Bengaluru Akansha Murder : हैदराबाद में दोस्ती, बैंगलुरू में 'मर्डर', दिल्ली के लड़के का कारनामा सुनकर हिल जाएंगे

ADVERTISEMENT

Bengaluru Akansha Murder Case : बैंगलुरू में भी एक लड़की की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई। आकांक्षा के गले में दुपट्टा बंधा हुआ था।

social share
google news

Bengaluru Akansha Murder Case : बैंगलुरू में भी एक लड़की की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई। आकांक्षा के गले में दुपट्टा बंधा हुआ था। उसकी बाडी फर्श पर पड़ी थीं। अब पुलिस तीन थ्योरिज पर काम कर रही है। ये हैं हत्या, खुदकुशी और हादसा।

आरोपी अर्पित 

आकांक्षा बिद्यासर वैसे तेलंगाना के गोदावरी खानी के जीवन बीमा नगर के कोडिहल्ली की रहने वाली थीं। 23 साल की आकांक्षा के कई सपने थे। उसने अच्छे से पढ़ाई की और वो हैदराबाद में सॉफ्टवेयर कंपनी में काम करने लगी। इस वक्त तेलंगाना की राजधानी हैदराबाद है और उसकी दूरी करीब 100 किलोमीटर है। नौकरी के दौरान उसकी दोस्त अर्पित से हुई। अर्पित दिल्ली का रहने वाला था और हैदराबाद में उसी कंपनी में काम करता था, जहां पर आकांक्षा काम कर रही थी।

आंकाक्षा की तस्वीर

 

ADVERTISEMENT

ADVERTISEMENT

Bengaluru Akansha : बाद में आकांक्षा को जॉब के सिलसिले में बैंगलुरू शिफ्ट होना पड़ा। यहां वो रूम शेयर कर रही थी। आरोपी अर्पित वहां वीकेंड पर आकांक्षा से मिलने आया करता था। दोनों के बीच अच्छा रिलेशनशीप था, लेकिन धीरे-धीरे छोटी-छोटी बातों पर दोनों का विवाद होना शुरू हो गया।

बात बीते सोमवार की है। जब आकांक्षा के फ्लैटमेट सोमवार 5 जून की शाम काम से लौटे तो उन्होंने जो नजारा देखा, वो हैरान करने वाला था। आकांक्षा के गले में दुपट्टा बंधा हुआ था। उसकी बाडी फर्श पर पड़ी थीं।

ADVERTISEMENT

 

अब सवाल ये उठता है कि अगर उसने खुदकुशी की तो उसका शव फर्श पर कैसे पड़ा था?  शव लटका होना चाहिए था।

क्या खुदकुशी के दौरान उसके वजन से दुपट्टा फट गया या जिस खूंटी से वो बंधा था, वो उखड़ गई?

 

घटना वाले दिन क्यों आया था अर्पित?

 

फ्लैटमेट के मुताबिक, 29 वर्षीय अर्पित गुरिजाला 5 जून को आकांक्षा को देखने आया था। अब सवाल ये उठता है कि आखिरी वक्त में ऐसा क्या हुआ जिसकी वजह से ये हालात पैदा हुए?

 

पोस्टमार्टम रिपोर्ट खोलेगी राज

 

पुलिस मामले की जांच कर रही है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार जिससे मौत की सही वजहों का पता चल सकेगा। उधर, आकांक्षा के घरवालों का आरोप है कि अर्पित ने ही उसका गला घोंटा और फिर लटका कर फरार हो गया।

 

अगर गलती नहीं की तो अर्पित फरार क्यों?

 

इस घटना के बाद से अर्पित फरार है। सवाल ये भी है वो फरार क्यों है? पुलिस उसके फरार दोस्त 29 साल अर्पित गुरिजाला की तलाश कर रही है। पुलिस ने आरोपी को ट्रैक करने के लिए चार विशेष टीमों का गठन किया है।
 

क्यों पुलिस को साजिश की बू आ रही है?

 

पुलिस को अंदेशा है कि आकांक्षा की तकिए से गला दबाकर हत्या की गई है। ऐसा प्रतीत होता है कि उसे आत्महत्या का रूप देने के लिए दुपट्टे से पंखे से लटकाने का प्रयास किया गया है। हालांकि ये आशंका व्यक्त की जा रही है, लेकिन पूरी जांच के बाद ही स्थिति साफ होगी।

 

    यह भी देखे...

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT