Shraddha Case : मर्डर के बाद आफताब ने मुंबई पुलिस को ऐसे दिया था चकमा, हत्या की अजीब वजह बताई

ADVERTISEMENT

CrimeTak
social share
google news

Delhi Shraddha Murder News : दिल्ली के श्रद्धा मर्डर केस (Shraddha Case) का आरोपी आफताब मानसिक तौर पर बेहद शातिर है. श्रद्धा केस में आफताब की गिरफ्तारी से पहले भी एक बार उसका मुंबई पुलिस से सामना हुआ था. सितंबर 2022 में श्रद्धा के पिता ने उसकी गुमशुदगी की शिकायत मुंबई पुलिस से की थी. इस शिकायत के बाद मुंबई पुलिस ने आफताब को फोन करके पूछताछ के लिए बुलाया था. उस समय पुलिस ने उससे लंबी चौड़ी पूछताछ की थी. हर सवाल का उसने जवाब बहुत ही कॉन्फिडेंस से दिया था.

पुलिस ने उससे दो से 3 पेज का बयान लिया था. जब उससे पूछा गया कि श्रद्धा कहां है. तब बिना घबराए आफताब ने बताया था कि वो तो कई महीने पहले ही मुझसे झगड़ाकर कहीं चली गई थी. उसने बताया था कि बीच में एक बार कुछ अपना सामान लेने के लिए मेरे पास आई थी और फिर चली गई. तब से उसके संपर्क में नहीं हूं. हालांक, उसने मुंबई पुलिस के हर सवाल के जवाब दिए थे. लेकिन कुल मिलाकर पुलिस के सामने चुनौती यही थी कि अगर श्रद्धा जिंदा है तो कुछ महीने से किसी के संपर्क में क्यों नहीं है.

क्योंकि उसके करीबी दोस्त भी बता रहे हैं कि आखिरी बार उससे जुलाई महीने में बात हुई थी. वो भी फोन पर नहीं बल्कि सोशल मीडिया पर चैट करते हुए. इसीलिए मुंबई पुलिस के अफसरों ने इस केस में तुरंत दिल्ली पुलिस को जानकारी दे दी थी. फिर दिल्ली के महरौली थाने की पुलिस ने श्रद्धा के पिता की शिकायत पर जांच शुरू की थी. शुरुआत में उस समय भी आफताब ने केस को टालने की कोशिश की थी. लेकिन फिर धीरे-धीरे हत्या की बात कबूल कर ली.

ADVERTISEMENT

कई बार दोनों में ब्रेकअप की नौबत आई लेकिन माफी मांग बच जाता था

 पुलिस की जांच में पता चला है कि आफताब और श्रद्धा के बीच कई बार झगड़ा हुआ था. कई बार दोनों में ब्रेकअप की नौबत आ गई थी. एक बार तो दोनों में ब्रेकअप भी कर लिया था. लेकिन फिर आफताब इमोशनल बातें करके या फिर माफी मांगकर फिर से पैचअप कर लिया था.

ADVERTISEMENT

 तो क्या घर के खर्चे और सामान को लेकर श्रद्धा का किया था मर्डर

ADVERTISEMENT

 Shradhha Murder News : पुलिस के सामने आफताब ने हत्या की वजह का जो दावा किया है उस पर यकीन करना मुश्किल है. असल में उसने बताया है कि 18 मई को दोनों कमरे पर थे. दोनों में घर का सामान लाने को लेकर झगड़ा हो गया. घर का खर्चा उठाने और सामान लाने को लेकर अक्सर उनके बीच लड़ाई होती थी.

उस दिन लड़ाई काफी बढ़ गई. इसलिए रात के करीब 8 से 9 बजे के बीच आफताब को काफी गुस्सा आ गया. इसलिए वो गुस्से में श्रद्धा के सीने पर चढ़कर गला दबाकर मार डाला. इसके बाद शव को रातभर छोड़ दिया था. अगले दिन आरी, चाकू और फ्रिज खरीदकर ले आया. फिर उसने श्रद्धा की लाश के टुकड़े कर फ्रिज में रखा और आने वाले दिनों में एक-एक कर जंगल में फेंकता जाता था.

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT

    यह भी पढ़ें...