ट्रक के नीचे आई गर्भवती का पेट फटा, गर्भ से निकल दूर गिरी नवजात, मां की मौत, मासूम के लिए दुआ करें

UP Crime News : ये खबर दिल दहलाने वाली है. फिरोजाबाद में ट्रक की चपेट में आकर गर्भवती महिला का गर्भ फटा. महिला की मौत, नवजात बच्ची 5 फीट दूर गिरी. अस्पताल में भर्ती. सदमे से महिला के चाचा की मौत.
मां जिसकी मौत हुई, बच्ची जिसे दुआओं की जरूरत, रोते पिता
मां जिसकी मौत हुई, बच्ची जिसे दुआओं की जरूरत, रोते पिताCrime Tak

UP Firozabad news : यूपी के फिरोजाबाद की ये खबर दिल दहला देगी. गर्भ में पल रही एक बच्ची का जन्म जिस तरह से हुआ उस तरह की दिल को झकझोर देने वाली घटना शायद पहले कभी नहीं सुनी होगी. असल में तेज रफ्तार से आ रहा एक ट्रक गर्भवती महिला के ऊपर से गुजर गया.

हादसे में ट्रक के पहिए के नीचे गर्भवती महिला का पेट आ गया. जिससे पेट फट गया. पेट फटते ही महिला का गर्भ भी फट गया. जिससे उसमें पल रहा बच्चा 5 फीट दूर जाकर गिरा. जिस किसी ने ये हादसा देखा पल-भर के लिए उसकी सांसें ही मानों थम गईं.

इसी जगह पर हुआ हादसा, जहां ट्रक ने कुचला
इसी जगह पर हुआ हादसा, जहां ट्रक ने कुचला

हादसे में गर्भवती महिला की मौके पर ही तड़प-तड़प कर मौत हो गई. लेकिन गर्भ में पल रही बच्ची सही सलामत रही. उसे चोट आई थी. पर लोगों ने उसे तुरंत उठा लिया. पर उसे दुलारने के लिए मां की गोद हमेशा के लिए सूनी हो चुकी थी. फिर पिता ने तुरंत बच्ची को गोद में लिया.

लेकिन जिस मासूम ने अभी आंखें भी नहीं खोली थीं उसी की बंद पलकों के सामने ही मां ने दुनिया को अलविदा कह दिया. महिला ससुराल से मायके जा रही थी. इस हादसे की खबर जैसे ही मायके में पहुंची. महिला के चाचा को ऐसा सदमा लगा कि उनकी भी मौत हो गई. अब नवजात बच्ची अस्पताल में भर्ती है. अंदरूनी चोट से दूध नहीं पी पा रही है. सबने कहा कि डॉक्टरों के इलाज के साथ उसे दुआओं की भी जरूरत है.

मृत महिला कामिनी का फाइल फोटो
मृत महिला कामिनी का फाइल फोटोPhoto Credit : Dainik Bhasakar

प्रेग्नेंसी का 9वां महीना चल रहा था, ऐसे हुआ पूरा हादसा

इस हादसे में मृत हुई महिला कामिनी थी. इसके पति का नाम रामू है. रामू आगरा के धनौला के रहने वाले हैं. ये घटना 20 जुलाई यानी बुधवार की है. पत्नी कामिनी की प्रेग्नेंसी का 9वां महीना चल रहा था. पत्नी के कहने पर पति बाइक से लेकर उसे फिरोजाबाद में स्थित कामिनी के मायके जा रहे थे.

असल में पहले पति ने प्रेग्नेंसी का 9वां महीना होने पर जाने से मना किया था. पर कामिनी ने कहा था कि बच्चा होने पर 4 महीने तक वो मायके नहीं जा सकेगी. इसलिए एक बार उन लोगों से मिल ले. फिर लौट आएंगे. बाइक से ही दोनों फिरोजाबाद जा रहे थे.

इस मासूम को है दुआओं की जरूरत
इस मासूम को है दुआओं की जरूरतPhoto Credit : Dainik Bhasakar

पति रामू ने बताया कि रास्ते में तेज रफ्तार से आ रहे ट्रक ने बाइक के पीछे से टक्कर मार दी. टक्कर के बाद बाइक से दोनों अलग-अलग साइड में गिर गए. जिस तरफ कामिनी गिरी उसी दिशा से ट्रक निकल रहा था. ट्रक ने मेरी आंखों के सामने ही पूरी दुनिया उजाड़ दी. मैं गिरा हुआ था तभी ट्रक कामिनी के पेट को फाड़ते हुए गुजर गया.

आंखों के सामने ही बीवी के चीथड़े निकल गए. गर्भ फटा तो बच्ची पानी के फव्वारे के साथ दूर जा गिरी. वहां से गुजर रहे लोगों ने बच्चे को उठाया और मेरी गोद में दिया. तब देखा तो पता चला कि ये बच्ची है. पर ये बच्ची अब मां को देख भी नहीं सकी. दोनों की शादी को 3 साल ही हुए थे. ये पहला बच्चा था. लेकिन बेटी के जन्म और मां की मौत दोनों शायद एक ही साथ लिखा था.

बेटी की मौत की खबर सुनते ही चाचा का हार्ट अटैक, उनकी भी मौत

परिवार के लोगों ने बताया कि इस हादसे की खबर सुनते ही सदमे से कामिनी के चाचा कालीचरण को हार्ट अटैक आ गया. जिससे उनकी मौत हो गई. वो कई दिनों से बीमार भी थे. वहीं, मासूम बच्ची को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

डॉक्टरों का कहना है कि बच्ची की हालत पहले से बेहतर है. उसके पेट में अंदरूनी चोटें हैं. अंदरूनी चोट की वजह से बच्ची अभी दूध भी नहीं पी रही है. इसलिए पिता ने अपील की है कि लोग बच्ची की सलामती के लिए दुआ भी करें.

Related Stories

No stories found.
Crime News in Hindi: Read Latest Crime news (क्राइम न्यूज़) in India and Abroad on Crime Tak
www.crimetak.in