Bambiha Gang: कौन है बंबिहा गैंग जिसके पास हैं 300 से ज्यादा शूटर्स?, कौन था दविंदर बंबिहा?

Bambiha Gang: बंबिहा गैंग, लॉरेंस बिश्नोई और गोल्डी बराड़ गैंग (Lawrence Bishnoi and Goldie Brar gang) के विरोधी गैंग है. दरअसल, हाल के दिनों में बंबिहा गैंग का नाम लगातार सुर्खियों में आया है. बंबिहा गैंग का जाल हिंदुस्तान से लेकर आर्मेनिया तक फैला हुआ है.
दविंदर बंबिहा | File Photo
दविंदर बंबिहा | File Photo

Bambiha Gang History: राजस्थान के नागौर (Nagaur, Rajasthan) में सोमवार को दिनदहाड़े कोर्ट के बाहर खूनी गैंगवार हुआ. हरियाणा के गैंगस्टर संदीप विश्नोई (सेठी) (Sandeep Vishnoi/ Sethi) की गोली मारकर हत्या कर दी गई. इस शूटआउट की जिम्मेदारी ली है बंबिहा गैंग और कौशल चौधरी ने. दविंदर बंबिहा नाम के फेसबुक अकाउंट से नागौर हत्याकांड की जिम्मेदारी ली गई है.

Bambiha Gang Members: ये गैंग लॉरेंस बिश्नोई और गोल्डी बराड़ गैंग के विरोधी गैंग है. दरअसल, हाल के दिनों में बंबिहा गैंग का नाम लगातार सुर्खियों में आया है. बंबिहा गैंग का जाल हिंदुस्तान से लेकर आर्मेनिया तक फैला हुआ है. हालांकि दविंदर बंबिहा को पुलिस ने आज से 6 साल पहले ही मार गिराया था. ऐसे में सवाल उठता है कि इस गैंग को आखिर कौन चला रहा है. पढ़िए बंबिहा गैंग की कहानी.

दविंदर बंबिहा | File Photo
दविंदर बंबिहा | File Photo

दविंदर बंबिहा ऐसे कूदा अपराध की दुनिया में

मोगा जिले के बंबिहा गांव में जन्मे दविंदर बंबिहा का असली नाम दविंदर सिंह सिद्धू था. जुर्म की दुनिया में आने से पहले वह एक लोकप्रिय कबड्डी खिलाड़ी हुआ करता था. साल 2010 में जब वह कॉलेज में ग्रेजुएशन की पढ़ाई कर रहा था, तब उसका नाम एक क़त्ल के मामले में सामने आया था.

यह वारदात उसके गांव में दो समूहों में हाथापाई के दौरान हुई थी. हत्या के मामले में दविंदर को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया, जिसके बाद वो जेल में कई गैंगस्टरों के संपर्क में आया और फिर ख़तरनाक शार्प शूटर बन गया. लेकिन 9 सितंबर 2016 को बठिंडा जिले के रामपुरा के पास गिल कलां में 26 वर्षीय दविंदर बंबिहा को एक मुठभेड़ में पंजाब पुलिस ने मार गिराया था.

बंबिहा के एनकाउंटर के बाद इस गैंग की कमान संभाली गौरव उर्फ़ लकी पटियाल ने. धनास चंडीगढ़ का रहने वाला लकी गौरव पटियाल पंजाब का बड़ा गैंगस्टर है. जो पहले क़त्ल, क़त्ल की कोशिश और एक्सटॉर्शन जैसे मामले में जेल में बंद था और फिर आर्मेनिया भाग गया था. जबकि दूसरा गैंस्टर मोगा जिले के कुसा गांव का रहने वाला सुखप्रीत सिंह बुडाह है. जो अभी भी संगरूर जेल में बंद है.

हाल ही में जालंधर में अंतरराष्ट्रीय कबड्डी खिलाड़ी संदीप नांगल अंबिया की हत्या को भी बंबिहा गैंग ने ही अंजाम दिया था. इस गैंग ने दिल्ली, हरियाणा के गैंगस्टर और लॉरेंस के धुर विरोधी सुनील उर्फ टिल्लू ताजपुरिया और नीरज बवाना गिरोह से हाथ मिलाकर दिल्ली-NCR में अपना नेटवर्क मजबूत कर लिया. बताया जाता है कि लकी पटियाल गैंग में हरियाणा, पंजाब, राजस्थान, हिमाचल, दिल्ली और पश्चिमी उत्तर प्रदेश के 300 से ज़्यादा शूटर शामिल हैं. लकी कई साल से आर्मेनिया में बैठकर गिरोह चला रहा है. हालांकि पंजाब पुलिस पिछले 4 साल से उसे प्रत्यर्पण पर भारत लाने में जुटी हुई है.

Related Stories

No stories found.
Crime News in Hindi: Read Latest Crime news (क्राइम न्यूज़) in India and Abroad on Crime Tak
www.crimetak.in