‘अग्निपथ’ का विरोध कर रहे छात्र बहकाने वालों से दूर रहें: केंद्रीय मंत्री चौबे

‘अग्निपथ’ का विरोध कर रहे छात्र बहकाने वालों से दूर रहें: केंद्रीय मंत्री चौबे
‘अग्निपथ’ का विरोध कर रहे छात्र बहकाने वालों से दूर रहें: केंद्रीय मंत्री चौबे
अग्निपथ’ का विरोध कर रहे छात्र

NEW DELHI NEWS : नयी दिल्ली, 16 जून (भाषा) केंद्रीय मंत्री अश्विनी कुमार चौबे ने बृहस्पतिवार को केंद्र सरकार की ‘‘अग्निपथ योजना’’ को दूरगामी परिणाम लाने की दिशा में एक सार्थक पहल करार दिया और इसके विरोध में प्रदर्शन कर रहे छात्रों से आग्रह किया कि वे भड़काने वाले तत्वों के झांसे में ना आएं. चौबे ने यहां एक बयान में कहा कि उन्होंने अपने संसदीय क्षेत्र बक्सर सहित अन्य जिलों के प्रशासनिक अधिकारियों से बात कर स्थिति की जानकारी ली और उनसे कहा है कि वह आंदोलनकारी छात्रों के खिलाफ बल का प्रयोग ना करें बल्कि उन्हें शांतिपूर्ण तरीके से समझाएं.

बिहार (Bihar) के विभिन्न जिलों में 17 से 21 साल तक के युवाओं को चार साल के लिए सेना में संविदा पर भर्ती करने और अधिकतर को बिना पेंशन व ग्रेजुएटी के अनिवार्य सेवानिवृत्ति देने की केंद्र द्वारा शुरू की गयी ‘अग्निपथ योजना’ का विरोध करते हुए सेना में भर्ती के आकांक्षी युवाओं ने बृहस्पतिवार को लगातार दूसरे दिन रेल और सड़क यातायात बाधित किया. केंद्रीय मंत्री ने कहा, ‘‘अग्निपथ योजना देश, सेना और युवाओं के हित में है। इसे संपूर्णता में समझने की जरूरत है.’’ उन्होंने किसी राजनीतिक दल का नाम लिए बगैर कहा कि ‘‘कुछ लोग’’ आज युवाओं और छात्रों के कंधों पर रखकर बंदूक चलाने का काम कर रहे हैं, जिनकी मंशा अपनी राजनीतिक रोटी सेंकना है.

चौबे ने छात्रों को विश्वास दिलाते हुए कहा, ‘‘यह योजना दूरदृष्टिपूर्ण और दूरगामी परिणाम लाने की दिशा में एक सार्थक पहल है. मुझे पूर्ण विश्वास है कि इस योजना से न सिर्फ लाखों युवा लाभान्वित होंगे बल्कि उनके अंदर के राष्ट्रवाद की भावना और प्रबल होगी.’’ उन्होंने कहा कि इजराइल जैसे सैन्य दृष्टि से मजबूत देश में भी ऐसी ही एक योजना है.उन्होंने कहा, ‘‘अग्निपथ से लाखों युवाओं को रोजगार मिलेगा. देश में राष्ट्रवाद की भावना बढ़ेगी। इसमें चयनित युवा न सिर्फ चार साल के लिए बल्कि आगे भी अनेक प्रकार से लाभान्वित होंगे. केंद्र और राज्य सरकार की नौकरियों में उन्हें प्राथमिकता मिलेगी.’’

चौबे ने खुद को 1974 के जेपी आंदोलन का सिपाही बताया और प्रदर्शनकारी छात्रों से आग्रह किया कि वे ‘‘भड़काने वाले तत्वों के झांसे में ना आएं और राष्ट्र विकास के अभियान में अपना सहयोग दें. ज्ञात हो कि बुधवार के बाद बृहस्पतिवार को भी प्रदर्शनकारी छात्रों ने बक्सर में रेलवे की पटरियों को जाम कर दिया, जिससे रेल यातायात प्रभावित हुआ.

Related Stories

No stories found.
Crime News in Hindi: Read Latest Crime news (क्राइम न्यूज़) in India and Abroad on Crime Tak
www.crimetak.in