भूतिया सीरियलों ने बीमार कर दिया ब्रिटेन को, यूरोप के देशों में डर ने बनाया अपना घर

आमतौर पर लोगों में एंज़ाइटी (ANXIETY) इंसोमनिया (INSOMNIA), अवसाद (DEPRESSION), ओब्सेसिव कंपल्सिव डिसऑर्डर (OCD) और पोस्ट ट्रॉमेटिक स्ट्रेस डिसऑर्डर (PTSD) जैसी बीमारी के लक्षण देखे जाते हैं लेकिन अब लोगों के भीतर फियर (FEAR) यानी डर नाम की बीमारी ने अपना घर बना लिया है।
भूतिया सीरियलों ने बीमार कर दिया ब्रिटेन को, यूरोप के देशों में डर ने बनाया अपना घर
सांकेतिक तस्वीर

डर का बढ़ने लगा है घर

WORLD NEWS: अब डर ने दुनिया को अच्छी तरह से डराना शुरू कर दिया है। आलम ये है कि डर की वजह से पूरी दुनिया में मानसिक रोगियों की तादाद बहुत तेज़ी से बढ़ने लगा है। अभी कोरोना का डर पूरी तरह से ख़त्म भी नहीं हो पाया था कि इस नए डर ने लोगों के दिलों में घर करना शुरू कर दिया है।

पिछले कुछ अरसे में इस बात पर ग़ौर किया गया है कि यूरोप में भूत से डरने वालों की तादाद बेतहाशा बढ़ गई है। हालात ये हो गए हैं कि लोग चलते चलते बड़बड़ाने लगे हैं। नींद से उठकर हड़बड़ाकर बैठ जाते हैं। कोई भारी चीज़ गिरती है तो लोग चौंक जाते हैं और काफी देर तक सहमे रहते हैं।

आलम ये हो गया है कि लोगों ने अब इस डर से बचने के लिए घरों में कई तरह के उपकरण लगवाने शुरू कर दिए हैं। लोग घरों में साउंड डिटेक्टर डिवाइस लगवाने लगे हैं। कुछ लोग तो भूत देखने वाले कैमरे तक घरों में फिट करवा रहे हैं। हालात इतने बिगड़ने लगे हैं कि बीमारों को अब घोस्ट हंटर्स से लेकर डॉक्टरों के अस्पतालों तक पहुँचाया जा रहा है।

घोस्ट हंटर्स की बढ़ने लगी है मांग

WORLD NEWS IN HINDI:आमतौर पर पूरे यूरोप से ऐसे मामलों की बड़ी तादाद सामने आई है लेकिन ब्रिटेन की हालत यूरोप के तमाम देशों के मुकाबले ज़्यादा ख़राब है। ब्रिटेन में पैरानॉर्मल एक्टिविटी करने वाले और साइंटिफिक तरीक़े से भूत जैसी चीजों का पता लगाने वाले लोगों और घोस्ट हंटर्स की मांग अचानक बढ़ गई।

सवाल उठता है कि आखिर ये सब हुआ कैसे। कोरोना के समय में जब ज़्यादातर लोग अपने अपने परिवारों के साथ घरों में दुबके हुए थे तो ऐसा क्या हुआ कि अब लोग घरों में अकेले रहने से डरने लगे हैं और ऐसी ऐसी हरक़तें करने लगे हैं जिन्हें कोरोना से पहले वाले दौर में सामान्य माना जाता था।

लंदन में गोल्डस्मिथ यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर क्रिस्टॉफ़र फ्रेंच के मुताबिक एक अध्ययन से पता चला है कि कोरोना के वक़्त जिन लोगों ने ज़्यादातर वक़्त घरों में बिताया उस दौरान लोगों ने जमकर डरावने सीरियल देखे, थ्रिलर ड्रामों को अपने खाली वक़्त का साथी बना लिया और टेलीविज़न पर डरावने कार्यक्रमों को खूब देखा गया। नतीजा ये हो गया कि उससे लोगों के भीतर डर की एक अजीब प्रवत्ति बढ़ गई।

डर से डरने लगा पूरा यूरोप

WORLD NEWS : सोशल मीडिया पर ऐसे वीडियो को भरमार हो गई है जब लाइट बंद हो जाने पर लोग शोर मचाने लगते हैं, या रात को अजीब सी आवाज़ आने पर बुरी तरह से डर जाते हैं। इस बीमारी के लक्षण भी ऐसे हैं जिन्हें बेहद मामूली ही कहा जा सकता है। ऐसे लोग जो डरते हैं उन्हें नींद न आने की समस्या हो जाती है। ये लोग अक्सर सोच में डूबे दिख जाते हैं और हर वक़्त इनमें बेचैनी देखी जा सकती है। ज़ाहिर है इस डर ने अब समूचे यूरोप को डरा दिया है।

Related Stories

No stories found.