पुलिस अफसर की हत्या- घर में मिला कटा हुआ शव !

ADVERTISEMENT

CrimeTak
social share
google news

MUMBAI:

शक के आधार पर एक रक्षक भक्षक बन गया और क़त्ल जैसे खौफनाक जुर्म को दस्तक दे बैठा। इस घटना के बारे में जिसने भी सुना उसके रौंगटे खड़े हो गए। मुंबई के रहने वाले कांस्टेबल शिव शंकर गायकवाड़ ने एक 35 वर्षीय मिर्च व्यापारी की पुलिस क्वार्टर में बेरहमी से हत्या कर डाली।

इस क़त्ल की साजिश शिव शंकर काफी समय पहले ही रच चुका था। कांस्टेबल ने 35 साल के दादा जगदाले की इसलिए हत्या की क्योंकि उसे शक था की उसका अफैर कांस्टेबल की पत्नी के साथ चल रहा है।

ADVERTISEMENT

पूरा मामला क्या है ?

जगदाले का क्षत-विक्षत, आंशिक रूप से जला हुआ शरीर 30 सितंबर को एंटोप हिल में एक हाउसिंग सोसाइटी में मिला था, जो सहायक पुलिस आयुक्त (सायन डिवीजन) के कार्यालय से कुछ ही दूरी पर था। हालांकि, मृतक का सिर गायब था।

ADVERTISEMENT

इस हफ्ते की शुरुआत में गायकवाड़ ने क्राइम ब्रांच को बताया कि उसने जगदाले का सिर मानखुर्द में कूड़ेदान में फेंक दिया था.

ADVERTISEMENT

पुलिस के मुताबिक, गायकवाड़ ने 29 सितंबर को दोपहर करीब साढ़े तीन बजे दादर से जगदाले को उठाया और सीधे वर्ली पुलिस क्वार्टर स्थित अपने घर ले गया. पुलिस ने बताया कि शाम करीब पांच बजे जब वे बेडरूम में थे तो उनका आपस में विवाद हो गया और गायकवाड़ ने उन पर धारदार हथियार से हमला कर दिया।

झटका इतना जोरदार था कि जगदाले वहीं गिर पड़े। जब इंस्पेक्टर की बीवी मोनाली ये देखने गई कि इतना शोर आखिर क्यों मच रहा है तो जगदाले को खून से लथपथ पाकर वह बेहोश हो गई।

क्राइम ब्रांच के अधिकारी ने इस मामले में क्या कहा :

क्राइम ब्रांच के एक अधिकारी ने कहा। “गायकवाड़ ने कुछ दिन पहले खरीदे गए धारदार हथियार से जगदाले के शरीर को काटना शुरू कर दिया। जब तक मोनाली को होश आया, उसने टुकड़ों को बैग में पैक कर लिया था."

पुलिस ने कहा कि "सूर्यास्त के बाद, गायकवाड़ अपनी पत्नी के साथ बैग को फैकने के लिए बाहर ले गया। दोनों ने शहर के चारों ओर ड्राइव करना शुरू कर दिया। उन्होंने कहा कि इतना घूमने के बाद दोनों एंटोप हिल के सेक्टर 7 में गए और बैग को सैनिटाइजर से जलाने की कोशिश की, लेकिन उस रात बारिश हो गई।"

पुलिस क्वार्टर का दौरा करने वाली एक फोरेंसिक टीम को गायकवाड़ के बेडरूम के अंदर खून के धब्बे मिले। पुलिस ने कहा कि फर्श की टाइलों के बीच भी जमा हुआ खून पाया गया है, और उसके सैंपल मृतक के रक्त के नमूनों से मिलान करने के लिए भेजे गए हैं। इस मामले में मजिस्ट्रेट कोर्ट ने गायकवाड़ और उनकी पत्नी की पुलिस हिरासत 22 अक्टूबर तक बढ़ा दी है।

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT

    यह भी पढ़ें...