Andhra Pradesh : केमिकल फैक्ट्री में ब्लास्ट से 6 की मौत, 13 कर्मचारी गंभीर रूप से झुलसे

Six killed, 13 hurt after blast at chemical factory in Andhra Pradesh : आंध्र प्रदेश की एक रसायन फैक्टरी में लगी आग, छह कर्मचारियों की मौत.
Andhra Pradesh : केमिकल फैक्ट्री में ब्लास्ट से 6 की मौत, 13 कर्मचारी गंभीर रूप से झुलसे
Chemical Factory

Andhra Pradesh blast in Chemical Factory : आंध्र प्रदेश की एक केमिकल फैक्ट्री में विस्फोट होने से भारी नुकसान हुआ. केमिकल लेबोरेट्री में गैस लीक होने और शॉर्ट सर्किट की वजह से ये हादसा हुआ. जिसमें 6 कर्मचारियों की मौत हो गई जबकि 13 की हालत गंभीर बनी हुई है.

ये हादसा आंध्र प्रदेश के एलुरु जिले के अक्की रेड्डीगुडेम में स्थित एक केमिकल फैक्टरी में हुआ. ये हादसा 13 अप्रैल बुधवार की रात करीब 11 बजे के आसपास हुआ. एलुरु के जिलाधिकारी वी प्रसन्ना वेंकटेश ने घटनास्थल का दौरा किया और जांच लंबित रहने तक ‘पोरस लैबोरेटरीज’ की इकाई को तत्काल बंद करने का आदेश दिया।

वेंकटेश ने पत्रकारों से कहा, ‘‘हम हादसे के कारणों का पता लगाने की कोशिश कर रहे हैं। क्या उच्च दबाव के कारण ‘रिएक्टर’ में विस्फोट हुआ, क्या खतरनाक रसायनों का इस्तेमाल किया जा रहा था... हम ऐसे सभी पहलुओं की जांच करेंगे। हम इस बात की भी जांच कर रहे हैं कि संयंत्र के संचालन में किसी नियम का उल्लंघन तो नहीं हुआ।’’

राज्य के मुख्य सचिव समीर शर्मा ने नयी दिल्ली से एलुरु के जिलाधिकारी से फोन पर बात की और घटना की जानकारी ली। मुख्य सचिव ने जिलाधिकारी को हादसे की गहन जांच कर रिपोर्ट सौंपने का निर्देश दिया।

राज्य आपदा मोचन बल और अग्निशमन विभाग के कर्मचारियों के साथ ही राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) के जवानों ने राहत एवं बचाव अभियान चलाया। आग पर कुछ घंटों में काबू पा लिया गया और स्थिति अब सामान्य बताई जा रही है।

अक्की रेड्डीगुडेम के निवासियों ने संयंत्र के बाहर प्रदर्शन किया और इसे गांव से तत्काल हटाने की मांग की। ग्रामीणों ने आरोप लगाया कि संयंत्र से जल और वायु प्रदूषण फैल रहा है, जिससे उन्हें पेरशानियां हो रही हैं।

प्रदर्शन कर रहे ग्रामीणों ने कहा, ‘‘प्रदूषण के कारण फसलें भी ठीक से नहीं बढ़ रही हैं। हम लंबे समय से मांग कर रहे हैं कि संयंत्र को यहां से कहीं और स्थानांतरित कर दिया जाए।’’

हैदराबाद स्थित ‘पोरस लैबोरेटरीज’ के आंध्र प्रदेश और तेलंगाना में पांच संयंत्र हैं। यह कंपनी ‘फार्मास्युटिकल इंटरमीडिएट’ और विशेष रसायनों का निर्माण करती है।

बुधवार रात हादसे के समय इकाई-4 में 50 से अधिक कर्मचारी काम कर रहे थे, जिनमें से कम से कम पांच लोगों की मौके पर ही मौत हो गई। एक अन्य कर्मचारी ने नुज्विद स्थित अस्पताल ले जाते समय दम तोड़ दिया। मृत कर्मचारियों में से चार बिहार के बताए जा रहे हैं।

पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि हादसे में झुलसे 12 कर्मचारियों को नुज्विद स्थित अस्पताल में प्राथमिक उपचार दिया गया। इनमें से जो 80 प्रतिशत तक झुलए गए थे, उन्हें विजयवाड़ा के एक सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया।

नुज्विद के विधायक प्रताप अप्पा राव ने भी इकाई को दौरा किया और इसे एक हादसा बताया।

विधायक के मुताबिक, राज्य सरकार ने मृतकों के परिजनों को 25-25 लाख रुपये की अनुग्रह राशि देने की घोषणा की है और फैक्टरी के प्रबंधक भी उन्हें इतनी ही राशि देंगे।

उन्होंने बताया कि राज्य सरकार गंभीर रूप से झुलसे लोगों को पांच-पांच लाख रुपये और मामूली रूप से घायल लोगों को दो-दो लाख रुपये देगी।

आंध्र प्रदेश के राज्यपाल बिस्वा भूषण हरिचंदन, मुख्यमंत्री वाईएस जगनमोहन रेड्डी, विपक्ष के नेता एन चंद्रबाबू नायडू, जन सेना प्रमुख के पवन कल्याण, कांग्रेस की प्रदेश इकाई के अध्यक्ष साके शैलजानाथ और अन्य नेताओं ने हादसे पर दुख जताया है।

Related Stories

No stories found.