Sonali Phogat: कैसे सिद्ध होगा कि सांगवान ने सोनाली को जबरन पिलाई ड्रग्स ? क्या कहते हैं कानून के जानकार

Sonali Phogat: सोनाली केस में कई सवाल खड़े हो गए है। मसलन उसकी मौत क्या जानबूझकर रची गई साजिश है ? या फिर ये एक दुर्घटना है। क्या कहना है कानून के जानकारों का
Sonali Phogat death
Sonali Phogat death

How will it be proved that Sangwan forcibly administered drugs to Sonali? What do law experts say

कैसे सिद्ध करेंगे कि सांगवान ने जबरन पिलाई ड्रग्स ? क्या कहते हैं कानून के जानकार

सोनाली केस में कई सवाल खड़े हो गए है। मसलन उसकी मौत क्या जानबूझकर रची गई साजिश है ? या फिर ये एक दुर्घटना है। कानून के जानकार मानते हैं कि सोनाली केस के आरोपियों के खिलाफ हत्या के तहत केस सिद्ध करना बेहद मुश्किल है। उनका कहना है कि जो सीसीटीवी फुटेज सामने आई है, उसके मुताबिक ये कैसे कहां जा सकता है कि उसे जबरन ड्रग्स पिलाई गई ? इसके लिए कई चीजें का होना जरूरी है।

वरिष्ठ वकील कपिल सांखला का कहना है कि इसके लिए पूरी सीसीटीवी फुटेज देखनी जरूरी है। इसके अलावा इस मामले में सहायक सबूत भी ये इशारा कर रहे हो कि जानबूझकर इतनी ड्रग्स दी गई, जिससे मौत हो गई।

अपराध में दो चीजें होती है। पहला KNOWLEDGE और दूसरा भाव यानी INTENTION। जानकारी की कमी की वजह से बड़ी बड़ी वारदातें हो जाती है। उदाहरण के तौर पर समझते है। जैसे आपको ये पता है कि ज्यादा ड्रग्स लेने से मौत हो सकती है। या आपको ये नहीं पता है कि ज्यादा ड्रग्स लेने से मौत हो सकती है। ऐसे में ये कैसे सिद्ध होगा कि आपको इसकी जानकारी नहीं है या है। अब सवाल ये भी खड़ा होता कि जानकारी होनी चाहिए या नहीं होनी चाहिए। फिर सवाल ये भी कि क्यों होनी चाहिए जानकारी ? और क्यों नहीं होनी चाहिए जानकारी।

दूसरी परिस्थिति होती है भाव यानी INTENTION। ये आपको पता होना चाहिए कि ज्यादा ड्रग्स की डोज लेने से इंसान मर सकता है। फिर भी आपने ड्रग्स दी और उससे मौत हो गई। यहां परिस्थिति थोड़ी अलग है। आपको ये जानकारी तो है कि उसकी मौत हो सकती थी, लेकिन यहां आपका भाव उसकी जान लेना नहीं, बल्कि ज्यादा ये था कि दोनों ज्यादा -नशे करे और ENJOY करें।

अब ये बात तो आरोपी ही बता सकता है कि उसका मकसद क्या था और वो सच कौन बताता है ? लेकिन इसके साथ सहायक सबूत काम आ सकते हैं। मसलन कोई गवाह बोल दे कि आरोपी सांगवान प्रापर्टी हड़पना चाहता था या फिर कोई ऐसा दस्तावेज मिल जाए जो ये इशारा कर रहा था कि कोई साजिश चल रही थी तो सजा हो सकती है।

वकील कपिल सांखला के मुताबिक,'इस केस में जो वीडियो सामने आई है, वो अधूरी है। पूरी वीडियो देखने की जरूरत है जिससे साफ हो सके कि जबरन ड्रग्स दिया गया या नहीं। शिकायत में ये बताने की कोशिश की गई है कि Sonali phogat को बिना उनकी मर्ज़ी के ज़बरदस्ती से MBMA नामक ड्रग्स को पानी में मिलाकर दिया गया था और उसकी overdose से उनकी मृत्यु हो गई। अगर ये सच है तो ड्रग्स की ख़रीदारी, उसे खाना, उसको किसी को और भी लेना या देना क़ानूनी ज़ुर्म है।'

ऐसे में ये केस काफी मजबूत है कि उनके पास ड्रग्स मिली। उन्होंने ड्रग्स का सेवन किया। अब पुलिस कड़ियां भी जोड़ रही है कि ड्रग्स कहां से कहां तक पहुंची, लेकिन इसका मकसद किसी की हत्या करना था, ये थोड़ा मुश्किल है। देखना होगा कि आने वाले दिनों में इस केस का क्या हश्र होगा।

Related Stories

No stories found.
Crime News in Hindi: Read Latest Crime news (क्राइम न्यूज़) in India and Abroad on Crime Tak
www.crimetak.in