के बाद आस पड़ोस के लोगों ने पुलिस को ख़बर दी। पुलिस को पता चला था कि इस मकान में सोनल मराठी अपने पति विनोद, बेटे गणेश और बेटी प्रगति के साथ साथ दादी सुभद्रा मराठी रहती थीं।

घर से निकली बदबू ने खोला राज़

Ahmedabad quadruple murder case: इसी बीच सोनल की मां अंबाबेन चार दिनों से लगातार अपनी बेटी को फोन कर रही थीं, लेकिन उसका फोन नहीं उठा। उसे शक हुआ तो इसकी खबर पुलिस को दे दी। मौके पर पहुँची पुलिस को घर बंद मिला और घर के भीतर से बदबू आ रही थी।

दरवाजा तोड़कर अंदर पहुँची पुलिस को चार अलग अलग कमरों में सोनल, सुभद्राबेन, गणेश और प्रगति की लाशें मिलीं, जिन्हें देखकर पुलिस दंग रह गई। जबकि परिवार का मुखिया लापता मिला था। पहली ही नज़र में पुलिस का शक़ परिवार के मुखिया विनोद मराठी उर्फ विनोद गायकवाड़ पर ही गया। लिहाजा पुलिस ने विनोद की तलाश शुरू कर दी।

आगे आगे आरोपी, पीछे पीछे पुलिस

quadruple murder case in Hindi: पुलिस ने मौके के हालात को देखते हुए सबसे पहले वहां के तमाम CCTV फुटेज खंगाली और इलेक्ट्रॉनिक सर्वेलांस के साथ साथ क्राइम ब्रांच के साथ साथ कई और एजेंसियों को अलर्ट कर दिया।

पुलिस के अंदाज़े के मुताबिक चार दिन पहले हत्या की वारदात अंजाम दी गई थी। जिसकी वजह से तीन दिन बाद से लाशों से बदबू आने लगी थी। पुलिस ने बताया कि वारदात को अंजाम देने के बाद आरोपी अहमदाबाद से सूरत भाग गया था और वहां से इंदौर चला गया था। पुलिस ने उसे इंदौर से दबोचा और पकड़कर अहमदाबाद लेकर आई है।

बदलते बयानों से उलझा राज़

Ahmedabad CRIME NEWS: बकौल पुलिस आरोपी विनोद मराठी टेंपो चलाता था। लेकिन इस वारदात को अंजाम देने से पहले उसने अपनी सास पर भी हमला किया था। लेकिन सास ने अपनी बेटी के परिवार का मामला समझकर बात को छुपा ले गई।

बकौल पुलिस विनोद मराठी ने पुलिस को बताया कि उसे अपनी पत्नी के किरदार पर शक था। इसी लिए उसने हत्या की इस वारदात को अंजाम दिया। और सबूत मिटाने की गरज से उसने अपने परिवार के बाकी लोगों को भी मौत के घाट उतार दिया।

हालांकि पुलिस का कहना है कि विनोद लगातार अपने बयान बदल रहा है। और पिछले कुछ अरसे से उसकी माली हालत भी ख़राब थी। और पुलिस की जांच में ये भी सामने आया है कि विनोद को शराब पीने की लत है। जिसकी वजह से घर में मियां बीवी में खूब झगड़ा होता रहता था।

Related Stories

No stories found.