इकतरफा इश्क में बना हैवान, मां को भेजता रहा बच्चे के मर्डर के स्क्रीन शॉट, पुलिस ने कब्र से निकाली लाश

ADVERTISEMENT

CrimeTak
social share
google news

Kota, Rajasthan: राजस्थान के कोटा से एक दिलजले आशिक का एक ऐसा किस्सा सामने आया है जिसने अपनी हवस की वजह से उस महिला की कोख सूनी कर दी जिसे वो दिलो जान से प्यार करने का दम भरता था। लेकिन जब उस दिलजले ने एक ममता की गैरत को ललकारा तो वो बिलखती हुई मां कानून के सिपाहियों के पास जा पहुँची और तब जाकर इस खौफनाक वारदात का खुलासा हुआ। 

ऐसे हुआ वारदात का खुलासा

दिल दहलाने वाले इस वाकया में एक मासूम बच्चे का पहले अपहरण होता है फिर उसके साथ जमकर मार पीट और फिर गला दबाकर हत्या कर दी जाती है। लेकिन इसका सबसे खौफनाक पहलू ये है कि इन सारी बातों पर पर्दा डालने की कोशिश भी की गई। और ये सब कुछ इसलिए किया क्योंकि आरोपी के उस महिला के साथ इकतरफा प्यार में गिरफ्त था जिसके बच्चे को उसने रास्ते का कांट समझकर तड़पा तड़पाकर मौत के घाट उतार दिया। लेकिन मां तो सिर्फ मां होती है, और उसे ही औलाद का दर्द पता होता है तभी तो वो बच्चे के साथ की गई किसी भी तरह की बेरहमी को बर्दाश्त नहीं कर पाती। इसी वजह से कोटा की इस खौफनाक वारदात का खुलासा हो सका। 

मां को भेजा था मारपीट और हत्या का वीडियो

खुलासा हुआ है कि कोटा के विज्ञान नगर थाना इलाके में एक आदमी ने ढाई साल के बच्चे का अपहरण किया। पहले उसके साथ मारपीट की और बाद में उसकी गला दबाकर हत्या कर दी। इसके बाद परिजनों को एक्सीडेंट होने से मौत बताते हुए मामले को छुपाने की कोशिश की। चौंकाने वाली बात ये है कि बच्चे के घरवालों ने बालक के शव को दफना भी दिया। मगर आरोपी उस बच्चे की मां को मारपीट करने के साथ साथ हत्या करने का वीडियो और फोटो भेजी। तब वो महिला भागी भागी थाने पहुँची और विज्ञान नगर थाने में नामजद मुकदमा दर्ज करवाया। बच्चे की पहचान अंश के तौर पर हुई। उस बच्चे की मां खुशबू मेहरा ने पुलिस थाना विज्ञान नगर में अपने ढाई साल के बच्चे की हत्या करने का एक मुकदमा शुक्रवार को दर्ज कराया। इस मामले में पुलिस ने राहुल नाम के आरोपी के खिलाफ संगीन धाराओं में मुकदमा दर्ज करके उसे गिरफ्तार कर लिया। 

ADVERTISEMENT

मां से करता था इकतरफा इश्क

खुलासा हुआ है कि आरोपी राहुल उस बच्चे की मां के साथ इकतरफ प्यार करता था। लेकिन उसे अपने प्यार तक पहुँचने के रास्ते में महिला का ढाई साल का बेटा कांटा नजर आने लगा था। लिहाजा महिला पर दबाव बनाने के लिए उसने उस महिला के बच्चे को अगवा कर लिया और फिर उसे जी भरकर मारा पीटा और फिर उसकी गला दबाकर हत्या भी कर दी। लेकिन सबसे हैरान करने वाली बात ये है कि आरोपी ने अपनी इन करतूतों का गवाह खुद उस महिला को ही बनाया जिसके बच्चे को अगवा करके उस पर जुल्म ढाया। आरोपी ने अपने वहशीपन की हरकतों को वीडियो और तस्वीरों के तौर पर कैद किया और फिर उसे बाकायदा बच्चे की मां के साथ साझा भी किया था। 

हत्या की तस्वीरें और वीडियो पुलिस ने जब्त की

पुलिस ने अपनी तफ्तीश के दौरान वो लैपटॉप और पेनड्राइव भी बरामद कर लिए हैं जिनमें बच्चे के साथ मारपीट और हत्या की वारदात की वीडियो औरतस्वीरें महफूज करके रखी गईं थीं। पुलिस ने अपनी तफ्तीश के दौरान जब हत्या के सबूत हासिल किए तब जाकर उसने मुक्तिधाम में दफनाए गए बालक के शव को कब्र खोदकर वापस बाहर निकाला और उसका पोस्टमॉर्टम करवाया। पोस्टमॉर्टम के बाद फिर शव को परिजनों को सौंप दिया गया तब जाकर उसका फिर से अंतिम संस्कार किया गया। 

ADVERTISEMENT

बच्चे की मां ने सुनाई पूरी आपबीती

थाने में दी गई खुशबू मेहरा की शिकायत के मुताबिक वो कोटा की छावनी रामचंद्रपुरा में अपने परिवार के साथ रहती थी। पिछले चार पांच महीने से उसकी राहुल पारीख नाम के आरोपी के साथ जान पहचान भी थी। अक्सर राहुल उससे फोन पर बात भी करता रहता था। शिकायत में ही उसने खुलासा किया कि वो राहुल के साथ एक रिश्तेदार की लड़की की शादी में भी गई थी।

ADVERTISEMENT

अस्पताल से मिली बच्चे की लाश

रिपोर्ट के मुताबिक 15 अप्रैल की शाम जब उसकी तबीयत अचानक ज्यादा खराब हुई तो वो डॉक्टर को दिखाने गई। बस उसी समय से उसका ढाई साल का बच्चा लापता हो गया। शिकायत में ये भी खुलासा किया कि जब वो डॉक्टर के पास जा रही थी तो राहुल ने बच्चे उसके पास छोड़ने को कहा था। डॉक्टर के पास से लौटने के बाद उसे उसका बच्चा नहीं मिला। काफी तलाश करने पर भी जब बच्चा नहीं मिला तब खुशबू ने राहुल को कॉल किया तो उसने बताया कि बच्चे का एक्सीडेंट हो गया और वो उसे लेकर अस्पताल पहुँचा हुआ है। तो खुशबू भी भागी भागी अस्पताल पहुँची तो डॉक्टर ने बताया कि बच्चा तो 40 मिनट पहले ही मर चुका है।

बच्चे की मां पर दबाव बनाने के लिए की वारदात

उस दिन तो बच्चे का शव लेकर खूशबू और उसके घरवाले लौट आए और उसका अंतिम संस्कार कर दिया। उसके कुछ रोज बाद ही राहुल ने महिला को मैसेज किया और कहा कि तेरे बच्चे को मारने की पूरी बात उसमें लिखकर बताई थी। साथ ही बच्चे के फोटो भी भेजे थे जिसमें वो गला दबाता दिखाई पड़ रहा था। पूछताछ में खुलासा हुआ कि राहुल खुशबू से एक तरफा प्रेम करता था, और उसे वह हर हाल में अपने साथ रखना चाहता था। इतना ही नहीं राहुल को खुशबू का दूसरों के साथ घूमने जाना भी पसंद नहीं था। इस वजह से आरोपी राहुल खुशबू से नफरत करने लगा और उसे सबक सिखाने और पूरी तरह से अपने दबाव में रखने के लिए उसके ढाई साल के मासूम की निर्मम हत्या कर दी और उसे डरा धमका कर अपने साथ रखना चाहता था।
 

    यह भी पढ़ें...

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT