UP Crime: फर्जी दस्तावेजों पर मरे हुए लोगों की जमीनें बेचने वाला गैंग, महिला समेत तीन गिरफ्तार

Noida News: फर्जी दस्तावेजों पर मरे हुए लोगों की जमीनें बेचने का फर्जीवाड़े करने वाले गैंग का भंडाफोड़, महिला समेत तीन गिरफ्तार
UP Crime: फर्जी दस्तावेजों पर मरे हुए लोगों की जमीनें बेचने वाला गैंग, महिला समेत तीन गिरफ्तार

Noida Crime News: नोएडा के थाना जेवर पुलिस ने फर्जी (Fake) दस्तावेज तैयार कर जमीन का फर्जी तरीके से बैनामा तैयार करने वाले गिरोह का भांडा फोड़ करते हुए महिला सहित 03 आरोपियों को गिरफ्तार (Arrested) किया है। पुलिस ने इनके कब्जे से फर्जी आधार कार्ड, पैन कार्ड व पीड़िता के खेत की फोटो कॉपी और खतौनी बरामद की है।

नोएडा की जेवर पुलिस ने एक ऐसे गिरोह की खुलासा किया है जो कि ऐसे व्यक्तियो की जमीन जायदाद जो कही बाहर रहते है या उनकी मृत्यु हो गयी हो। उनकी जमीन व प्रोपर्टी का पता लगा किया करते थे। जिसके बाद प्रोपर्टी की फर्जी खतौनी तैयार कर मालिक की फर्जी आई.डी बनाते थे।

दस्तावेजों पर किसी अन्य व्यक्ति का फोटों लगाकर प्रपर्टी को फर्जी तरीके से बेच दिया करते थे। नोएडा पुलिस ने इस गैंग के सरगना प्रहलाद, अतर सिंह और पिंकी को गिरफ्तार किया है। आरोपियों को खुर्जा अण्डरपास से गिरफ्तार किया गया है। आरोपियों के कब्जे से बड़ी तादाद में फर्जी आधार कार्ड, पैन कार्ड व वादिया वीरवती के खेत की फोटो कॉपी खतौनी बरामद की गई है।

इस गैंग के सरगना अतर सिंह ने बताया कि वो हत्या के एक मामले में जिला कारागार, गाजियाबाद में बंद था। तभी उसकी मुलाकात गैंग्सटर अमित उर्फ शोभा उर्फ जे.पी से हुई थी। दोनो में दोस्ती हो गयी और जेल से बाहर आकर ये धोखाधडी जैसे कृत्यो में संलिप्त हो गये। अतर सिंह के जरिए अमित उर्फ शोभा की मुलाकात पिंकी से हुई। गैंग का साथी प्रहलाद सिंह जो प्रोपर्टी डीलिंग का काम करता था।

इन चारों लोगों ने आपस से षडयन्त्र कर नोएडा की रहने वाली वीरवती जिनकी 14 बीघा जमीन जो ग्राम बंकापुर में थी उनका फर्जी आधार कार्ड बनवाकर उनकी जमीन को बेचने की फिराक में थे। ये आरोपी फर्जी दस्तावेज के जरिए नोएडा से बाहर रह रहे कई लोगों को ज़मीने बेच चुके हैं। कई ऐसे लोंगो की जमीनें भी बेच दी गईं जो मर चुके हैं। इसके जरिए इस गैंग ने करोड़ो रुपए कमाए हैं। इन लोगों वने किस-किस की जमीनें बेची हैं उसकी जानकारी ली जा रही है।

Related Stories

No stories found.
Crime News in Hindi: Read Latest Crime news (क्राइम न्यूज़) in India and Abroad on Crime Tak
www.crimetak.in