Game Zone Fire Case: राजकोट पुलिस Action में, एक और साझीदार गिरफ्तार, DNA की फाइनल रिपोर्ट का इंतजार

ADVERTISEMENT

CrimeTak
social share
google news

Rajkote, Gujarat: राजकोट के टीआरपी गेम जोन की आग बेशक बुझा दी गई है, लेकिन उसकी तपिश और जलन दोनों सिस्टम में बरकरार है। राजकोट में हुई 27 लोगों की मौत के बाद अब ताबड़तोड़ गिरफ्तारी का सिलसिला चल रहा है। इसके अलावा शवों की पहचान करने के लिए प्रशासन की तरफ से DNA जांच करवाई गई है, जिसकी फाइनल रिपोर्ट का इंतजार है। इसी वजह से अभी तक प्रशासन ने मरने वाले 27 लोगों के नामों का खुलासा नहीं किया। अलबत्ता दावा यही किया जा रहा है कि सभी मरने वाले लोगों की पहचान कर ली गई है। 

एक और Partner गिरफ्तार

इसी बीच गुजरात पुलिस ने राजकोट के 'टीआरपी गेम जोन' के एक और साझेदार को गिरफ्तार किया है। इसी बीच एक और चौंकाने वाला खुलासा सामने ये आया कि इस हादसे में जो आरोपी बुरी तरह से झुलस गया था उसकी भी मौत हो गई है। राजकोट के जिला कलेक्टर प्रभाव जोशी ने बुधवार को बताया कि अभी तक मरने वालों की DNA की फाइनल एनॉलिसिस रिपोर्ट सामने नहीं आई है, जिसका इंतजार है। उस रिपोर्ट के बाद ही इस हादसे में मरने वालों की पूरी जानकारी प्रशासन की तरफ से जारी की जाएगी।

DNA की फाइनल रिपोर्ट का इंतजार

हालांकि जिला कलेक्टर का दावा है कि इस हादसे में अब तक 27 शव ही बरामद हुए हैं और सभी 27 शवों की पहचान मुकम्मल करवा ली गई है। उन सभी के घरवालों के DNA सैंपल से मिलान भी हो चुका है। मगर DNA की फाइनल रिपोर्ट अभी तक उन्हें हासिल नहीं हुई है जिसकी वजह से वो उन मरने वाले नामों का खुलासा नहीं कर रहे। 

ADVERTISEMENT

पांच आरोपी गिरफ्तार

राजकोट पुलिस के मुताबिक इस पूरे मामले की जांच राज्य की एसआईटी कर रही है। अब तक इस मामले में गिरफ्तार लोगों की संख्या बढ़कर पांच हो गई है। राजकोट के पुलिस उपायुक्त (क्राइम) पार्थराजसिंह गोहिल ने बताया कि गेम जोन चलाने वाली रेसवे इंटरप्राइज के एक साझेदार किरीट सिंह जडेजा को मंगलवार रात को राजकोट-कलावाड रोड से गिरफ्तार किया गया। जडेजा भी टीआरपी गेम जोन के छह साझेदारों में से एक है और उस पर गैर इरादतन हत्या समेत IPC की अलग अलग धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है। 

FIR में छह नामजद

डीसीपी गोहिल के मुताबिक बीती रात राजकोट के करीब आरोपी किरीट सिंह जडेजा को गिरफ्तार किया गया जिससे मामले में अभी तक गिरफ्तार लोगों की संख्या पांच हो गई है। जबकि FIR में नामजद छह आरोपियों में से एक प्रकाश हिरन की आग में झुलसने की वजह से अब मौत हो गई। 
अधिकारियों के अनुसार, पुलिस ने गेम जोन के साझेदार युवराजसिंह सोलंकी, राहुल राठौड, धवल ठक्कर और उसके मैनेजर नितिन जैन को गिरफ्तार किया है।

ADVERTISEMENT

IPC की पांच अलग अलग धाराओं में मुकदमा

FIR के मुताबिक, आरोपियों पर IPC  की धारा 304 यानी गैर इरादतन हत्या, 308 यानी गैर इरादतन हत्या की कोशिश, 337 यानी ऐसी हरकत जिससे ऐसी चोट पहुंचाना जो दूसरों के जीवन या व्यक्तिगत सुरक्षा को खतरे में डालती हो, 338 यानी किसी इंसान के जीवन या व्यक्तिगत सुरक्षा को खतरे में डालने वाली हरकत करके उसे गंभीर चोट पहुँचाना और धारा 114 यानी अपराध होने पर किसी व्यक्ति की मौजूदगी के तहत मामला दर्ज किया गया है।राजकोट के टीआरपी गेम जोन में 25 मई को लगी थी जिसमें 27 लोगों की अब तक मौत की खबर है। ज्यादातर लोगों के शव इतनी बुरी तरह जल गए कि उनकी शिनाख्त कर पाना मुश्किल था। 

ADVERTISEMENT

    यह भी पढ़ें...

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT