MP बनते ही Extortion की FIR, मांगे 1 Crore रुपये, रंगदारी का केस दर्ज हुआ तो भड़के पप्पू यादव

ADVERTISEMENT

CrimeTak
social share
google news

Purnia, Bihar: लोकसभा चुनावों (General Election) में निर्दलीय उम्मीदवार के तौर पर जीत हासिल करके बिहार समेत पूरे देश की मीडिया (Media) की सुर्खियों में छा जाने वाले सांसद राजीव रंजन उर्फ पप्पू यादव (Pappu Yadav) अभी अपनी जीत का जश्न ढंग से मना भी नहीं पाए थे कि कानून का शिकंजा उनके इर्द गिर्द कसने लगा। नए नए सांसद (MP) बने पप्पू यादव के खिलाफ पूर्णिया के मुफस्सिल थाने में एक FIR दर्ज हुई है, और 10 जून को दर्ज हुई उस FIR के मुताबिक पप्पू यादव पर रंगदारी यानी एक्सटॉर्शन (Extortion) मांगने और जान से मारने की धमकी देने का संगीन मामला दर्ज हुआ है।

पुलिस में ये FIR पूर्णिया के एक जाने माने फर्नीचर कारोबारी (Businessmen) ने दर्ज करवाई है। जिसमें दावा किया गया है कि पप्पू यादव ने पूरे एक करोड़ रुपये की रंगदारी मांगी और जिस अंदाज में फोन पर धमकी (Life Threat) दी उसने दहशत पैदा कर दी है। इसी बीच पप्पू यादव का जवाब भी सामने आ गया है। निर्दलीय सांसद पप्पू यादव का कहना है कि सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) की निगरानी में जांच करवा ली जाए और जो दोषी हो उसे फांसी पर लटका दिया जाए। 

1 Crore की मांगी रंगदारी

थाने में दर्ज की गई FIR में लिखवाया गया है कि पप्पू यादव की तरफ से किए गए फोन में कहा गया था, एक करोड़ दो नहीं तो पूर्णिया ही छोड़ दो। चुनाव जीतने के 6 दिन बाद ही केस दर्ज हो गया है। पूर्णिया पुलिस के मुताबिक पीड़ित फर्नीचर कारोबारी ने शिकायत में बताया है कि 4 जून को मतगणना वाले दिन पप्पू यादव ने उसे अपने घर बुलाया था। जब वो कारोबारी पप्पू यादव के घर पहुंचा तो उन्होंने उससे 1 करोड़ रुपए देने के लिए कहा। पीड़ित ने पुलिस को यह भी बताया,'पप्पू यादव ने पैसे मांगने के साथ-साथ उन्हें धमकी भी दी। उन्होंने कहा कि अगर पैसे नहीं मिले तो उसे जान से मार दिया जाएगा। इसके अलावा पप्पू यादव ने यह भी कहा कि अगले पांच साल तक वह पूर्णिया के सांसद रहने वाले हैं और उसे तब तक उनसे निपटते रहना होगा।

ADVERTISEMENT

पप्पू यादव के खास के खिलाफ शिकायत

फर्नीचर कारोबारी ने लिखित आवेदन में कहा है कि लोकसभा चुनाव के दौरान भी सांसद राजीव रंजन उर्फ पप्पू यादव के खास अमित यादव ने फोन किया था। पांच अप्रैल 2024 को मोबाइल पर करीब 10 से 15 कॉल करके पप्पू यादव के आवास अर्जुन भवन पर बुलाया गया था। साथ में 25 लाख रुपये रंगदारी मांगी गई थी। इसके अलावा यह भी आरोप लगाया गया है कि साल 2023 में दुर्गा पूजा के दौरान मोबाइल एवं व्हाट्सएप कॉल पर 15 लाख रुपये और दो सोफा सेट मांगने के साथ-साथ धमकी एवं गाली गलौज की गई थी। फर्नीचर कारोबारी की शिकायत के आधार पर पूर्णिया के मुफस्सिल थाने में सांसद पप्पू यादव और अमित यादव पर केस दर्ज हुआ है। 

FIR पर भड़के पप्पू यादव

केस दर्ज होने के बाद पप्पू यादव का जवाब भी सामने आया है। इस एफआईआर के खिलाफ पप्पू यादव ने ट्वीट करके कहा है, 'देश प्रदेश की राजनीति में मेरे बढ़ते प्रभाव और आम लोगों के बढ़ते स्नेह से परेशान लोगों ने आज पूर्णिया में घृणित षड्यंत्र रचा है। एक अधिकारी और विरोधियों की इस साजिश को पूर्ण रूप से बेनकाब करेंगे। सुप्रीम कोर्ट के अधीन इसकी निष्पक्ष जांच करवाई जाए, जो दोषी हो उसे फांसी दे दें। 
 

ADVERTISEMENT

    यह भी पढ़ें...

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT