IAS Pooja Singhal Case: कौन हैं IAS पूजा सिंघल?, जिन्होंने ब्लैक मनी मैं रिकॉर्ड तोड़ दिया

IAS Pooja Singhal Case: कौन हैं पूजा सिंघल
IAS Pooja Singhal Case: कौन हैं IAS पूजा सिंघल?, जिन्होंने ब्लैक मनी मैं रिकॉर्ड तोड़ दिया
IAS Pooja Singhal Case

IAS Pooja Singhal Case: IAS पूजा सिंघल को गिरफ्तार कर लिया गया है. ये कार्रवाई ईडी ने की. वर्तमान में पूजा सिंघल झारखंड खनन विभाग की सचिव थीं. ईडी अधिकारी पिछले दो दिनों से इनसे पूछताछ कर रहे थे. 11 मई को भी पूजा सिंघल से 9 घंटे तक पूछताछ की गई. उसके बाद गिरफ्तार कर लिया गया.

कौन हैं पूजा सिंघल | Who is Pooja Singhal?

पूजा का जन्म देहरादून में हुआ था। उन्होंने गढ़वाल विश्वविद्यालय से ग्रजुएशन की पढ़ाई पूरी की। पूजा ने पहले ही प्रयास में IAS क्वालिफाई कर लिया था। 21 साल और 7 दिन की उम्र में वो आईएएस बन गईं थीं। वो 2000 बैच की अधिकारी हैं। पूजा सिंघल का नाम लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड्स (Limca Book of Records ) में दर्ज है। क्योंकि वो सबसे कम उम्र में IAS बनीं थीं।

आईएएस पूजा सिंघल की पहली शादी आईएएस अधिकारी रहे राहुल पुरवार से हुई, लेकिन शुरू के वर्षों के दौरान ही कुछ निजी कारणों को लेकर दोनों के बीच विवाद शुरू हो गया और फिर तलाक होने के बाद पूजा सिंघल ने अभिषेक झा से दूसरी शादी की.

कौन हैं अभिषेक
पूजा सिंघल के पति अभिषेक झा ने ऑस्ट्रेलिया से पढ़ाई की है। वो पल्स अस्पताल का संचालन करते हैं। बता दें कि पूजा से शादी के बाद अभिषेक हमेशा सुर्खियों में रहें। पूजा का हमेशा विवादों से रिश्ता रहा है। पूजा सिंघल कई विभागों में रही हैं। वर्तमान में उनके पास उद्योग सचिव और खान सचिव का प्रभार है।

पढ़ाई से लेकर नौकरी तक सिंघल का कैरियर शानदार रहा है.पूजा सिंघल विवादों को लेकर पहली बार चर्चा में नहीं हैं. इससे पहले भी उन पर भ्रष्टाचार के आरोप लग चुके हैं. पूजा जब खूंटी एवं पलामू जिले में डिप्टी कमिश्नर पद पर थीं, तब भी उन पर अनियमितता के आरोप लगे थे.

कई घोटालों में आ चुका है इनका नाम

झारखंड के चतरा में उपायुक्त (DC) रहते हुए पूजा सिंघल ने मनरेगा योजना से 2 एनजीओ को 6 करोड़ रुपये दिये. इस मामले में विधानसभा में भी सवाल उठा, लेकिन बाद में उन्हें इस मामले में क्लीन चिट मिल गयी. वहीं खूंटी जिले में उपायुक्त रहने के दौरान मनरेगा में 16 करोड़ रुपये के घोटाले में नाम आया, जिस मामले की जांच अभी ईडी कर रही है. इससे पहले पलामू में उपायुक्त रहने के दौरान पूजा सिंघल पर उषा मार्टिन ग्रुप को कठौतिया कोल ब्लॉक आवंटन में नियमों की अनदेखी का आरोप लगा. इस तरह से उनका नाम कई तरह के मामलों में सामने आया.

Related Stories

No stories found.