वो शख़्स जो रोज़ अमेरिका से फोन करके लता मंगेशकर से करता था इस गाने की फ़रमाइश

यूं तो लता मंगेशकर के गाये गीतों के दीवानों की दुनिया में कोई कमी नहीं, लेकिन एक उनकी आवाज़ और उनके गाये एक ख़ास गाने का एक ऐसा दीवाना था जिसका क़िस्सा तमाम दीवानों और उनके क़िस्सों की छुट्टी कर देगा।
वो शख़्स जो रोज़ अमेरिका से फोन करके लता मंगेशकर से करता था इस गाने की फ़रमाइश

लता मंगेशकर

विदेश से आया फोन, इंटरनेशनल कॉल पर गाना सुनने की फरमाइश

CRIME TAK SPECIAL: ऐसा कौन है जो लता मंगेशकर की महीन और मधुर आवाज़ सुने, और फिर उसका क़ायल न हो जाए। फिल्मी दुनिया की गीत और संगीत का ज़िक्र हो और लता मंगेशकर का नाम न आए, ऐसा शायद कोई कल्पना में भी नहीं सोच सकता।

उनके गाये हुए तमाम गाने अमर हो चुके हैं। उनकी आवाज़ अजर और अमर है। लता मंगेशकर और उनकी नरम दिली से जुड़ा एक ज़बरदस्त क़िस्सा ऐसा है जिसे सुनकर किसी को भी आश्चर्य हो सकता है।

एक शख्स रोज़ाना लता मंगेशकर को विदेश से फोन करता था और एक ही गाने की फरमाइश करता था। और सिर्फ फरमाइश ही नहीं करता था बल्कि लता मंगेशकर से उसे गाकर सुनाने की फरमाइश करता था।

सवाल उठता है कि आखिर वो ऐसा कौन दीवाना था जो विदेश से लता मंगेशकर को फोन करता था और वो भी इंटरनेशनल कॉल। और इससे भी बड़ा सवाल ये है कि क्या उसकी इस फरमाइश को लता मंगेशकर कोई तवज्जो देतीं थी या नहीं।

<div class="paragraphs"><p>महबूब ख़ान</p></div>

महबूब ख़ान

एक ख़ास गाना सुनने की ख़ास फ़रमाइश

CRIME TAK SPECIAL:ये वाकया है 1956 का जब शो मैन राजकपूर की फिल्म चोरी चोरी रिलीज हुई थी। उस फिल्म में एक गाना था रसिक बलमा, दिल क्यों लगाया तोसे । फिल्म में ये गाना उस दौर की सबसे मशहूर हीरोइन नर्गिस पर फ़िल्माया गया था।

लेकिन पर्दे के पीछे इस गाने को आवाज़ दी थी लता मंगेशकर ने। और फिल्म के रिलीज़ होते ही ये गाना उस वक़्त तक के सारे रिकॉर्ड तोड़कर टॉप सॉन्ग की कतार में नंबर वन बन गया था।

उन्हीं दिनों मदर इंडिया के डायरेक्टर और प्रोड्यूसर महबूब ख़ान बेहद बीमार थे और अमेरिका के लॉस एंजिलिस में अपना इलाज करवा रहे थे। हालांकि अमेरिका रवाना होने से पहले ही महबूब ख़ान भी इस गाने को सुन चुके थे।

<div class="paragraphs"><p>नरगिस&nbsp;</p></div>

नरगिस 

बीमारी में हुई गाना सुनने की तलब

CRIME TAK SPECIAL:अस्पताल के बिस्तर पर लेटे लेटे महबूब खान को अचानक इस गाने को सुनने की तलब उठी। महबूब ख़ान की तलब सिर्फ गाना सुनने की नहीं थी। बल्कि वो तो सिर्फ लता मंगेशकर के मुंह से ही इस गाने को सुनने के लिए बेताब हुए जा रहे थे।

जब उन्हें अपनी तलब मिटाने और अपनी रूह को सुकून पहुँचाने का कोई ज़रिया उन्हें नज़र नहीं आया और जब उनसे रहा नहीं गया तो एक रोज़ अमेरिका से इंटरनेशनल कॉल पर महबूब खान ने लता मंगेशकर को फोन किया।

मुंबई में अपने घर पर लता मंगेशकर ने जब फोन उठाया तो महबूब ख़ान ने उनसे कहा, मैं महबूब ख़ान बोल रहा हूं, एक गाना बस गया है मेरी रुह में, और उसे आप ही सुकून दे सकती हैं, रसिक बलमा दिल क्यों लगाया , ये गाना बार बार सुनने की तलब उठ रही है, मैं आपको तक़लीफ़ नहीं देता अगर यहां इस गाने का रिकॉर्ड मिल जाता, इसलिए मेहरबानी करके ये गाना एक बार अपनी आवाज़ में सुना दो।

पूरे 20 बार इंटरनेशनल कॉल पर सुना गाना

CRIME TAK SPECIAL:महबूब खान की बात को सुनकर लता मंगेशकर ने बिल्कुल भी ऐसा व्यवहार नहीं किया कि उन्हें उनकी इस फरमाइश से कोई ऐतराज़ हो सकता है। उन्होंने बड़ी ही शालीनता और मिश्री घुली आवाज़ में यही कहा, बिलकुल, मैं आपको ये गाना सुना दूंगी। और फिर लता मंगेशकर ने महबूब ख़ान का मान रखते हुए उसी इंटरनेशनल कॉल पर उन्हें वो गाना गाकर सुना दिया।

गाना सुनने के बाद महबूब ख़ान ने एक बार फिर कहा, मेरी एक गुज़ारिश है, अगर मैं आपको एक दो बार और ऐसी ही फ़रमाइश के साथ तक़लीफ़ दूं तो कोई ऐतराज़ तो नहीं होगा। इस पर लता मंगेशकर ने हंसते हुए कहा कि आप बेफ़िक्र होकर जब चाहें तब मुझे फोन कर सकते हैं और अपनी फरमाइश बता सकते हैं। मैं अपनी पूरी कोशिश करके आपकी उस फरमाइश का मान रखने की कोशिश करूंगी।

उसके बाद महबूब ख़ान ने एक दो बार नहीं बल्कि पूरे 20 बार लता मंगेशकर को फोन किया और हर बार यही एक गीत रसिक बलमा दिल क्यों लगाया तोसे, सुनने की फरमाइश की। और चौंकाने वाला दिलचस्प पहलू ये है कि लता मंगेशकर ने हर बार महबूब ख़ान को यही गाना गाकर सुनाया।

Related Stories

No stories found.
Crime News in Hindi: Read Latest Crime news (क्राइम न्यूज़) in India and Abroad on Crime Tak
www.crimetak.in