देखें लेडी किलर का वीडियो ... बच्चे से इतनी नफरत कि उसे तड़पा-तड़पा कर मार डाला इस लेडी किलर ने, ये कहानी हैरान कर देगी

ADVERTISEMENT

Delhi Inderpuri Murder Case: दिल्ली के इंद्रपुरी में एक 11 साल के बच्चे की हत्या के मामले का खुलासा हो गया है। इस सिलसिले में पुलिस ने एक महिला को अरेस्ट किया गया है। आरोपी का नाम पूजा है। इसी महिला ने अपने प्रेमी के बेटे की हत्या की थी।

social share
google news

लव, सेक्स, धोखा, मर्डर

Delhi Inderpuri Murder Case: जितेंद्र इंद्रपुरी की जेजे कालोनी में अपने परिवार के साथ रहता था। उसका एक बेटा था, जिसका नाम दिव्यांश था। अब दिव्यांश 11 साल का हो गया था। जितेंद्र की 2012-13 में शादी हुई थी। उसका एक ही बेटा था।

बात 2019 की है। उस वक्त जितेंद्र की दोस्ती पूजा हो गई। पूजा रणहौला में विकास नगर इलाके में रहती थीं। धीरे-धीरे जितेंद्र और उसके बीच नजदीकियां और बढ़ने लगे। एक वक्त ऐसा आया, जब दोनों शादी के लिए राजी हो गए, लेकिन पूजा चाहती थी कि पहले जितेंद्र अपनी पहली पत्नी से तलाक ले। इस बीच 17 अक्टूबर 2019 को पूजा और जितेंद्र ने ने आर्य समाज मंदिर में शादी कर ली। इसके बाद दोनों साथ रहने लगे।

ADVERTISEMENT

ADVERTISEMENT

सवाल ये है कि क्या जितेंद्र ने दबाव में शादी की? वो पूजा और अपनी पहली पत्नी से रिश्ता नहीं तोड़ना चाहता था। क्या वो रिश्ता इसलिए नहीं तोड़ना चाहता था, क्योंकि उससे अपने बच्चे से प्यार था?  आखिर जितेंद्र ने पूजा से शादी ही क्यों की?

 

ADVERTISEMENT

…जब दोनों एक साथ रहने लगे

 

जितेंद्र और पूजा दोनों एक किराए के मकान में रहने लगे। जितेंद्र ने अब अपनी पहली पत्नी को छोड़ दिया था। करीब 3 सालों तक वो पूजा के साथ रहा। इस बीच पूजा बार-बार उस पर कोर्ट में शादी करने का दबाव बनाने लगी। दोनों में अब छोटी-छोटी बातों पर लड़ाई होना शुरू हो गई। कहते हैं कि इस बीच जितेंद्र अपनी पहली पत्नी और बच्चे से बात करता था। उसका बच्चा उसे घर आने के लिए कहता रहता था। ये बात पूजा को पता चल गई। दोनों में इस बात को लेकर झगड़े होने लगे। पूजा का साफ-साफ कहना था कि जितेंद्र अब क्यों अपनी पहली पत्नी और बच्चे से बात करता है, जब उसने मुझसे शादी कर ली है।

 

आखिकार जितेंद्र अपने घर लौटा

 

आखिकार तंग आकर जितेंद्र ने पूजा को साफ कहा दिया कि वो अपनी पहली पत्नी को तलाक नहीं देगा। इसके बाद दिसंबर 2022 में वो फिर अपने घर लौट गया। सवाल ये भी है कि उसकी पहली पत्नी ने जितेंद्र को कैसे स्वीकार कर लिया?

अब पूजा खुद को ठगा सा महसूस कर रही थी। उसे लग रहा था कि जिसके लिए उसने सब कुछ किया, वो ही उसे धोखा देकर चला गया। पूजा के अंदर जितेंद्र और उसके परिवार को लेकर नफरत भर गई थी। वो उसे सबक सिखाना चाहती थी।

पूजा को लगता था कि जितेंद्र ने अपने बेटे दिव्यांश के कारण उससे शादी से इंकार किया। वो दिव्यांश को जिंतेंद्र और खुद के बीच का कांटा मानने लगी थी। वो बदले की आग में झुलस रही थी।

 

...पूजा के मन में चल रही थी साजिश

 

स्पेशल सीपी रविंद्र यादव के मुताबिक, अब पूजा ने जितेंद्र को सबक सिखाने का मन बनाया। उसे लगा कि क्यों न वो उसके बेटे की ही हत्या कर दे? मुश्किल ये थी कि उसे जितेंद्र के घर के बारे में जानकारी नहीं थी। पूजा ने 10 अगस्त को एक कॉमन फ्रेंड से इंद्रपुरी में जितेंद्र के घर का पता पूछा और वहां पहुंच गई। जब वहां पहुँची तो घर का दरवाजा खुला था। मासूम दिव्यांश बेड पर सो रहा था। घर में कोई नहीं था। उसी वक्त पूजा ने जितेंद्र और अपने बीच के कांटे को हटाने के लिए मासूम की जान ले ली। इसके बाद जितेंद्र के घर में बेड में लाश को छिपाकर भाग गई। गेट को बाहर से लाक कर दिया। सवाल ये भी है कि आखिर उस वक्त जितेंद्र और उसकी पत्नी कहां थे? क्या पूजा उसके बेटे की ही जान लेने आई थी?

जैसै ही जितेंद्र इंद्रपुरी की जे जे कालोनी में अपने घर पहुंचा तो हक्का बक्का रह गया। उसका बेटा गायब था। उसने आसपास तलाशने की कोशिश की और आखिरकार उसे अपने बेटे की लाश बेड के अंदर से ही मिल गई। पुलिस ने इस सिलसिले में जांच शुरू की।

 

300 सीसीटीवी कैमरों को पुलिस ने खंगाला

 

पुलिस ने सीसीटीवी कैमरे की फुटेज की मदद से पूजा की पहचान की। उसके बाद पूजा को ट्रेस करने के लिए नजफगढ़-नांगलोई रोड पर रणहौला, निहाल विहार और रिशल गार्डन इलाके के करीब 300 सीसीटीवी कैमरों की फुटेज को खंगाला। 3 दिनों की कड़ी मशक्कत के बाद आरोपी पूजा को बक्करवाला इलाके से गिरफ्तार करने में सफलता हाथ लगी। गिरफ्तारी के बाद पूजा ने अपना गुनाह कुबूल कर लिया है।

    यह भी देखे...

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT