पुलवामा में सुरक्षा बल का बड़ा ऑपरेशन, एक रात में दो और बीते चार महीने में 62 आतंकी ढेर

जम्मू कश्मीर में आतंक के ख़िलाफ़ भारतीय सुरक्षा बल का ऑपरेशन जारी है। बीते दो सालों से इस ऑपरेशन में जितनी तेजी आई उसने कश्मीर घाटी में सक्रिय आतंकियों की कमर क़रीब क़रीब पूरी तरह से तोड़ कर रख दी है।
पुलवामा में सुरक्षा बल का बड़ा ऑपरेशन, एक रात में दो और बीते चार महीने में 62 आतंकी ढेर
घाटी में सर्च ऑपरेशन के दौरान सुरक्षा बल

Latest Crime News: 27 अप्रैल की रात को भी भारत के सुरक्षा बल ने पुलवामा के इलाक़े में एक ऑपरेशन चलाया, और दो आतंकवादियों को मौत की नींद में सुला दिया। हालांकि आतंकियों के साथ हुई मुठभेड़ में एक जवान भी ज़ख़्मी हो गया।

वैसे देखा जाए तो इस साल यानी साल 2022 में सुरक्षा बल और पुलिस के मिले जुले ऑपरेशन में ये अकेले अप्रैल के महीने का चौथा सबसे बड़ा एनकाउंटर था। इससे पहले 4 अप्रैल को घाटी के अनंतनाग इलाक़े में और कुलगाम में एक सर्च अभियान चलाया गया था।

पुलवामा में अप्रैल महीने का सबसे बड़ा ऑपरेशन

Latest Terror News:

उस ऑपरेशन में लश्कर ए तोएबा के टॉप कमांडर निसार डार के साथ साथ एक और आतंकी को ढेर कर दिया गया। जबकि 11 अप्रैल को शोपियां में आतंकियों का सामना चौकन्ने सुरक्षा बल से हो गया। बस फिर क्या था दोनों आतंकियों को जहन्नम का रास्ता दिखा दिया गया। बीती 14 अप्रैल को भी शोपियां ज़िले के बड़गाम में आतंकवादियों और सेना पुलिस के जवानों के साथ लंबी मुठभेड़ हुई। लेकिन ये मुठभेड़ और लंबी होती , आतंकियों की ज़िंदगी छोटी पड़ गई और चार वहीं लंबे हो गए।

इस साल अब तक बीते चार महीनों के दौरान 62 आतंकवादियों के जिस्म में भरत के जाबांज सिपाही भारत की ऑर्डिनेंस फैक्टरी का बना फौलाद भर चुके हैं। बीते चार महीनों के दौरान अलग अलग एनकाउंटर में 62 आतंकी तो निपट गए। लिस्ट बनी तो उनमें लश्कर के 39 आतंकवादी निकले, जबकि जैश ए मोहम्मद के 15 आतंकी शामिल थे। इसके अलावा हिजबुल मुजाहिदीन के छह आतंकी और अल बद्र के दो आतंकवादियों को मौत की नींद में सुलाया जा चुका है।

धारा 370 हटने के बाद से 439 आतंकी मारे गए

Kashmir Encounter : बीती रात पुलवामा में जो ऑपरेशन चला उसमें मितरीगम इलाक़े में सुरक्षा बल और आतंकियों के बीच जमकर फायरिंग हुई। खबर यही मिली थी कि उस इलाक़े में दो से तीन आतंकी छुपे हुए थे। पूरा इलाक़ा घेरकर सुरक्षा बल ने उनको दबोचने की कोशिश की। हालांकि क्रॉस फ़ायरिंग में दो आतंकी वहीं मार गिराए गए। उनकी पहचान भी हो गई। एक का नाम एजाज़ हफ़ीज़ और दूसरे का नाम शाहिद अय्यूब बताया गया। पुलिस ने उनके पास से दो एके 47 राइफल भी बरामद कर ली हैं।

पिछले साल भी सुरक्षा बल के चौकस बंदोबस्त और घेराबंदी की वजह से पौने दो सौ से ज़्यादा आतंकियों को जहन्नम पहुँचा दिया गया। देश की सबसे बड़ी पंचायत यानी संसद में एक सवाल के जवाब में सरकार की तरफ से बताया गया कि धारा 370 हटने के बाद से जनवरी 2022 तक केवल कश्मीर घाटी में 439 से ज़्यादा आतंकियों को मार गिराया जा चुका है।

और ऐसा नहीं कि ये ऑपरेशन रुकने वाला है। बताया जा रहा है कि सुरक्षा बल के मज़बूत घेराबंदी की वदौलत कश्मीर घाटी से आतंकियों ने अब पलायन करना शुरू कर दिया है। इक्का दुक्का वारदातों के अलावा फिलहाल आतंकी कोई भी हरकत करने से पहले दस बार सोचते हैं।

Related Stories

No stories found.