7 घंटे बाद मरना था, घर वालों से मुलाक़ात भी हो चुकी थी, तभी अचानक उसकी फांसी रोकनी पड़ी

ADVERTISEMENT

7 घंटे बाद मरना था, घर वालों से मुलाक़ात भी हो चुकी थी, तभी अचानक उसकी फांसी रोकनी पड़ी

social share
google news

SHAMS KI ZUBANI: 7 घंटे बाद मरना था, घर वालों से मुलाक़ात भी हो चुकी थी, तभी अचानक उसकी फांसी रोकनी पड़ी. 

ADVERTISEMENT

    यह भी देखे...

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT