Salman Khan Firing Case: शूटरों तक पिस्तौल पहुँचाने वाले लॉरेंस के दो गुर्गे दबोचे गए

ADVERTISEMENT

CrimeTak
social share
google news

Salman Khan House Shooting Case: मुंबई में बॉलीवुड (Bollywood) एक्टर और दबंग खान यानी सलमान खान के घर जो फायरिंग हुई थी उसके कई तार अब पंजाब के गैंग्स्टरों (Gangsters) से पूरी तरह से जुड़ते दिखाई देने लगे हैं। मुंबई पुलिस (Mumbai Police) ने पंजाब से दो लोगों को गिरफ्तार किया। जिनके बारे में पुलिस का खुलासा है कि इन्हीं दोनों आरोपियों ने शूटरों को पिस्तौल मुहैया करवाई थी। एक का नाम सोनू सुभाष चंदर है जबकि दूसरा अनुज थापन। 37 साल का सोनू खेती के साथ साथ किराने की दुकान चलाता है जबकि 32 साल का अनुज ट्रक ड्राइवर का हेल्पर है। और पुलिस की बातों पर यकीन किया जाए तो ये दोनों ही लॉरेंस बिश्नोई गैंग से ताल्लुक रखते हैं। और लॉरेंस बिश्नोई कौन है यहां शायद बताने की जरूरत नहीं।

दोनों शूटरों की हिरासत बढ़ी

इससे पहले मुंबई पुलिस ने गोलीबारी के सिलसिले में जिन दो लोगों को गिरफ्तार किया था, अदालत ने उनकी हिरासत 29 अप्रैल तक बढ़ा दी है। बिहार के रहने वाला विक्की गुप्ता और सागर पाल दोनों की रिमांड की मियाद गुरुवार को समाप्त हो रही थी लिहाजा उन्हें जब मेट्रोपॉलिटन मजिस्ट्रेट की अदालत में पेश किया गया तो कोर्ट ने उनकी हिरासत बढ़ाने का फैसला सुनाया। यानी 14 अप्रैल को एक्टर सलमान खान के घर के बाहर फायरिंग हुई थी। मुंबई की एस्प्लेनेड कोर्ट ने विक्की गुप्ता और सागर पाल को 29 अप्रैल तक क्राइम ब्रांच की हिरासत में भेज दिया।

10 राउंड फायरिंग का था ऑर्डर

मुंबई क्राइम ब्रांच के मुताबिक सलमान खान के घर के बाहर फायरिंग करने वाले शूटरों के पास दो पिस्तौलें थीं और उन्हें बाकायदा ऑर्डर मिला हुआ था कि कम से कम 10 राउंड फायर करने जरूरी हैं। मगर आरोपियों ने पांच राउंड ही फायरिंग की। अब नई अपडेट के मुताबिक, मुंबई क्राइम ब्रांच ने पंजाब से सोनू सुभाष चंदर और अनुज थापन नाम के दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है। 

ADVERTISEMENT

लॉरेंस और अनमोल के खिलाफ सबूत

वैसे सलमान खान के घर पर हुई फायरिंग के सिलसिले में पुलिस अब तक कई ऐसे सुराग और सबूत इकट्टा कर चुकी है जिसका कोई न कोई सिरा पंजाब के गैंग्स्टर लॉरेंस बिश्नोई और गोल्डी बराड़ गैंग से जाकर मिलता है।  मुंबई क्राइम ब्रांच ने गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई और उसके भाई अनमोल बिश्नोई के खिलाफ पुख्ता सबूत बरामद किए थे। लिहाजा पुलिस ने दोनों को असली मास्टरमाइंड बताया है। सलमान खान के घर पर फायरिंग मामले में मुंबई पुलिस ने चार लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है, जिसमें अनमोल बिश्नोई और लॉरेंस बिश्नोई भी आरोपी हैं।

चार बार की थी रेकी

खुलासा तो यही है कि मुंबई क्राइम ब्रांच से मिली जानकारी के मुताबिक, फायरिंग से पहले शूटर्स ने चार बार सलमान खान के घर की रेकी की थी। शूटर एक बार सलमान खान के फार्महाउस पर भी पहुंचे थे। हालांकि, सलमान कई हफ्तों से अपने फार्महाउस नहीं गए थे और इसलिए उन्होंने घर पर फायरिंग करने का प्लान किया था। 

ADVERTISEMENT

पुलिस ने मोबाइल बरामद किया

मुंबई क्राइम ब्रांच के अधिकारियों ने बताया कि जब आरोपियों को गिरफ्तार किया गया तो उनके पास से एक टूटा हुआ मोबाइल फोन बरामद हुआ। क्राइम ब्रांच ने बताया कि आरोपियों के पास एक से ज्यादा फोन थे और अब क्राइम ब्रांच बाकी फोन की भी तलाश कर रही है। इससे पहले मुंबई क्राइम ब्रांच ने सूरत की तापी नदी से दूसरी पिस्टल बरामद होने की भी जानकारी दी थी। मुंबई क्राइम ब्रांच ने खुलासा किया कि उन्होंने उनके पास से दूसरी पिस्तौल बरामद की। 22 अप्रैल को क्राइम ब्रांच ने तापी नदी से एक पिस्टल बरामद की थी। मुंबई से गुजरात के भुज जाते समय शूटर विक्की गुप्ता के पैरों के निशान मिले, शूटरों ने बंदूक और मैगजीन सूरत के पास तापी नदी में फेंक दी थी। 

ADVERTISEMENT

    यह भी पढ़ें...

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT