Salman Khan Firing Case: जिस बंदूक से सलमान के घर फायरिंग हुई थी, वो नदी से बरामद! देखें वीडियो

ADVERTISEMENT

Salman Khan Case: सलमान खान फायरिंग केस में बड़ा अपडेट सामने आ रहा है।

social share
google news

Salman Khan Case: सलमान खान फायरिंग केस में बड़ा अपडेट सामने आ रहा है। इस मामले में पुलिस ने वो हथियार बरामद कर लिया है, जिसे आरोपियों ने तापी नदी में फेंका था। बाकायदा गोताखोरों ने इसे तलाश लिया। क्राइम ब्रांच, मुंबई टीम द्वारा गुजरात के सूरत में तापी नदी पर चलाए गए तलाशी अभियान के दौरान दो बंदूकें, 13 लाइव राउंड्स और 3 पत्रिकाएं मिली हैं। ये सभी आरोपियों ने नदी में फेंकी थी। ऐसे में पुलिस को इस केस का सबसे अहम सबूत यानी हथियार उनके हाथ लग गया है।

तापी नदी से हथियार बरामद

पुलिस ने दो शूटरों को पकड़ा था। इनके नाम सागर कुमार पाल और विक्की गुप्ता हैं। दरअसल, ये केस पुलिस के लिए सुलझा पाना आसान नहीं था, लेकिन डंप डाटा और दाढ़ी की मदद से पुलिस आरोपी तक पहुंच सकी। आरोपी सागर कुमार पाल की दाढ़ी का स्टाइल थोड़ी अलग था। सागर कुमार पाल के चेहरे पर उसके होठों के ठीक नीचे और ठुड्ढी के थोड़ा ऊपर ये जो दाढ़ी मौजूद है, उसे 'सोल पैच' दाढ़ी कहते हैं।

'सोल पैच' दाढ़ी बनी मुसीबत 

बस यही वो क्लू था, जिसके जरिए पुलिस आरोपी तक पहुंच गई। पुलिस आरोपियों की लोकेशन ट्रैक कर रही थी। इस दौरान आरोपी सूरत से अहमदाबाद होते हुए कच्छ यानी भुज की तरफ जा रहे थे। जांच में सामने आया है कि भुज के नखत्राणा इलाके के नजदीक पहुंच कर अचानक दोनों ने अपना मोबाइल फोन स्विच्ड ऑफ कर लिया। ऐसे में आरोपी किस दिशा की तरफ भागे हैं, ये बता पाना मुश्किल था। अब पुलिस ने सोल-पैच स्टाइल वाली दाढ़ी के बारे में पूछना शुरू किया। तभी पुलिस को क्लू मिल गया और आखिरकार आरोपी पकड़े गए।

ADVERTISEMENT

ADVERTISEMENT

एक रात पहले मिले थे हथियार

आरोपियों ने बताया था कि उन्होंने फायरिंग को अंजाम देने के बाद हथियार को सूरत की एक नदीं में फेंक दिया था। ये भी पता चला है कि सलमान के घर फायरिंग से एक रात पहले दोनों को हथियार मिले थे। उन्हें ये काम अनमोल बिश्नोई ने सौंपा था।

बाइक से आए थे शूटर्स

13 अप्रैल को फायरिंग के लिए हथियार सौंपे गए थे। यह हथियार उन्हें बांद्रा में एक पुल के नीचे एक अज्ञात शख्स ने दिए थे। दोनों को डायरेक्शन अनमोल बिश्नोई ने दिए थे। जांच में ये बात सामने आई है कि आरोपियों ने सेकंड हैंड बाइक खरीदी थी और फिर फायरिंग की थी। पुलिस की जांच में पता चला की जिस बाइक से शूटर आए थे, वो बाइक उन्होंने रायगढ़ जिले के पेन तहसील के रहने वाला है एक आदमी से खरीदी थी। उसने खुलासा किया है कि उसने ही इस बाइक को कुछ समय पहले उन्हें बेच दिया था।

ADVERTISEMENT

ये था पूरा घटनाक्रम!

मुंबई पुलिस की जांच में ये बात सामने आई थी कि आरोपी लंबे समय से मुंबई और उसके आसपास के शहरों में ही थे। बाइक खरीदने के बाद उन्होंने सलमान के घर के बाहर रेकी भी की थी। पुलिस का कहना है कि आरोपियों ने रेकी एक बार नहीं, बल्कि कई बार की थी। आरोपियों ने रेकी सिर्फ सलमान के घर की ही नहीं, बल्कि बांद्रा से निकलने के लिए हर एक सड़क की भी रेकी की थी। यही वजह है कि आरोपियों ने माउंट मेरी की सड़क चुनी, जहां आसानी से बाइक पार्क की और फिर फरार हो गए।

पुलिस की तफ्तीश में ये बात सामने आई है कि आरोपी गैलेक्सी अपार्टमेंट में फायरिंग के बाद जब माउंट मेरी पहुंचे तो उन्होंने बाइक छोड़ एक ऑटो पकड़ा। उससे बांद्रा गए फिर ट्रेन पकड़ी, वहां से सांटाक्रूज स्टेशन उतर गए। वहां से वाकोला फिर ऑटो पकड़ कर गए। 

    यह भी देखे...

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT