दिल्ली की हाईप्रोफाइल कॉलोनी में सनसनीखेज हत्याकांड, हत्या कर लाश बेड बॉक्स में छुपाई, दो आरोपी गिरफ्तार

ADVERTISEMENT

Delhi Sensational Murder: जानकारी के मुताबिक जंगपुरा की बी 17 कोठी में मेघालय सरकार के एडवोकेट जरनल अमित कुमार रहते हैं। एडवोकेट में एक घर के अंदर नौकर की डेडबॉडी मिली थी। ये लाश घर के बेड बॉक्स में मिली थी।

social share
google news

Delhi Sensational Murder: दिल्ली पुलिस क्राइम ब्रांच की टीम ने दिल्ली के भोगल में हुए हत्याकांड में चौंकाने वाला खुलासा किया है। जंगपुरा इलाके के हाईप्रोफाइल घर में बदमाशों ने लूट के दौरान हत्या की। हत्या एक वरिष्ठ वकील के आवास पर काम करने वाले घरेलू नौकर कमल की हुई थी। जांच के दौरान क्राइम ब्रांच ने दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है। क्राइम ब्रांच ने आरोपी अमन तिवारी और जिरजिस नाम के दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है। जानकारी के मुताबिक जंगपुरा की बी 17 कोठी में मेघालय सरकार के एडवोकेट जरनल अमित कुमार रहते हैं। एडवोकेट में एक घर के अंदर नौकर की डेडबॉडी मिली थी। ये लाश घर के बेड बॉक्स में मिली थी। मौके पर पहुंची पुलिस ने देखा कि प्लास्टिक की रस्सी से गला और पैर को बांधा गया था। पुलिस ने हत्या का केस दर्ज करजांच शुरू की थी। 

एडवोकेट जरनल के घर में हत्या

जानकारी के मुताबिक एडवोकेट जरनल अमित कुमार का केअर टेकर दीपक ने सोमवार रात करीब 9 बजे दो अज्ञात लोगों को चौथी मंजिल की ओर जाने वाली सीढ़ी पर खड़े देखा, जब उनसे पूछताछ की गई तो उन्होंने कहा कि वे इमारत में पानी की जांच करने आए हैं। इसके बाद इन आरोपियों ने दीपक को पकड़कर तीसरी मंजिल पर बांध दिया और इलेक्ट्रॉनिक तिजोरी का कोड पूछा। दीपक ने जब लूटपाट का विरोध किया तो रसोई में रखे चाकू से आरोपियों ने उस पर वार कर दिया। शोर से घबराकर एडवोकेट जनरल का बेटा आदित्य दूसरी मंजिल से तीसरी मंजिल पर आया और दीपक को चाकू मारने वाले दो अज्ञात व्यक्ति मौके से भाग गए। जांच के दौरान शुरू में पुलिस को ये शक था कि रसोइया कमल भी आरोपियों के साथ लूटपाट में शामिल था क्योंकि वह रात चाकूबाजी की घटना के बाद से लापता था। बाद में पुलिस टीम ने जब परिसर की तलाशी ली गई, तो उन्हें बेड ट्रंक के अंदर नौकर कमल का शव मिला। 

लाश घर के बेड बॉक्स में मिली 

क्राइम ब्रांच के स्पेशल सीपी रविंदर यादव ने बताया कि आरोपी जिरजिश पहले एडवोकेट जनरल के कार्यालय में कार्यरत था। एडवोकेट जनरल अमित कुमार ने करीब एक माह पहले उसे नौकरी से निकाल दिया गया था। जिसके चलते वह अपमानित महसूस कर रहा था इसलिए वह बदला लेने के साथ-साथ घर में रखे पैसे भी लूटना चाहता था। इसी कड़ी में जिरजिश ने अपने साथी के साथ लूट की योजना बनाई और अमित कुमार के घर में दाखिल हो गया। आरोपियों ने सबसे पहले नौकर कमल की बेरहमी से लोहे की प्रेस व प्रेस केबल से गला घोंटकर हत्या कर दी और उसके शव को बेड बॉक्स के अंदर फेंक दिया। एक हत्या करने के बाद आरोपियों ने दूसरे नौकर दीपक पर चाकू से हमला किया और उसे कपड़े से बांध दिया। आरोपियों ने हत्या के बाद पैसों की तिजोरी को ईंटों से तोड़ने की कोशिश की। इसी बीच शोर शराबा सुनकर एडवोकेट जनरल का बेटा भी मौके पर पहुंच गया तो लुटेरे घर से भाग गए। जांच के दौरान क्राइम ब्रांच ने पूरी दिल्ली में छापेमारी की गई और दोनों आरोपियों को अलग-अलग जगहों से गिरफ्तार कर लिया। जिरजिश बस स्टैंड से यूपी भागने की फिराक में था जबकि अमन को बवाना से गिरफ्तार किया गया।

ADVERTISEMENT

    यह भी देखे...

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT