चोर चोर मौसेरे भाई! तालिबान ने कहा- ‘पाकिस्तान हमारा दूसरा घर

ADVERTISEMENT

CrimeTak
social share
google news

तालिबान (Taliban) के प्रवक्ता जबीउल्लाह मुजाहिद (Zabihullah Mujahid) ने कहा है कि पाकिस्तान (Pakistan) संगठन का दूसरा घर है। साथ ही पड़ोसी देश के साथ व्यापार और रणनीतिक संबंधों को गहरा करने की कसम खाई, तालिबानी प्रवक्ता ने ये भी कहा कि तालिबान भारत (India-Taliban) के साथ अच्छे रिश्ते चाहता है। गौरतलब है कि पाकिस्तानी मंत्री खुद इस बात को स्वीकर कर चुके हैं कि तालिबानी लड़ाके पाकिस्तान की राजधानी इस्लामाबाद (Islamabad) में रहते हैं।

जबीहुल्लाह मुजाहिद ने कहा,

अफगानिस्तान की सीमा पाकिस्तान से लगती है। जब धर्म की बात आती है तो हम परंपरागत रूप से करीबी हैं। दोनों ही देशों के लोग आपस में मिले-जुले हैं। इसलिए हम पाकिस्तान से अच्छे संबंधों की उम्मीद रख रहे हैं।

ADVERTISEMENT

तालिबान को दोनों हाथों में लड्डू चाहिए

इसके अलावा तालिबान के प्रवक्ता ने भारत के साथ अच्छे संबंध रखने की भी उम्मीद जताई है। यही नहीं भारत और पाकिस्तान के रिश्तों को लेकर भी तालिबान ने अपनी राय जाहिर की है। तालिबान ने कहा कि भारत और पाकिस्तान को आपस में बैठकर अपने बीच के मुद्दों को हल करना चाहिए। मुजाहिद ने कहा कि तालिबान भारत समेत दुनिया के तमाम देशों से अच्छे संबंध चाहता है। पाकिस्तान के चैनल ARY न्यूज से बात करते हुए मुजाहिद ने कहा कि अफगानिस्तान पर तालिबान के कब्जा जमाने में पाक का कोई रोल नहीं रहा है। तालिबान ने कहा कि पाकिस्तान ने कभी भी अफगानिस्तान के मामलों में दखल नहीं दिया है।

ADVERTISEMENT

अफगानिस्तान में लागू होगा शरिया कानून

ADVERTISEMENT

अफगानिस्तान में सरकार के गठन को लेकर तालिबान ने कहा कि हम देश में एक मजबूत शासन चाहते हैं, जो इस्लाम पर आधारित हो और सभी अफगानी उसका हिस्सा हों। इस बीच अल जजीरा की रिपोर्ट में दावा किया गया है कि तालिबान ने अमेरिका ग्वांतनामो बे जेल में बंद मुल्ला अब्दुल कय्यूम जाकिर को कार्यवाहक रक्षा मंत्री बनाने की तैयारी में है। तालिबान ने अब तक सरकार गठन को लेकर कुछ भी स्पष्ट तौर पर नहीं कहा है, लेकिन मुजाहिद ने कहा कि 31 अगस्त को अमेरिकी सैनिकों की वापसी से पहले इसका फैसला हो जाएगा।

आतंक के लिए नहीं होने देंगे जमीन का इस्तेमाल

इसके साथ ही तालिबान के प्रवक्ता ने कहा कि अमेरिका को अपने सैनिकों को वापस बुलाने की तारीख टालनी नहीं चाहिए। तालिबान के प्रवक्ता ने कहा कि हमने पूरे अफगानिस्तान पर कब्जा जमा लिया है। अब हम अपने देश की जमीन का इस्तेमाल किसी और देश के खिलाफ नहीं होने देंगे।

    यह भी पढ़ें...

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT