वो गाना तो लता मंगेशकर ने किशोर कुमार के लिए ही गाया था, 7 रोज इसलिए कमरे में बंद रहे किशोर दा

एक ऐसा गाना है जिसे लता मंगेशकर ने किशोर कुमार की मदद करने के लिए ही गाया था। और उस गाने ने अपने वक़्त में कामयाबी के सारे रिकॉर्ड भी तोड़े और किशोर कुमार को भी शोहरत के सातवें आसमान पर पहुँचा दिया था, मगर बुनियाद में थी लता मंगेशकर की आवाज़ और उनकी मेहनत। क़िस्सा बेहद दिलचस्प है।
वो गाना तो लता मंगेशकर ने किशोर कुमार के लिए ही गाया था, 7 रोज इसलिए कमरे में बंद रहे किशोर दा

लता मंगेशकर और किशोर कुमार

जितने मुंह उतनी बातें

CRIME TAK SPECIAL : फिल्म इंडस्ट्री में कई मौकों पर कई तरह की बातें भी हवा में उड़ती रहीं, जिससे कई बार शोहरत की बुलंदी पर बैठे लोगों के बारे में भी गलत धारणाएं भी बनीं। लता मंगेशकर का नाम भी ऐसी बातों से बचा नहीं रह सका।

अक्सर कहा जाता था कि लता मंगेशकर बहुत प्रोफेशनल हैं और वो किसी और के लिए कोई भी उपकार नहीं करतीं, बल्कि जब तक उन्हें खुद को फायदा न हो, तब तक वो किसी गाने को हाथ तक नहीं लगाती। लेकिन एक किस्से ने फिल्मी दुनिया में उड़ रही ऐसी कोरी बकवास को उसी कैटेगरी में ही महदूद करके रख दिया था। उससे आगे बढ़ने का कोई मौका नहीं दिया।

<div class="paragraphs"><p>लता मंगेशकर और किशोर कुमार</p></div>

लता मंगेशकर और किशोर कुमार

गाना लता मंगेशकर ने गाया तारीफ किशोर कुमार को मिली

CRIME TAK SPECIAL : ये वाक़या है 1976 का, जब किशोर कुमार की ख़ातिर लता मंगेशकर ने गाना गाया और उससे ज़बरदस्त तारीफ़ बटोरी किशोर कुमार ने। और मजे की बात ये है कि ये बात दोनों को पता थी, लेकिन दोनों ने ही कभी इसका ज़िक्र कहीं नहीं किया। अलबत्ता एक बार किशोर कुमार ने एक इंटरव्यू में लता मंगेशकर की महानता का बखान करते हुए ये किस्सा पहली बार ज़माने को सुनाया था। तब जाकर ये बात सामने आ सकी।

हुआ यूं कि उस जमाने में राजेश खन्ना अपनी कामयाबी के शिखर पर थे। उनको लेकर एक फिल्म बनी थी महबूबा। पुनर्जन्म की कहानी पर आधारित वो फिल्म बॉक्स ऑफिस पर तो ज़्यादा चली नहीं, मगर उस फ़िल्म का एक गाना आज भी कोई सुनता है तो लरज जाता है। वो गाना था मेरे नैना सावन भादों।

<div class="paragraphs"><p>महबूबा फिल्म का सीन</p></div>

महबूबा फिल्म का सीन

इसलिए किशोर के लिए मुश्किल था गाना

CRIME TAK SPECIAL : ये गाना राग रासरंजनी पर आधारित है। इस राग को संगीत की दुनिया में सबसे कठिन रागों में से एक माना जाता है। महबूबा फिल्म का संगीत दिया था आर डी बर्मन यानी पंचम दा ने। और पंचम दा चाहते थे कि इस गाने को किशोर कुमार गाएं। लेकिन दिक्कत ये हो रही थी कि किशोर कुमार रागों पर आधारित गाना गाने से अक्सर हिचकते थे क्योंकि वो जानते थे कि वो रागों के लय और ताल में उलझ सकते हैं।

मगर पंचम भी अपनी ज़िद पर थे। तब पंचम को किसी ने सलाह दी कि क्यों न ये गाना मोहम्मद रफ़ी से गवा लिया जाए क्योंकि मोहम्मद रफ़ी को ऐसे गाना गाने में महारत हासिल थी। लेकिन पंचम इस गाने को किशोर कुमार से ही गवाना चाहते थे।

ऐसे तैयार हो गईं लता मंगेशकर गाना गाने को

CRIME TAK SPECIAL : दिक्कत ये कि गाना राग पर आधारित और किशोर कुमार का रागों से बचपन का बैर। बात बनें तो कैसे बने। तब किशोर ने ही पंचम को रास्ता दिखाया। किशोर ने पंचम से कहा क्यों न ये गाना फिल्म की सिचुएशन के हिसाब से हीरोइन को भी गाना है। तो ऐसा करो पहले ये गाना लता बाई से गवा लो। फिर मैं ये गाना गा दूंगा।

पंचम को ये सुझाव पसंद आ गया। और वो लता मंगेशकर के पास गए और पूरी ईमानदारी से उन्हें पूरा क़िस्सा सुना दिया। लता मंगेशकर ने एक पल की देरी किए पंचम की सलाह मान ली और मेरे नैना सावन भादों गाना गा दिया।

किशोर दा के लिए गाकर खुश थीं लता मंगेशकर

CRIME TAK SPECIAL : पंचम वो रिकॉर्डिंग लेकर किशोर कुमार के पास पहुँचे और उन्हें रिकॉर्डिंग की एक कॉपी देकर चले गए। उसके बाद किशोर कुमार ने अगले एक हफ़्ते तक खुद को एक कमरे में बंद कर लिया और दिन रात लता मंगेशकर का गाया वो गाना सुनते रहे। और आठवें दिन किशोर कुमार धोती फटकारते हुए सीधे पंचम के पास पहुँचे और बोले चलो गाना रिकॉर्ड करते हैं।

पंचम पहले से ही तैयार बैठे थे। और फिर किशोर कुमार ने लता मंगेशकर की नकल उतारते उतारते वो गाना गाया, जिसने रिकॉर्ड बना दिया। आज भी किशोर कुमार का वो गाया गया गाना लता मंगेशकर के गाये गाने से ज़्यादा हिट माना जाता है। लेकिन बुनियाद तो लता मंगेशकर ने ही रखी। बाद में जब किशोर ने लता मंगेशकर को इस गाने के लिए धन्यवाद कहा तो लता मंगेशकर ने यहीं कहा था कि किशोर दा, ये गाना तो मैनें अपने दादा के लिए गाया था। किसी और के लिए थोड़े ही।

Related Stories

No stories found.
Crime News in Hindi: Read Latest Crime news (क्राइम न्यूज़) in India and Abroad on Crime Tak
www.crimetak.in