तिहाड़ जेल से लॉरेंस बिश्नोई का कनाडा में गोल्डी बरार से फोन पर बात करने का सबूत मिल गया

ADVERTISEMENT

CrimeTak
social share
google news

Sidhu Moosewala case Latest Update News : सिद्धू मूसेवाला हत्याकांड (Sidhu Moosewala death) के मुख्य आरोपी गैंग्स्टर लॉरेंस बिश्नोई (Lawrence Bishnoi) ने जेल से फोन का इस्तेमाल किया या नहीं. इसे लेकर तमाम सवाल उठाए जा रहे हैं. लेकिन आजतक/इंडिया टुडे के इन्वेस्टिगेटिव सीनियर जर्नलिस्ट अरविंद ओझा की एक्सक्लूसिव रिपोर्ट में दावा है कि गैंग्स्टर लॉरेंस बिश्नोई तिहाड़ जेल में लगातार फोन का इस्तेमाल करता था.

जेल से फोन के जरिए वो गोल्डी बरार (Goldy Brar) से बात करता था. दोनों फोन पर बात करके की ये तय कर लेते थे कि किसको कब और कैसे धमकी देनी है. किससे रंगदारी वसूलना है और किस पर गोली चलवाना है. ये सबकुछ जेल में रहकर ही लारेंस बिश्नोई तय करता था.

सिद्धू मूसेवाला (Sidhu Moosewala Death Update) के मर्डर के 2 महीने पहले तक जेल में बंद लारेंस की कनाडा में बैठे गोल्डी बराड़ से लगातार बातचीत हो रही थी. पंजाब के सबसे बड़े गैंगस्टर (Gangster in Punjab) में से एक और पंजाब का बड़ा ड्रग माफिया जग्गू भगवानपुरिया भी तिहाड़ जेल में लारेंस के साथ बंद था.

ADVERTISEMENT

Lawrence Bishnoi Pakistan Connection : जग्गू भगवानपुरिया को हाल में जेल से दिल्ली पुलिस ने कस्टडी में लिया जिसमें उसने खुलासा किया कि 22 फरवरी तक वो लारेंस के साथ जेल में एक साथ बंद था.

जहां लगातार कनाडा में बैठे गोल्डी बरार का फोन तिहाड़ में लारेंस और मेरे पास आता था और हमारी बात होती थी. ये बात इंटरनेट कॉलिंग से होती थी. जग्गू ने बताया की बाद में मुझे और लारेंस को अलग अलग जेल नंबर में बंद कर दिया गया था.

ADVERTISEMENT

जग्गू भगवानपुरिया ने खुलासा किया कि गोल्डी ने एक बार पाकिस्तान से मेरे लिए 50 पिस्टल मंगवाई थी. जो शूटरों में बंटवानी थी. लेकिन पुलिस ने पकड़ लिया था. गोल्डी ही हथियारों की सप्लाई करवाता है. जेल में लगातार फोन के इस्तेमाल की जानकारी के बाद लारेंस बिश्नोई को मार्च-2022 में जेल नम्बर 8 में शिफ्ट कर दिया गया था. बता दें कि जून 2021 से लॉरेंस बिश्नोई तिहाड़ जेल (Tihar Jail) में बंद था.

ADVERTISEMENT

    यह भी पढ़ें...

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT