अटारी बॉर्डर के पास से इकलौते फरार शार्प शूटर दीपक मुंडी को गिरफ्तार करने का STF का दावा

sidhu Moose Wala Murder: पंजाब पुलिस (Punjab Police) की STF के सूत्रों के हवाले से ये खबर हवा में है कि सिद्धू मूसेवाला मर्डर में शामिल इकलौता फरार शूटर (Shooter) दीपक मुंडी पकड़ (Arrest) लिया गया।
लॉरेंस बिश्नोई गैंग का शूटर दीपक मुंडी
लॉरेंस बिश्नोई गैंग का शूटर दीपक मुंडी

Moose Wala Murder: तो क्या सिद्धू मूसेवाला मर्डर में जिस शार्प शूटर (Sharp Shooter) की तलाश में पंजाब की पुलिस (Punjab Police) जर्रा जर्रा छान रही है, दर दर की ठोकरें खा रही है...और एक एक चेहरे को गौर से देखती घूम रही थी...क्या वो शूटर (Shooter) पंजाब पुलिस के हाथ लग चुका है। क्या लॉरेंस बिश्नोई (Lawrence Bishnoi) गैंग का वो फरार शूटर दीपक मुंडी पकड़ा गया?

ये सवाल इसलिए क्योंकि पंजाब पुलिस के एसटीएफ की तरफ से दावा किया गया है कि सिद्धू मूसेवाला मर्डर से ताल्लुक रखने वाला इकलौता फरार शूटर अब दबोच लिया गया है। सूत्रों के हवाले से मिली खबरों पर यकीन किया जाए तो सिद्धू मूसेवाला मर्डर के शूटर जगरुप सिंह रुपा और मनप्रीत सिंह उर्फ मन्नू का एनकाउंटर होने के बाद अकेला दीपक मुंडी ही बचा था जो फरार था और जिसे पंजाब पुलिस बड़ी शिद्दत से तलाश कर रही थी।

बताया जाता है कि दीपक मुंडी असल में हरियाणा मॉड्यूल का शूटर था जिसका सरगना प्रियव्रत फौजी को बनाया गया था। 29 मई को शूटआउट के बाद जब प्रियव्रत फौजी और उसके साथी शूटर अपनी बोलेरो गाड़ी से फरार हो रहे थे तब दीपक मुंडी उसी गाड़ी में था। उसके बाद वो सारे के सारे शूटर अलग अलग दिशाओं में भाग निकले थे। लेकिन एक एक करके बाकी सारे पकड़े गए। केवल पुलिस को दीपक मुंडी के बारे में पता नहीं चल पा रहा था।

पंजाब पुलिस की STF और AGTF का मिला जुला ऑपरेशन

Singer Murder: पंजाब की एसटीएफ के सूत्रों की बातों पर यकीन किया जाए तो दीपक मुंडी को भी पंजाब के अमृतसर के पास अटारी के नजदीक गिरफ्तार करने में कामयाबी हासिल हुई। पंजाब पुलिस की एसटीएफ का तो यहां तक दावा है कि दीपक मुंडी की लोकेशन के बारे में इत्तेला मिलने के बाद एसटीएफ और एजीटीएफ (AGTF) यानी एंटी गैंग्स्टर टास्क फोर्स ने मिलकर बाकायदा घेरा लगाया और दीपक मुंडी को बॉर्डर एरिया से गिरफ्तार कर लिया। यानी अगर पुलिस के सूत्रों की मानें तो अंदेशा यही जताया जा रहा था कि दीपक मुंडी भी हिन्दुस्तान की सरहद लांघने की फिराक में था, लेकिन इससे पहले वो अपने मंसूबे पूरे कर पाता...पुलिस के फैलाए जाल में जा फंसा।

इसी बीच कनाडा में बैठे गैंग्स्टर गोल्डी बराड़ की एक फेसबुक के हवाले से कहा जा रहा है कि गोल्डी बराड़ ने सिद्धू मूसेवाला मर्डर के प्रमुख शूटर जगरुप रूपा और मनप्रीत मन्नू से पुलिस के सामने आत्मसमर्पण करने को भी कहा था लेकिन जगरुप रुपा और मन्नू ने गोल्डी की ये बात मानने से इनकार कर दिया, बल्कि उसके उलट ये दावा किया कि जो होगा देख लेंगे...और पुलिस से निपट भी लेंगे।

बड़ा सवाल दो गाड़ियों में कितने शूटर्स सवार थे?

Moose Wala Murder: गोल्डी ने अपनी पोस्ट में लिखा भी है कि जगरूप रूपा और मनप्रीत मन्नू ने पुलिस की गोलियां को बखूबी सामना किया और पुलिस से अच्छा खासा मोर्चा लिया। लेकिन चार घंटे तक लड़ने के बाद आखिरकार पुलिस की गोली का दोनों निशाना बन गए।

सिंगर सिधू मूसेवाला की हत्या 29 मई को की गई थी और उस रोज के कई सीसीटीवी फुटेज से ये बात भी सामने आई कि सिद्धू मूसेवाला को मौत के घाट उतारने के लिए लॉरेंस और गोल्डी बराड़ के शूटर्स दो गाड़ियों पर सवार होकर आए थे। लेकिन कितने शूटर्स उन दो गाड़ियों में थे उनकी सही सही गिनती को लेकर एक बार संशय खड़ा हो गया है। क्योंकि पुलिस के मुताबिक सिद्धू मूसेवाला की हत्या छह शूटरों ने की जबकि गोल्डी बराड़ का दावा का है कि सिद्धू मूसेवाला को मारने वाले आठ शूटर्स थे।

Related Stories

No stories found.
Crime News in Hindi: Read Latest Crime news (क्राइम न्यूज़) in India and Abroad on Crime Tak
www.crimetak.in