दिल्ली की साक्षी की तरह देश में हर 10वां कत्ल लव, अफेयर और अवैध संबंधों में हो रहा, मर्डर की इनसाइड स्टोरी

ADVERTISEMENT

Delhi Crime News : दिल्ली में साक्षी हत्याकांड पूरे देश में हर 10वें मर्डर की वजह यही है. पढ़िए ये खास रिपोर्ट.

social share
google news

Delhi Sakshi Murder Case : दिल्ली में इश्क में फिर एक खूनी मर्डर. कत्ल उस साक्षी की. जिसे साहिल ने अंजाम दिया. लेकिन क्या ये मर्डर सिर्फ कुछ गिने चुने केस में हैं या फिर पूरे देश में ऐसा ही ट्रेंड चल रहा है. तो आपको बता दें कि हर 10वां कत्ल लव अफेयर और अवैध संबंधों में हो रहे हैं. इश्क में कत्ल पर शम्स ताहिर खान की ये स्पेशल रिपोर्ट पढ़िए…

साक्षी की इनसाइड स्टोरी का वीडियो सबसे नीचे देख सकते हैं

ये ज़ुल्म तू ऐ जल्लाद न कर

ऐ इश्क़ हमें बर्बाद न कर


कायदे से मुहब्बत वो एहसास है जो हर दिल में रहता है... वो जज्बा है जो कायनात के जर्रे जर्रे में बिखरा है... और बस मुहब्बत की इसी एक फितरत पर नफरत को भी मुहब्बत से नफरत है... वो दौर अलग था, जब मुहब्बत में जान देने की बातें हुआ करती थीं... ये दौर अलग है यहां मुहब्बत खुद दिलों में खंजर उतार कर अपनी ही मुहब्बत की जान ले रही है... 

लव अफेयर में कत्ल



हर 10वां कत्ल इश्क और लव अफेयर में


इस वक्त लगभग 140 करोड़ हैं हम... इस 140 करोड़ की आबादी के बीच हर दिन हर महीने हर साल न जाने कितने ही जुर्म होते हैं... हमारे देश में होनेवाले जुर्मों का बही खाता रखनेवाली एनसीआरबी यानी नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो के सबसे ताजा 2021 के आंकड़ों पर नजर डालें तो पता चलता है कि इश्क में लोग अब जान नहीं देते, जान लेते हैं... जी हां, एनसीआरबी के सबसे ताजा आंकड़ों के मुताबिक भारत में जिन वजहों से सबसे ज्यादा कत्ल होते हैं, उनमें लव अफेयर यानी इश्क में होनेवाला कत्ल तीसरे नंबर पर आता है... देश में होनेवाले हर दस कत्ल में एक कत्ल किसी ना किसी आशिक या माशूक के हाथ से ही होता है... 

ADVERTISEMENT

ADVERTISEMENT


19 अलग-अलग वजहों से हो रहे हैं मर्डर


2021 के आंकड़ों के मुताबिक पूरे देश में कुल 29 हजार 272 कत्ल के मामले सामने आए... ये तमाम कत्ल 19 अलग-अलग वजहों से हुए... मसलन, निजी दुश्मनी, सांप्रदायिक और धार्मिक वजहें, राजनीतिक वजह, डायन प्रथा, जातिवाद, विवाद, लूट-डकैती। लेकिन परेशान करनेवाली बात ये है कि इन 19 वजहों में से तीसरे नंबर पर कत्ल की जो वजह बनी, वो प्यार मुहब्बत और धोखा है... 29 हजार 272 कत्ल के कुल मामलों में से 3125 मामले लव अफेयर से जुडे हैं... अगर कुल मिलाकर कत्ल की वजह की बात करें, तो लव अफेयर से ऊपर पहले और दूसरे नंबर पर जो वजहें हैं वो हैं निजी दुश्मनी और सांप्रदायिक और धार्मिक कारणों से हत्या... 

अवैध संबंधों में कत्ल

अवैध संबंधों में भी कत्ल के बढ़ते केस


लव अफेयर के साथ-साथ देश में अवैध संबंधों की वजहों से होनेवाले कत्ल की गिनती भी बढ़ी है... एनसीआरबी के सबसे ताजा आंकड़ों के मुताबिक 2021 में इश्क और अवैध संबंधों की वजह से जिन राज्यों में सबसे ज्यादा कत्ल हुए, उनमें यूपी पहले नंबर पर है... जबकि केरल, पश्चिम बंगाल और नॉर्थ ईस्ट के तमाम राज्य सबसे निचली पायदान पर... ऐसा नहीं है कि इश्क में पहले कत्ल नहीं हुआ करते थे, पहले भी आशिकों ने हाथों में खंजर या तमंचे उठाए हैं, लेकिन 2010 के बाद से इश्क, बेवफाई और अवैध संबंध की वजह से होनेवाले कत्ल की तादाद तेजी से बढ़ी है... आंकडे और आईपीसी की नजर से देखें तो भारत में कुल 19 वजहें ऐसी उभर कर सामने आई हैं, जिनकी वजह से कत्ल होते हैं... लेकिन इश्क, कत्ल की एक वजह होगी और वो भी टॉप थ्री में अपनी जगह बनाएगी, ऐसा कुछ साल पहले तक किसी ने नहीं सोचा था... सोचता भी क्यों कर? इश्क में आशिक जान देते हैं, ना कि जान लेते हैं... इश्क की वजह से होनेवाले कत्ल के पिछले 10 सालों के आंकड़ों पर नजर दौड़ाएं तो साफ पता चलता है कि जैसे-जैसे सोशल मीडिया का चलन बढ़ा, इश्क खूनी होता चला गया... 

ADVERTISEMENT

दिल्ली में साक्षी की हत्या

इन आंकड़ों के हिसाब से 2010 से 2014 के दरम्यान लव अफेयर की वजह से होने वाले कत्ल का परसेंटेज 7-8 फीसदी के बीच में था... लेकिन 2015 से 21 के दरम्यान अचानक लव अफेयर की वजह से होनेवाले कत्ल का परसेंटेज बढ़ कर 10 से 11 फीसदी हो जाता है... और ये गिनती लगातार बढ़ रही है... एनसीआरबी के ही एक और डाटा के मुताबिक 2021 में देश भर में होनेवाले कुल 29 हजार 272 कत्ल में से 95 फीसदी कत्ल बालिग के हुए जबकि 5 फीसदी बच्चों के... जिन लोगों की हत्या हुई, उनमें से 73 फीसदी पुरुष थे, जबकि 26 फीसदी महिला... इसके अलावा 2021 में ही 10 ट्रांसजेडर का भी कत्ल हुआ... कत्ल होने वालों में पांच साल के बच्चे से लेकर 74 साल के बुजुर्ग भी शामिल रहे

इश्क में होनेवाले कत्ल के अलावा पति-पत्नी के बीच होनेवाले झगडे के दौरान कई कत्ल हुए... इनमें से ज्यादातर कत्ल की वजह एक्सटा मैरिटल अफेयर रही... एक आंकडे के मुताबिक 2022 में देश भर में पति के कत्ल के करीब 270 मामले सामने आए... इसी दौरान पति द्वारा पत्नी के कत्ल के भी लगभग ढाई सौ मामले सामने आए. जाहिर है आंकडे डरावने हैं... और इन्हीं आंकडों को सच करती जब साहिल, आफताब, ग्रीष्मा, डॉ राजेश, मारिया सुसाइराज, निक्की, अंकिता, अमिता, न जाने ऐसे कितने ही नाम और ऐसी कितनी ही तस्वीरें सामने आती हैं, तो अहसास करा जाती है कि अब मुहब्बत उस अहसास का नाम नहीं रहा, जो कभी हर दिल में रहा करता था... वो दौर अलग था, जब नाकाम मुहब्बत में एक दिल के टुकडे हजार हुआ करते थे... कोई यहां गिरता था, कोई वहां गिरता था... अब दौर बदल चुका है, आज आशिक दिल के टुकड़े पर नहीं रुकते... बल्कि जिस मुहब्बत का दम भरते हैं, जिस मुहब्बत में जीने मरने की कसमें खाते हैं, उसी मुहब्बत के सीधे टुकडे कर डालते हैं... 

    यह भी देखे...

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT