जाली नोट क्या है ? What is Fake Currency ?

जाली करेंसी क्या है ? What is Fake Currency ? ये वो करेंसी होती है जो असली की तरह छाप ली जाती है। इसे ही जाली करेंसी कहां जाता है ? इससे किसी भी देश की अर्थ व्यवस्था पर असर पड़ता है।
FILE PHOTO
FILE PHOTO

जाली करेंसी क्या है ? What is Fake Currency ?

ये वो करेंसी होती है जो असली की तरह छाप ली जाती है। इसे ही जाली करेंसी कहां जाता है ? इससे किसी भी देश की अर्थ व्यवस्था पर असर पड़ता है।

इससे Economy पर क्या असर पड़ता है ? What effect does this have on the economy?

इससे क्या फर्क पड़ता है ? इससे नकली रुपए देकर असली चीज ले ली जाएगी, लेकिन जब पता चलेगा कि नकली करेंसी थी, जो उसे जब्त कर लिया जाएगा या फिर वो करेंसी मार्केट में सरकुलेट हो जाएगी। तो साफ है इससे जो चीजें खरीदी गई , वो उस दुकानदार ने किसी से खरीद कर बेची होगी। ऐसे में उसका तो नुकसान हुआ ही। साथ साथ उससे सरकार का भी नुकसान होगा। मार्केट में नकली करेंसी का फ्लो बढे़गा, वहीं असली करेंसी का फ्लो कम हो जाएगा। नकली करेंसी जब्त होने से पहले असली करेंसी की real value कम हो जाएगी। इससे ecomomy पर असर पडे़गा।

इससे देश में काला धन बढ़ता है और यह धन अक्सर आतंकवाद को बढ़ावा देने या आपराधिक गतिविधियों को सुचारू रूप से चलाने में भी प्रयोग किया जाता है। लिहाजा जाली नोट बनाने व जानबूझकर इसे असली नोटे की तरह इस्तेमाल करने पर कानूनी कार्रवाई का प्रावधान है।

नकली करेंसी रखने, छापने,और उसका इस्तेमाल करने पर कितनी सजा का प्रावधान है ? What is the punishment for possessing, printing and using counterfeit currency?

अगर आपके पास नकली करेंसी मिली तो आपके खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा IPC की धारा 489( क), 489( ख), 489(ग), 489(घ) और 489(ड.) के तहत कार्रवाई हो सकती है। नकली करेंसी रखना, उसे छापना, उसे वितरित करना, उसका इस्तेमाल सबकी गैर कानूनी है।

क्या कहती है IPC धारा 489 (क) What does IPC section 489(a) say?

अगर कोई भी व्यक्ति नकली नोट छापते हुए और बाज़ार में इसकी खपत करते हुए पकड़ा जाता है या 4 से अधिक जाली नोट मिलने पर कानूनी कार्रवाई होगी।

इसमें उसे 1 साल का कारावास हो सकती है और जुर्माने लग सकता है।

धारा 489( ख) की परिभाषा क्या है ?

यदि नकली नोटों का इस्तेमाल करते हुए असली नोटों की तरह उससे आर्थिक लाभ प्राप्त करना दण्डनीय अपराध की श्रेणी में आता है।

धारा 489 ( ग) की क्या परिभाषा है ?

कोई व्यक्ति बैंकों में या अन्य संस्थानों में नकली करेंसी को असली की तरह इस्तेमाल कर रहा है तो वो अपराध है। अगर वो व्यक्ति नकली नोट को अपने पास रख रहा है या बैंक खाते में नकली नोट जानबूझकर जमा करवा कर रहा है तो ये भी अपराध है।

असली नोट की तर्ज पर फेक करेंसी बनाने या इस्तेमाल करने पर 7 साल से लेकर उम्र कैद तक की सजा का प्रावधान है।

Related Stories

No stories found.
Crime News in Hindi: Read Latest Crime news (क्राइम न्यूज़) in India and Abroad on Crime Tak
www.crimetak.in